oak public school

UP:नोएडा और लखनऊ में लागू हुआ पुलिस कमिश्नरी सिस्टम आखिर है क्या..जानें आसान भाषा में..!

नोएडा और लखनऊ में पुलिस कमिश्नरी सिस्टम लागू हो गया है..सोमवार को योगी कैबिनेट की बैठक में इस पर निर्णय लिया गया है..पढ़े युगान्तर प्रवाह की एक रिपोर्ट।

UP:नोएडा और लखनऊ में लागू हुआ पुलिस कमिश्नरी सिस्टम आखिर है क्या..जानें आसान भाषा में..!
फ़ोटो साभार ANI

लखनऊ:क़ानून व्यवस्था को चुस्त दुरुस्त रखने के उद्देश्य से यूपी में भी पुलिस कमिश्नरी सिस्टम लखनऊ और नोएडा में लागू हो गया है।पिछले कई दिनों से सरकार लखनऊ और नोएडा में पुलिस कमिश्नरी सिस्टम लागू करने पर विचार कर रही थी।सोमवार को हुई योगी कैबिनेट की बैठक में पुलिस कमिश्नरी सिस्टम लागू करने पर मुहर लग गई।

क्या है पुलिस कमिश्नरी सिस्टम..

यूपी के दो शहरों में लागू हुए पुलिस कमिश्नरी( police commissioner) सिस्टम के तहत अब लखनऊ और नोएडा( गौतमबुद्ध नगर) में पुलिस कमिश्नर की नियुक्ति हुई है।पुलिस कमीशनर एडीजी रैंक का अधिकारी होगा।नई व्यवस्था के तहत सुजीत पांडेय को नोएडा का और आलोक सिंह को लखनऊ का पुलिस कमिश्नर बनाया गया है।

इस सिस्टम में लखनऊ में 1 एडीजी(पुलिस कमिश्नर) 2 आईजी, 9 एसपी, 1 एसपी महिला सुरक्षा, 1 एसपी ट्रैफिक होंगे इसी तरह नोएडा में 1 एडीजी, 2 डीआईजी, व 5 एसपी रैंक के अधिकारी नियुक्त होंगे।

Read More: Fatehpur Bindki News Video: फतेहपुर की पुलिस चौकी के अंदर दो पक्षों में मारपीट, जमकर चले लात घूंसे

ये भी पढ़े-UPTET 2019:आंसर की जारी होने को लेकर आई यह बड़ी ख़बर..!

Read More: Fatehpur Ghazipur Murder Case: फतेहपुर गाजीपुर हत्याकांड में प्रधान सहित 6 गिरफ्तार ! घटना का इसे बताया गया सूत्रधार

पुलिस कमिश्नरी प्रणाली में उप पुलिस अधीक्षक (डिप्टी एसपी) से ऊपर जितने अधिकारी होते हैं, उनके पास मजिस्ट्रेट स्तर की शक्ति होती है।मगर थानाध्यक्ष और सिपाही को वही अधिकार रहेंगे, जो उन्हें फिलहाल मिले हुए हैं।कहीं विवाद या बड़े बवाल जैसी घटना होती है तो जिलाधिकारी के पास ही भीड़ नियंत्रण और बल प्रयोग करने का अधिकार होता है, मगर कमिश्नरी लागू होने पर इसका अधिकार पुलिस के पास होगा।इसके साथ ही शांति व्यवस्था के लिए धारा-144 लागू करने का अधिकार भी कमिश्नर को मिल जाएगा।

Read More: Madarsa Kya Hota Hai: मदरसा क्या है? इनमें क्या पढ़ाया जाता है, मदरसों पर हाईकोर्ट के फैसले पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

इसके साथ ही बन्दूक का लाइसेंस देना,IPC और CRPC के तहत कई अधिकार जिससे पुलिस शांति भंग की आशंका में निरुद्ध करने से लेकर गुंडा एक्ट, गैंगस्टर एक्ट और रासुका तक लगा सकेगी। इन चीजों को करने के लिए डीएम से अनुमति लेने की आवश्यकता नहीं होगी, फिलहाल ये सब लगाने के लिए डीएम की सहमति जरूरी होती है।लेक़िन अब नोएडा और लखनऊ में ये सारे अधिकार पुलिस कमिश्नर के पास होंगे।

आपको बता दें कि 15 राज्यों के 71 शहरों में कमिश्नरेट प्रणाली पहले से लागू है। यूपी में योगी के सत्ता संभालने के बाद इस सिस्टम के लिए कवायद शुरू हुई और अब लखनऊ और नोएडा से इसकी शुरुआत हुई है।

Tags:

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Latest News

Salman Khan News: बान्द्रा स्थित भाईजान (SALMAN KHAN) के घर के बाहर शूटरों ने झोंके 3 राउंड फायर ! शूटरों का क्या था मकसद, घर की बढ़ाई गई सुरक्षा Salman Khan News: बान्द्रा स्थित भाईजान (SALMAN KHAN) के घर के बाहर शूटरों ने झोंके 3 राउंड फायर ! शूटरों का क्या था मकसद, घर की बढ़ाई गई सुरक्षा
बॉलीवुड के फेमस एक्टर भाईजान सलमान ख़ान (Salman Khan) के मुम्बई बान्द्रा स्थित आवास के बाहर से सनसनीखेज खबर (Sensational...
Fatehpur Shikha Tripathi: फतेहपुर के नलकूप ऑपरेटर की बेटी शिखा त्रिपाठी बनी वैज्ञानिक ! गरीबी नहीं रोक पाई हौसले की उड़ान
Kanpur Crime In Hindi: लग्जरी होटल के कमरे में चल रहा था सट्टे का बड़ा खेल ! विदेश से कौन कर रहा था इन्हें फंडिंग, पुलिस ने भंडाफोड़ करते हुए 3 को किया गिरफ्तार
Lsd 2 Trailer Released: बोल्डनेस के तड़के के साथ लव, सेक्स और धोखा 2 का ट्रेलर हुआ रिलीज ! पहली बार ट्रांसजेंडर मुख्य भूमिका में आएंगी नजर
Vishu Kya Hota Hai: विशु क्या होता है ? मलयाली इसे नववर्ष के रूप में क्यों मनाते हैं, श्री कृष्ण से जुड़ी है आस्था
Haryana Crime In Hindi: ठेके के सेल्समैन से उधार मांग रहा था शराब ! फिर छिड़ा विवाद, सेल्समैन के साथी ने मार दी गोली
Mirzapur Vindhyavasini Temple: क्या है मां विंध्यवासिनी मंदिर और अष्टभुजा कालीखोह मन्दिर का इतिहास ! जानिए पौराणिक मान्यताओं के पीछे की कहानी

Follow Us