Kanpur Crime : पेमेंट गेटवे में छेड़छाड़ कर शातिरों ने KESCo को लगा दिया चूना, पुलिस ने 6 को किया गिरफ्तार

कानपुर में बिजली आपूर्ति कम्पनी में बीते दिनों हुए 1.68 करोड़ रुपये के घोटाले मामले में कानपुर पुलिस कमिश्नरेट की क्राइम ब्रांच ने साइबर सेल टीम की मदद से अन्य जिलों से 6 शातिरों को गिरफ्तार कर लिया है.ये शातिर उपभोक्ताओं द्वारा केस्को को जमा किये जा रहे ऑनलाइन बिल की रकम को पेमेंट गेटवे के यूआरएल में बदलाव कर अपने खातों में ट्रांसफर कर लेते थे.पुलिस ने इनके पास से करीब 90 लाख रुपये की बरामदगी भी की है.

Kanpur Crime : पेमेंट गेटवे में छेड़छाड़ कर शातिरों ने KESCo को लगा दिया चूना, पुलिस ने 6 को किया गिरफ्तार
पेमेन्ट गेटवे में छेड़छाड़ कर लगा रहे थे केस्को को चूना, धरे गए

हाईलाइट्स

  • कानपुर केस्को घोटाले में कानपुर कमिश्नरेट पुलिस को मिली सफलता
  • पेमंट गेटवे में छेड़छाड़ कर केस्को को लगाया 1.68 करोड़ का चूना, क्राइम ब्रांच और साइबर सेल की टीम ने 6
  • शातिरों के पास से 90 लाख रुपये बरामद ,कई खातों में करते थे रकम ट्रांसफर, हैकर और इंजीनियर की ली मदद

tampering with URL of payment gateway : आजकल सब कुछ डिजिटल है लेनदेन भी डिजिटल हो गया है.ज्यादातर डिजिटल ट्रांजेक्शन से आएदिन ठगी के मामले काफी आते रहते हैं.कुछ तो सीधे बड़ी कम्पनियों को ही चूना लगा रहे है.कानपुर में बिजली कम्पनी के उपभोक्ताओं से किस तरह से शातिर अन्य जनपदों से ठगी का खेल खेल रहे थे.

किस तरह से गेटवे के यूआरएल में बदलाव कर उपभोक्ताओं की जमा की हुई रकम को अपने खातों में ट्रांसफर कर रहे थे.जब क्राइम ब्रांच की साइबर सेल की टीम ने जांच शुरू की तब परत दर परत खुलती चली गई.

 

केस्को का 1.68 करोड़ रुपये का शातिरों ने लगाया था चूना

Read More: Road Accident In Kanpur: कानपुर में दर्दनाक सड़क हादसा ! तेज रफ़्तार अनियंत्रित ट्रक ने स्कूली बच्चों से भरी वैन को मारी टक्कर, एक बच्चे की मौत, आधा दर्जन गम्भीर रूप से घायल

दरअसल बीते दिनों कानपुर बिजली कम्पनी केस्को द्वारा ग्वालटोली थाने में शिकायत दर्ज कराई थी. कि 18 जून से लेकर 16 जुलाई तक की उपभोक्ताओं की रकम जो करीब 1.68 करोड रुपए है वह उन तक नहीं पहुंचा है. इससे पहले भी उन्होंने मिलान किया था तो जानकारी हुई कि रकम दुसरे खातों में ट्रांसफर हो रही थी.जिस पर उन्होंने आइसीआइसीआइ बैंक पर मुकदमा दर्ज कराया है.क्योंकि बैंक ही केस्को को पैसा भेजती है. इस मामले में पुलिस के निर्देश पर क्राइम ब्रांच की चार टीमों को लगाया गया और अलग-अलग जनपदों में इन्हें भेजा गया. आखिर यह रकम कहां जा रही है. जिसकी जांच शुरू की गई.

Read More: Kanpur News In Hindi: कानपुर में एंटीकरप्शन के हत्थे चढ़ा करोड़पति सिपाही ! संपत्ति देख उड़ गए सभी के होश

पेमेंट गेटवे में करते थे छेड़छाड़ उपभोक्ताओं की जमा हुई रकम को अपने खातों में कर रहे थे ट्रांसफर

Read More: Ayodhya Ram Lala Darshan: रामलला के दर्शन करने के लिए अयोध्या पहुंची समस्त विधायकों की टोली ! सीएम भी रहे मौजूद, सपा ने बनाई दूरी

दरअसल उपभोक्ता तो ऑनलाइन अपना बिल आईसीआईसीआई बैंक के गेटवे पर भेज रहे थे,जिसके बाद बैंक यह रकम केस्को को भेजता है.उपभोक्ताओं को क्या पता कि उनका पैसा किसी और खाते में जा रहा है. जब केस्को के पास भुगतान नही पहुंचा तब शिकायत दर्ज कराई. क्राइम ब्रांच की साइबर सेल टीम को सर्विलांस की मदद से जानकारी मिली,कि कुछ खातों में यह रकम जा रही है.

