oak public school

Jhansi Wedding News: घर से संपन्न होने के बावजूद नई नवेली दुल्हन को बैलगाड़ी पर विदा कर ले जा रहा दूल्हा ! कारण जानकर हैरान रह जाएंगे आप

Jhansi News In Hindi

वर्तमान में बेहद सम्पन्न परिवार में अक्सर दूल्हा लग्जरी कार से बारात लेकर तो कभी हेलीकॉप्टर से नई नवेली दुल्हन को विदा कर ले जाते हुए दिखाई देते है लेकिन यूपी के झांसी में एक अनोखा मामला देखने को मिला जहां पर दूल्हा अपनी दुल्हन को विदा कर लाने के लिए बैलगाड़ी लेकर पहुँच गया जिसे देखकर सभी हैरान रह गए. वहीं यह अनोखी शादी चर्चा का विषय बन गयी है.

Jhansi Wedding News: घर से संपन्न होने के बावजूद नई नवेली दुल्हन को बैलगाड़ी पर विदा कर ले जा रहा दूल्हा ! कारण जानकर हैरान रह जाएंगे आप
बैलगाड़ी से दूल्हा बारात लेकर पहुँचा, Image credit original source

दुल्हन की अनोखी विदाई बनी चर्चा का विषय

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के झांसी (Jhansi) में एक दुल्हन की अनोखी विदाई का वीडियो सोशल मीडिया पर बहुत तेजी से वायरल हो रहा है. दरअसल वीडियो में साफ तौर पर दिखाई दे रहा है कि दूल्हा अपनी दुल्हन को विदा करने के लिए कोई लग्जरी कार या हेलीकॉप्टर नहीं बल्कि बैलगाड़ी (Bailgadi Shadi) पर सवार होकर ले जा रहा है यही नहीं उसके पीछे और भी बाराती बैलगाड़ी पर सवार होकर चल रहे थे इसके साथ ही बॉलीवुड फिल्म नदिया के पार का लोकप्रिय गीत कौन दिशा में लेकर चला रहे बटोहिया गाने की याद ताजा हो गयी. जानकारी के मुताबिक यह परिवार पैसे से संपन्न होने के बावजूद दुल्हन की ऐसी अनोखी विदाई देखने के लिए लोगों का जन सैलाब उमड़ पड़ा जिन्होंने भी यह दृश्य देखा वह देखकर भौचक्के रह गए कुछ लोगों ने तो यह भी कहा कि यह नजारा देखकर पुरानी यादें भी ताजा हो गई फूल मालाओं से सजी बैलगाड़ीयां देखने में काफी आकर्षक लग रही थी.

jhansi_unique_wedding_news
अनोखी शादी, झांसी, image credit original source

पुराने गानों पर थिरकते हुए बैलगाड़ी से हुई दुल्हन की विदाई

जानकारी के मुताबिक दुल्हन की अनोखी विदाई का मामला झांसी के सीपरी बाजार अंतर्गत लहर गांव का है जहां के भूतपूर्व ब्लॉक प्रमुख पंजाब सिंह यादव के भतीजे रणवीर का विवाह चिरगांव की रहने वाली चाहत के साथ हुआ था. अगले दिन जब सुबह बारात दुल्हन को लेकर विदा हुई तो बारातियों को गाड़ियों की बजाय बैलगाड़ियों पर सवार होकर जाते हुए देखा गया.

फूल मालाओं से सजी बैलगाड़ियों में दूल्हे समेत सभी बाराती बैठे हुए थे और पीछे से फिल्म नदिया के पार और पुराने जमाने के गाने भी बज रहे थे जिसे लोग बड़े ही गौर से देख रहे थे लोगों का कहना था कि यह दृश्य देखकर उन्हें भी फिल्म नदिया के पार की याद आ गई क्योंकि उसमें भी कुछ इसी तरह के दृश्य दिखाए गए थे जिसमें दूल्हा अपनी दुल्हन को इसी तरह से बैलगाड़ी पर विदा कर कर लाया था.

