जेल में चिदंबरम-काम न आई वकीलों की फ़ौज..तिहाड़ पहुंचे पूर्व गृह मंत्री!

मनी लांड्रिंग के केस में सीबीआई द्वारा गिरफ्तार किए गए पी.चितम्बरम को आख़िरकार गुरुवार रात तिहाड़ जेल भेज दिया गया..पढ़े पूरी खबर विस्तार से युगान्तर प्रवाह पर।

जेल में चिदंबरम-काम न आई वकीलों की फ़ौज..तिहाड़ पहुंचे पूर्व गृह मंत्री!
फ़ोटो साभार एएनआई

डेस्क:आईएनएक्स मीडिया मनी लांड्रिंग के आरोप में पिछले दिनों सीबीआई द्वारा गिरफ्तार किए गए देश के पूर्व गृह और वित्त मंत्री रहे वरिष्ठ कांग्रेसी नेता पी.चिदंबरम को सीबीआई कोर्ट ने गुरुवार रात तिहाड़ जेल भेज दिया जहां वह आम कैदियों की तरह ही 19 सितंबर तक के लिए जेल भेज दिया है।जहां वह आम कैदियों की तरह ही बन्द रहेंगे।
सीबीआई की कस्टडी में रहे चिदंबरम बरम को जेल जाने से बचाने के लिए लगी वकीलों की फ़ौज भी काम न आई और आखिरकार गुरुवार रात उनको तिहाड़ पहुंचा दिया गया।

ये भी पढ़े-दिल्ली:नए ट्रैफिक नियमों पर पहली बार बोले केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी!क्या 2023 तक सड़को से हटा लिए जाएंगे पेट्रोल डीज़ल वाहन.?

एक मीडिया वेबसाइट में प्रकाशित ख़बर के अनुसार सात नंबर जेल में चिदंबरम एक सामान्य कैदी की तरह रहेंगे। उन्हें बिछाने के लिए तिहाड़ में बने कंबल और चादर मुहैया कराए जाएंगे। सामान्य कैदी एक कंबल का इस्तेमाल बतौर तकिया करते हैं, लेकिन चिदंबरम को हल्के फोम वाला तकिया दिया गया है। उन्हें सात कंबल दिए गए हैं। खास बात है कि चिदंबरम के कमरे में जो भी वस्तुएं रहेंगी, उनका निर्माण तिहाड़ के कैदियों द्वारा ही किया गया है।जैसे,तख्त,कंबल,तकिया और चद्दर तिहाड़ की फैक्ट्री में ही निर्मित होते हैं। जेल नंबर सात की जिस बैरक के सेल को खाली कराया गया है, उसमें केवल चिदंबरम का ही तख्त रहेगा। उस सेल के दोनों तरफ दीवार नहीं है,बल्कि लोहे की सलाखें हैं।

ये भी पढ़े-मिड डे मील नून रोटी प्रकरण-पत्रकारों पर डीएम मिर्जापुर का दिया हुआ ज्ञान पढ़कर सिर पकड़ लेंगे आप..प्रिंट मीडिया के लिए बताए नियम!

Read More: Madarsa Kya Hota Hai: मदरसा क्या है? इनमें क्या पढ़ाया जाता है, मदरसों पर हाईकोर्ट के फैसले पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

एक मीडिया वेबसाइट के अनुसार यहां पर एक पर्दा लगाकर चिदंबरम के सेल को दूसरे सेल से थोड़ा अलग बनाने का प्रयास किया गया है। आर्थिक अपराध से जुड़े दूसरे कैदी भी इसी जेल में रखे गए हैं। जेल में युवाओं को फर्श पर एक गद्दा दे दिया जाता है, जबकि बुजुर्ग कैदियों या वीवीआईपी को लकड़ी का तख्त मुहैया करा देते हैं। चिदंबरम को भी वही तख्त दिया गया है।

Read More: Congress Released Manifesto: कांग्रेस का 5 न्याय-25 गांरटी वाला घोषणा पत्र जारी ! जानिए घोषणा पत्र की बड़ी बातें

Tags:

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Latest News

Fatehpur News: फतेहपुर की मोहिनी ने तोड़ दिया दम ! दो घंटे बिना इलाज के डॉक्टरों ने रोका, फिर किया रैफर Fatehpur News: फतेहपुर की मोहिनी ने तोड़ दिया दम ! दो घंटे बिना इलाज के डॉक्टरों ने रोका, फिर किया रैफर
उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के फतेहपुर (Fatehpur) में एक सात वर्षीय मासूम ने इलाज के अभाव में जिला अस्पताल में...
Fatehpur News Today: फतेहपुर के पिछड़े गांव का बेटा सेना में बना लेफ्टिनेंट ! किसान पिता के छलके आंसू
Pradeep Mishra Radha Rani Controversy: राधा रानी टिप्पणी पर फंसे कथावाचक प्रदीप मिश्रा ! Premanand Maharaj ने दिया करारा जवाब
NEET 2024 NTA Supreme Court Judgment In Hindi: नीट परीक्षा 2024 के लिए सुप्रीम कोर्ट ने दिया ये निर्णय ! अब बदल जाएगी मेरिट लिस्ट
Fatehpur News: फतेहपुर में नलकूप पर सो रहे किसान की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत ! पास में पड़ीं थीं बोतले, शरीर नीला था
Fatehpur Local News: फतेहपुर में ट्रक की टक्कर से दो की मौ'त ! रात भर रौंदते रहे वाहन
Modi Cabinet 3.O List 2024: नरेंद्र मोदी के कैबिनेट में किसको मिला कौन सा मंत्रालय ! यूपी के इस नेता को मिली महत्वपूर्ण जगह

Follow Us