जब उन खातों के खाताधारक की जानकारी की गई तो परत दर परत खुलती चली गई.पुलिस की टीमों को इनपुट बागपत मिला.यहां टीमो ने बागपत जिले पहुंचकर कार्रवाई शुरू की.जांच में यह बात सामने आई कि हैकर की मदद से यह शातिर पेमेंट गेटवे में छेड़छाड़ कर अपने खातों में पैसा ट्रांसफर कर लेते थे.

इस खेल में बिजली ठेकेदार भी था शामिल

बागपत जिले के बड़ौत स्थित आईसीआईसीआई बैंक शाखा में जानकारी जुटाई गई.यहां केस्को इलेक्ट्रॉनिक्स के नाम से करंट अकाउंट मिला. जो योगेन्द्र के नाम पर था जो बागपत का रहने वाला है.जानकारी हुई कि इसी खाते से रकम का ट्रांजैक्शन हो रहा था.अकाउंट होल्डर को पुलिस ने तत्काल गिरफ्तार किया. जिसके बाद उसकी निशानदेही पर अन्य साथियों को भी पुलिस ने दबोच लिया. पूछताछ में योगेंद्र ने बताया कि बिजली विभाग के ठेकेदार विवेक शर्मा भी इसमें शामिल है. उसने भी बागपत में कई लोगों के अकाउंट खुलवाए थे.

मास्टरमाइंड की तलाश जारी

पुलिस कमिश्नर बीपी जोगदंड ने बताया कि हमारी क्राइम ब्रांच और साइबर सेल की टीम ने 6 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है.अन्य लोगों की तलाश की जा रही है. इसका मास्टरमाइंड रांची में बताया जा रहा है. वहां भी एक टीम भेज दी गई है. यह लोग पेमेंट गेटवे जो बैंक के गेटवेज होते हैं, उसमें यह लोग छेड़छाड़ करते थे और यह रकम केस्को तक ना पहुंच कर उनके खातों में ट्रांसफर हो रही थी.

फिलहाल इन सभी के पास से 90 लाख रुपये बरामद किए गए है.इन पर कार्रवाई की जा रही है.पकड़े गए अभियुक्त सुहैल जो दिल्ली में रहता है विवेक शर्मा , अनिल, करण, योगेंद्र और शक्ति ये सभी बागपत के रहने वाले है.इन्हें जेल भेजा जा रहा है.

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Latest News

Pm Surya Ghar Muft Bijali Yojana 2024: 300 यूनिट बिजली मिलेगी मुफ्त ! छत पर सोलर पैनल इंस्टाल होने के बाद मिलेगी सब्सिडी, जानिए क्या है पीएम सूर्य घर स्कीम? Pm Surya Ghar Muft Bijali Yojana 2024: 300 यूनिट बिजली मिलेगी मुफ्त ! छत पर सोलर पैनल इंस्टाल होने के बाद मिलेगी सब्सिडी, जानिए क्या है पीएम सूर्य घर स्कीम?
पीएम सूर्य घर मुफ्त बिजली योजना (Pm Surya Ghar Scheme) के अंतर्गत देशवासियों को मुफ्त बिजली (Free Bijli) दी जा...
Fatehpur News: फतेहपुर में यूपी बोर्ड की मेरिट लिस्ट के लिए अंतर्द्वंद ! सीटिंग प्लान से लेकर कॉपियों में पैसे रखने का बड़ा खेल
Dacoit Seema Parihar: 13 साल की उम्र में चंबल-बीहड़ के ख़तरनाक डाकुओं के चंगुल में आई सीमा परिहार ! कैसे बनी दस्यु सुंदरी? हाथों में चूड़ियों के बजाय पहन लिए हथियार, 30 साल पुराने मामले में हुई सजा
Jaya Kishori: महिला सशक्तिकरण के कार्यक्रम में पहुँची कथावाचक जया किशोरी के साथ बदसलूकी ! सिरफिरा गिरफ्तार
Fatehpur UP Board News: फतेहपुर में टॉपर देने वाले विद्यालय में फर्जी कक्ष निरीक्षक ! डीआईओएस को नोटिस, दर्ज होगी एफआईआर
Mau Murder News: सात जन्मों का साथ निभाने के लिए 4 दिन पहले लिए थे फेरे ! शादी के पांचवे दिन हुआ कुछ ऐसा, कांप उठेगी रूह
Amin Sayani Passes Away: रेडियो पर जादुई आवाज से दीवाना बनाने वाले अनाऊन्सर 'अमीन सयानी' का निधन ! इस जादुई आवाज को सुनने के लिए सड़कों पर पसर जाता था सन्नाटा

Follow Us