विदाई के जरिये दिया गौसेवा का संदेश

वहीं जब बैलगाड़ी लेकर जा रहे बारातियों से इसका कारण पूछा गया तो उन्होंने बताया कि बैलगाड़ी हमारी परंपरा है हेलीकॉप्टर या कार विदाई करवाना केवल एक दिखावा है बल्कि इस विदाई का मुख्य उद्देश्य गौ सेवा के लिए समाज को एक मैसेज देना था क्योंकि हिंदू धर्म में गौ माता को सर्वोच्च स्थान दिया गया है बावजूद इसके हमारी लापरवाही के चलते यह गौ माता इधर-उधर घूम रही है इसी के चलते हमने उन्हें बचाने के लिए इस विदाई के जरिए लोगों को एक संदेश पहुंचाया है की गौ माता की सेवा करें और उन्हें इस तरह से सड़कों पर लावारिस ना छोड़े क्योंकि हमारे हिंदू धर्म में गौ माता पूजनीय है.

Read More: Madarsa Kya Hota Hai: मदरसा क्या है? इनमें क्या पढ़ाया जाता है, मदरसों पर हाईकोर्ट के फैसले पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

वधु पक्ष ने दिया तर्क

उधर वधू पक्ष की ओर से बताया गया कि हमारे देश की 90% आबादी आज भी खेती और किसान पर ही निर्भर है लेकिन बदलते जमाने के साथ-साथ आजकल के लोग हमारी इस पुरानी परंपरा को भूलते जा रहे हैं ऐसे में बैलगाड़ी के जरिए विदाई करने का एक उद्देश्य यह भी है कि हमारे आने वाली पीढ़ी और वर्तमान के युवा हमारी परंपराओं को ना भूले हमने अपनी बेटी जितनी सादगी से विदा कराया है हम चाहते हैं कि जिस तरह से हम जमीन से जुड़े हुए लोग हैं इस तरह से हमारे बच्चे भी उसे परंपरा को निभाएं उनके ऐसा करने से जो आने वाली पीढ़ी है वह भी उनसे सीख लेते हुए जरूर इन परम्पराओ को जरूर निभाएंगे.

Read More: Kanpur Dehat News: पारिवारिक कलह के चलते 7 महीने के बच्चे की माँ ने उठाया खौफ़नाक कदम ! जिसे सुनकर सभी की आंखे हुई नम

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Latest News

Fatehpur Shikha Tripathi: फतेहपुर के नलकूप ऑपरेटर की बेटी शिखा त्रिपाठी बनी वैज्ञानिक ! गरीबी नहीं रोक पाई हौसले की उड़ान Fatehpur Shikha Tripathi: फतेहपुर के नलकूप ऑपरेटर की बेटी शिखा त्रिपाठी बनी वैज्ञानिक ! गरीबी नहीं रोक पाई हौसले की उड़ान
उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के फतेहपुर (Fatehpur) अमौली विकास खंड के कुलखेड़ा गांव की रहने वाली शिखा त्रिपाठी ने रक्षा...
Kanpur Crime In Hindi: लग्जरी होटल के कमरे में चल रहा था सट्टे का बड़ा खेल ! विदेश से कौन कर रहा था इन्हें फंडिंग, पुलिस ने भंडाफोड़ करते हुए 3 को किया गिरफ्तार
Lsd 2 Trailer Released: बोल्डनेस के तड़के के साथ लव, सेक्स और धोखा 2 का ट्रेलर हुआ रिलीज ! पहली बार ट्रांसजेंडर मुख्य भूमिका में आएंगी नजर
Vishu Kya Hota Hai: विशु क्या होता है ? मलयाली इसे नववर्ष के रूप में क्यों मनाते हैं, श्री कृष्ण से जुड़ी है आस्था
Haryana Crime In Hindi: ठेके के सेल्समैन से उधार मांग रहा था शराब ! फिर छिड़ा विवाद, सेल्समैन के साथी ने मार दी गोली
Mirzapur Vindhyavasini Temple: क्या है मां विंध्यवासिनी मंदिर और अष्टभुजा कालीखोह मन्दिर का इतिहास ! जानिए पौराणिक मान्यताओं के पीछे की कहानी
Fatehpur AI Voice call Scam: मैं तुम्हारा जीजा बोल रहा हूं ! 16 हज़ार भेज दो, जानिए ठगी का नया तरीका

Follow Us