×
विज्ञापन

Fatehpur News:हत्या के बाद एफआईआर दर्ज न करने पर हंगामा..पुलिस के रोके जाने पर परिजनों ने किया रोड जाम।

विज्ञापन

फ़तेहपुर(Fatehpur News) में जेसीबी चालक (हेल्फ़र)की मौत के बाद पुलिस द्वारा एफआईआर दर्ज न करने पर परिजन शव को लेकर एसपी के पास जा रहे थे कि तभी राधानगर चौकी के पास पुलिस द्वारा रोके जाने पर परिजनों ने रोड जाम कर हंगामा शुरू कर दिया पढ़ें युगान्तर प्रवाह की एक रिपोर्ट...

फ़तेहपुर(Fatehpur News):ललौली थाना क्षेत्र के सुजानपुर गांव में शनिवार रात जेसीबी चालक(JCB Driver Helper Murder) की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के बाद क्षेत्रीय पुलिस द्वारा मामले में एफआईआर दर्ज न करने पर परिजनों ने जमकर हंगामा काटा और शव को ट्रैक्टर से लेकर एसपी के पास जाने लगे। राधानगर चौकी पर पुलिस द्वारा उन्हें रोके जाने पर परिजनों ने जमकर हंगामा किया और रोड जाम कर दी।जानकारी के अनुसार पुलिस ने मृतक के भाई के साथ मारपीट भी की थी।

ये भी पढ़ें- UP Panchayat Chunav 2021: बसपा के पूर्व मंत्री ने लगाया भाजपा कार्यकर्ता पर मारपीट का आरोप कहा नहीं होगा निष्पक्ष चुनाव।

विज्ञापन
विज्ञापन

गाजीपुर कस्बा निवासी राकेश रैदास 4 अप्रैल को चालक अरबाज के साथ मिट्टी खोदाई के लिए ललौली थाने के सुजानपुर ईंट भट्ठे गया था जहां उसकी मौत हो गई।आपको बतादें कि राकेश उर्फ रजउवा जेसीबी चालक के साथ साथ हेल्पर भी थी। ललौली पुलिस द्वारा मामले में एफआईआर दर्ज न करने पर परिजन शव को लेकर एसपी के पास जा रहे थे सदर कोतवाली क्षेत्र की राधानगर चौकी चौराहे पर पुलिस द्वारा मृतक के परिजनों को रोक दिया गया।पुलिस द्वारा रोके जाने से नाराज़ ग्रामीणों ने रोड जामकर जमकर हंगामा काटा।

एसपी ने दो थानाध्यक्षों प रबैठाई जांच।

सुजानपुर में राकेश की मौत के बाद परिजनों द्वारा किए गए हंगामे के बाद एसपी सतपाल अंतिल ने इस पूरे मामले में गाजीपुर एसओ और ललौली एसओ के ऊपर जांच बैठा दी है और जांच जाफरगंज सीओ दिनेश चंद्र मिश्रा को सौंप दी है। एसपी ने कहा कि आख़िर इस मामले में एफआईआर क्यों नहीं लिखी गई।

देर शाम ललौली थाने में लिखी गई एफआईआर।

ईंट भट्ठे में हुई राकेश की मौत के मामले में सोमवार की देर शाम पिता महेश रैदास की तहरीर पर बुलडोजर मालिक फिरदौस, चालक अरबाज़ निवासी ललौली व पप्पू निवासी गाजीपुर पर साजिशन हत्या करने और अन्य धाराओं में मामला दर्ज कर लिया गया है।


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।