Kanpur News In Hindi: युवाओं की टोली ने पकड़ा खतरनाक मगरमच्छ ! उनकी इस बहादुरी से वन विभाग भी है हैरान

कानपुर मगरमच्छ

कानपुर में बीते दो दिनों से गंगा घाटों (Ganga Ghats) में नहाने वाले लोगों को रोजाना खतरनाक जलीय जीव मगरमच्छ (Crocodile) दिखाई दे रहा था. जिससे शहर भर में काफी दहशत फैली हुई थी दहशत की वजह से लोग गंगा के आसपास नहीं जा रहे थे, जबकि मगरमच्छ से जुड़े कई वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हो रहे थे. वहीं आज एक घाट से मगरमच्छ को कुछ युवाओं की टोली ने पकड़ा, फिर उस मगरमच्छ को मन्दिर प्रांगण में लाकर उसकी पूजा की गई बाद में वन विभाग की टीम अपने साथ ले गयी.

Kanpur News In Hindi: युवाओं की टोली ने पकड़ा खतरनाक मगरमच्छ ! उनकी इस बहादुरी से वन विभाग भी है हैरान
कानपुर में विशालकाय मगरमच्छ को पकड़ा

युवाओ ने पकड़ा खतरनाक जलीय जीव

दो दिनों बाद गंगा किनारे रहने वाले युवाओं ने अपनी बुद्धिमत्ता और बहादुरी का परिचय देते हुए इस विशालकाय मगरमच्छ (Giant Crocodile) को धर दबोचा और फिर उसे बांधकर एक मंदिर प्रांगण में लाकर डाल दिया वही जब मगरमच्छ पकड़े जाने की सूचना आसपास के इलाकों में फैली तो इस बेहद खतरनाक जलीय प्राणी को देखने के लिए आसपास की भीड़ भी मौके पर पहुंच गई. हालांकि मगरमच्छ पकड़े जाने की सूचना वन विभाग को दे दी गई थी.

इस मगरमच्छ की कहानी तीन दिन पहले कानपुर के गंगा बैराज के रानी घाट से शुरू होती है जहां पर इसे सैकड़ो लोगों ने देखा और अपने मोबाइल पर वीडियो के जरिए कैद भी किया अगले दिन यानी मंगलवार को एक बार फिर यह मगरमच्छ गंगा बैराज से कुछ दूरी पर स्थित शहर के बीचों बीच भैरव घाट के पास भी देखा गया वहां पर भी चहल-पहल होने के चलते सैकड़ो लोगों ने एक मगरमच्छ को एक बार फिर से देखा अब लोगों में इस मगरमच्छ को लेकर काफी दहशत फैल गई आलम तो ऐसा रहा कि लोगों ने घर के आसपास जाना ही बंद कर दिया बल्कि रोजाना गंगा स्नान करने वाले लोग ही दूसरों को गंगा किनारे जाने से मना करने लगे.

दोपहर के समय पशु को बना रहा था अपना शिकार

आज दोपहर जब घाट किनारे रेत पर मल्लाह निषाद समाज के लड़के क्रिकेट खेल रहे थे, तभी उन्होंने दूर से देखा कि मगरमच्छ एक कुत्ते को अपना शिकार बना रहा है दरअसल वह मगरमच्छ काफी भूखा था इसलिए उसने कुत्ते को अपने मुंह में दबोच कर पानी में घसीट रहा था कि तभी क्रिकेट खेल रहे लोगों ने अपनी बहादुरी और बुद्धिमत्ता का परिचय देते हुए उसे मगरमच्छ को रस्सी डालकर पकड़ लिया इसके बाद उसे मगरमच्छ को लाकर मंदिर में रख दिया मगरमच्छ पकड़े जाने की सूचना के बाद मंदिर में इलाकाई लोगों की भीड़ जुट गई. मगरमच्छ की तस्वीर लोग अपने मोबाइल पर कैद करने लगे.

माँ गंगा का आशीर्वाद मान कर लोगो ने की मगरमच्छ की पूजा

मगरमच्छ को बांधकर मन्दिर प्रांगण में ले आये. मौजूद लोगों ने जय श्री राम के नारे लगाते हुए इस मगरमच्छ की पूजा करने लगे, क्योंकि शास्त्रों में ऐसा बताया गया है कि मां लक्ष्मी की सवारी मगरमच्छ है इतने दिनों से दिखने के बावजूद उसने किसी को नुकसान नहीं पहुंचाया यह भगवान का चमत्कार है. ऐसे में वहां मौजूद लोग उस मगरमच्छ की पूजा अर्चना करने लगे, उसे छूकर आशीर्वाद लेने लगे. उनका ऐसा कहना है कि यह मां गंगा का ही आशीर्वाद है कि इतना खतरनाक जानवर होने के बावजूद उसने किसी को नुकसान नहीं पहुंचाया है फिलहाल करीब 2 घंटे के बाद पहुंची वन विभाग की टीम ने मगरमच्छ को कब्जे में लेकर चिड़ियाघर भेज दिया है.

Read More: Kanpur Ram Tattoo News: मुस्लिम टैटू आर्टिस्ट ने 51 हजार हाथों में निःशुल्क "जय श्री राम" नाम का टैटू बनाने का लिया संकल्प

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Latest News

UP Board Exam Paper Leak: 12 वीं पेपर लीक मामले में बोर्ड की बड़ी कार्रवाई ! स्कूल की मान्यता निरस्त, 2 गिरफ्तार,1 की तलाश जारी UP Board Exam Paper Leak: 12 वीं पेपर लीक मामले में बोर्ड की बड़ी कार्रवाई ! स्कूल की मान्यता निरस्त, 2 गिरफ्तार,1 की तलाश जारी
पेपर लीक का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है. अब यूपी बोर्ड परीक्षा में पेपर लीक का मामला...
Anant Ambani-Radhika Pre Wedding: अनन्त अम्बानी-राधिका की प्री वेडिंग सेरेमनी में दुनिया भर से दिग्गजों का आना हुआ शुरू ! जानिए कौन-कौन हस्तियां हो रही इस भव्य समारोह में शामिल
Banshidhar Tobacco Company IT Raid: तम्बाकू कम्पनी के कानपुर समेत कई ठिकानों पर IT की रेड ! दिल्ली-गुजरात में भी छापेमारी, क्या-क्या मिला?
Mahashivratri Kab Hai 2024: कब हैं 'महाशिवरात्रि' का महापर्व? क्या है इसके पीछे की कहानी, जानिए पौराणिक महत्व
March Muhurat 2024: विवाह-गृह प्रवेश व मुंडन संस्कार के जान लीजिए मार्च माह के शुभ मुहूर्त और तिथि
Fatehpur Sadar Asptal: मैं मना करती रही और वो हथौड़ी चलाता रहा ! डॉक्टर की करतूत बताते हुए भावुक हो गई सिस्टर इनचार्ज
Cardiac Arrest Treatment: कार्डियक अरेस्ट आने पर नहीं मिलता है जान बचाने का मौका ! इसलिए हो जाइए सचेत

Follow Us