×
विज्ञापन

फतेहपुर:भदसरी ग्राम पंचायत में विकास कार्यों की जांच के लिए डीएम ने गठित की कमेटी..बढ़ सकती हैं मुश्किलें..!

विज्ञापन

भिटौरा विकास खण्ड के भदसरी ग्राम में हुए विकास कार्यों की जांच के लिए डीएम आञ्जनेय कुमार सिंह ने पांच सदस्यीय कमेटी गठित कर दी है जो दो दिन में अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी..क्या है पूरा मामला पढ़े युगान्तर प्रवाह की एक रिपोर्ट..

फ़तेहपुर: जिलाधिकारी आञ्जनेय कुमार सिंह द्वारा गाँव गाँव किए जा रहे औचक निरीक्षण से ग्राम पंचायत स्तर पर तैनात कर्मचारियों के साथ साथ ग्राम प्रधानों की भी मुश्किलें बढ़ी हुई हैं।

बीते नौ जनवरी को भिटौरा ब्लाक के भदसरी ग्राम का औचक निरीक्षण करने पहुंचे जिलाधिकारी ने ग्राम पंचायत में पिछले तीन सालों में कराए गए विकास कार्यों को देखा जिसमें उनको खामियां ही खामियां नजर आईं।गाँव मे व्याप्त गंदगी औऱ अवैध कब्ज़े को देखकर जिलाधिकारी ने तत्काल प्रभाव से कानूनगो,लेखपाल को निलंबित कर दिया था तथा पंचायत सचिव से स्पष्टीकरण मांगते हुए ग्राम प्रधान के ऊपर भी जांच के आदेश दिए थे।जिसके बाद भिटौरा ब्लाक के पूर्व प्रमुख राजेन्द्र शुक्ला ने प्रेस वार्ता के माध्यम से डीएम के ऊपर आरोप लगाते हुए कहा था कि जिलाधिकारी द्वारा जातीय संक्रियता व विरोधियों से मिलकर ग्राम पंचायत भदसरी में कार्यवाही की गई है औऱ उनकी सामाजिक प्रतिष्ठा को धूमिल करने का प्रयास किया गया है जो कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

आपकों बता दे कि राजेन्द्र शुक्ला की माँ भदसरी ग्राम पंचायत की प्रधान हैं। इसी बीच शुक्रवार को जिलाधिकारी आञ्जनेय कुमार सिंह ने भदसरी ग्राम पंचायत में पिछले तीन वर्षों में कराए गए विकास कार्यों की जांच के लिए पांच सदस्यीय कमेटी का गठन कर दिया है कमेटी में जिला विकास अधिकारी,उपायुक्त स्व रोजगार,सहायक अभियंता निर्माण खण्ड-2लोक निर्माण विभाग,जिला समन्वयक सामाजिक अंकेक्षण व नेहरू युवा संगठन टीसी जो दिनों के अंदर अपनी जांच रिपोर्ट डीएम को सौपेंगी।


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।