×
विज्ञापन

डीएम आञ्जनेय कुमार सिंह जब किसान बनकर पहुँच गए मंडी.!

विज्ञापन

रामपुर के जिलाधिकारी आञ्जनेय कुमार सिंह के काम करने तरीका ही उन्हें अन्य जिलाधिकारियों से भिन्न करता है..एक बार फ़िर आञ्जनेय कुमार सिंह सुर्खियों में है..पढ़ें पूरी खबर युगान्तर प्रवाह पर..

रामपुर:रामपुर के डीएम आञ्जनेय कुमार सिंह अपने कामों के चलते जनता के बीच काफ़ी लोकप्रिय हैं उनकी लोकप्रियता के चर्चे ज़िले में ही नहीं पूरे प्रदेश में होते रहतें हैं।रामपुर से पहले फतेहपुर में भी बतौर जिलाधिकारी रहे आञ्जनेय कुमार सिंह को अब तक उनके कामों की वजह से फतेहपुर की जनता याद करती है।

ये भी पढ़ें-UP:पुलिस कांस्टेबल की युवती ने सरेराह चप्पलों से की पिटाई..वीडियो हुआ वायरल.!

एक बार फ़िर रामपुर डीएम चर्चा में है।इस बार उनकी चर्चा उनके एक औचक निरीक्षण को लेकर हो रही है।दरअसल बीते दिन आञ्जनेय सिंह ज़िले में हो रही सरकारी धान खरीद का हाल जानने बिलासपुर मंडी के सरकारी धान क्रय केंद्र में किसान बनकर पहुँचे।Dm anjaney kumar singh

प्राइवेट गाड़ी से बेहद साधारण वेशभूषा में चेहरे में गमछा बाँधे हुए डीएम जब क्रय केंद्र पहुँचे तो वहां मौजूद कर्मचारी और किसान उन्हें पहचान नहीं पाए।उन्होंने धान खरीद का हाल जाना।किसानों से बात की।ias anjaney kumar singh

जिलाधिकारी किसान की तरह मंडी में घूमते नजर आये।किसानों ने उनसे अपने दिल की बात शेयर की।उसके बाद जिलाधिकारी ने अपने रूप में आकर धान क्रय केंद्र के कर्मचारियों की फटकार लगाई और दो क्रय केंद्र पर कार्रवाई के भी आदेश दिए।इस दौरान जैसे ही जिलाधिकारी के छापे की सूचना मिली मंडी में हड़कंप मच गया।Dm Rampur news

डीएम ने कहा लोगों की शिकायतों का सच जानना था तो उसके लिए जांच करना जरूरी था।डीएम ने कहा अगर मैं किसान बनकर नहीं जाता तो ना कोई मुझसे बात करता ना कोई मुझसे सौदा करता। यह समझना जरूरी था किस तरह से किसानों को ठगा जा रहा है।


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।