Lakhamandal Shiva Temple : उत्तराखंड की पहाड़ियों पर है अनोखा शिव मंदिर ! जहां मुर्दे भी हो जाते हैं जिंदा

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून से 128 किलोमीटर दूर लाखामंडल नामक जगह पर यमुना नदी के पास एक ऐसा रहस्यमयी ,चमत्कारी अनोखा शिव मंदिर है. जहां मान्यता है कि यहां मुर्दे भी कुछ देर के लिए जिंदा हो जाते हैं और शिव जी की आराधना और जल पीने के बाद फिर शरीर त्याग देते हैं.यहां दर्शन करने से पापों का नाश होता है.शिवरात्रि का विशेष महत्व है.

Lakhamandal Shiva Temple : उत्तराखंड की पहाड़ियों पर है अनोखा शिव मंदिर ! जहां मुर्दे भी हो जाते हैं जिंदा
उत्तराखंड में लाखामंडल शिव मंदिर का अनोखा रहस्य

हाईलाइट्स

  • उत्तराखंड में है अनोखा रहस्यमयी चमत्कारी शिव मंदिर,जहाँ मुर्दे होते है जिंदा
  • देहरादून से 128 किलोमीटर दूर लाखामण्डल जगह पर है प्राचीन शिव मंदिर, महाभारत काल से जुड़ा है इतिहास
  • शिवरात्रि के दर्शन का विशेष महत्व, पुत्र प्राप्ति के लिए महिलाएं करती है शिव जाप का मंत्र

 mysterious Shiva temple of Uttarakhand : हमारे देश में कई ऐसे प्राचीन रहस्यमयी, चमत्कारी शिव मंदिर हैं,जिनका अनोखा इतिहास है.इस धरती पर जिसने जन्म लिया उसे एक ना एक दिन जाना भी है.यही सृष्टि का नियम है. कभी आपने सुना है कि मृत्यु होने के बाद इंसान जिंदा हो जाए.हालांकि ऐसी घटनाएं फिल्मों में या गांवों में आपने कई बार सुनी होंगी.उत्तराखंड के इस शिव मंदिर के रहस्यमयी घटनाओं को सुन यकीन नहीं होगा.यहां पर मुर्दों को भी जिंदा कर दिया जाता है. कहते हैं कि ईश्वर यदि चाह ले तो मुर्दे जीवित हो सकते हैं.चलिए इस अनोखे शिव मंदिर के बारे में आपको बताते हैं.कि इस मंदिर का क्या पौराणिक महत्व और इसके पीछे कौन सी कथा प्रचलित है.

देवभूमि में प्राचीन रहस्यमयी शिव मंदिर का अनोखा रहस्य

उत्तराखंड को देवभूमि के रूप में जाना जाता है. पहाड़ों ,झरनों से घिरा हुआ,यह राज्य प्रकृति की अद्भुत छटा बिखेरता है. देवभूमि में 12 माह पर्यटकों का आना जाना लगा रहता है.उत्तराखंड में कई ऐसी विशेष धरोहरें और प्राचीन रहस्यमयी शिव मंदिर है जिनका अनोखा महत्त्व भी है. उत्तराखंड की राजधानी देहरादून से 128 किलोमीटर दूर यमुना नदी किनारे लाखामंडल नामक जगह है.जहां भगवान शिव का रहस्यमयी मंदिर है.जिसे लाखामंडल शिव मंदिर कहा जाता है.

महाभारत काल से जुड़ा है इतिहास,मन्दिर के बाहर दो द्वारपाल रहते है खड़े

Read More: Khichdi kyo Khai Jati Hai: मकर संक्रान्ति में लोग खिचड़ी क्यों खाते हैं, जाने इसका धार्मिक और वैज्ञानिक महत्व

यह मंदिर महाभारत काल से जुड़ा हुआ है. मंदिर के आसपास खुदाई करने के दौरान यहां पर कई प्राचीन शिवलिंग निकले.यहां का शिवलिंग बहुत ही अद्भुत है. यदि शिवलिंग पर जल चढ़ाते हैं ,तो आपका प्रतिबिंब स्वरूप शिवलिंग में दिखाई देगा.दूर-दूर से भक्त यहां पर भोलेनाथ के दर्शन करने के लिए आते हैं. शिव मंदिर में दो द्वारपाल भी बाहर पहरा देते हुए दिखाई पड़ जाएंगे.

Read More: Ayodhya Ram Mandir: प्रभू के ननिहाल के चावल और ससुराल के मेवों का लगेगा 'राम लला' को पहला भोग ! 84 सेकेंड का प्राण-प्रतिष्ठा का शुभ मुहूर्त, प्रधानमंत्री Narendra Modi करेंगे आरती

दुर्योधन ने लाक्षाग्रह का किया था निर्माण,युधिष्ठर ने की थी शिवजी की पूजा

Read More: Premanad Maharaj Ji: प्रेमानन्द महाराज जी ने बताया ! घर पर साधू आए तो 'राधे-राधे' कहकर करें स्वागत, साधू पैसे मांगे तो क्या करना चाहिए?

लाखामंडल शिव मंदिर को लेकर महाभारत से जुड़ी कथा भी प्रचलित है.ऐसा बताया जाता है कि दुर्योधन ने अज्ञातवास के दौरान पांडवों को मारने के लिए लाक्षागृह का निर्माण किया था. लेकिन पांडव पीछे की गुफा से सुरक्षित निकल गए थे.यह भी कहा जाता है कि, यहां युधिष्ठिर ने शिवलिंग स्थापित कर पूजा अर्चना की थी जो आज भी मौजूद है.तभी से इस जगह का नाम लाखामंडल शिव मंदिर पड़ गया. हालांकि एक मान्यता यह भी है कि लाक्षागृह यूपी में स्थापित है.

द्वारपालों के आगे रखे जाते हैं मुर्दे कुछ देर के लिए होते हैं जीवित

इस रहस्यमयी शिव मंदिर के आगे आपको दो द्वारपाल खड़े हुए दिखाई पड़ जाएंगे.ऐसा कहा जाता है कि यहां पर मुर्दे को लाकर द्वारपाल के समक्ष रखा जाएं ,तो वह कुछ देर के लिए जीवित हो जाते हैं.हालांकि यह एक रहस्य ही है. जिसके बाद जीवित हुआ मुर्दा भोलेनाथ की पूजा करता है और शुद्ध जल पीकर अपने ऊपर छिड़ककर फिर से अपना शरीर त्याग देता हैं.

पुत्र प्राप्ति की है मान्यता

इस मंदिर की एक और मान्यता यह है, कि शिवरात्रि का यहां विशेष महत्व है.ऐसा कहा जाता है कि मन्दिर के द्वार पर जो स्त्री पुत्र प्राप्ति के लिए शिवरात्रि के दिन दीपक को एक टक देखते हुए शिव मंत्र का जाप करती है उसे साल भीतर पुत्र रत्न की प्राप्ति होती है. सावन के दिनों में भी इस अनोखे शिव मंदिर के दर्शन के लिए भक्तों का तांता लगा रहता है.

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Latest News

Pm Surya Ghar Muft Bijali Yojana 2024: 300 यूनिट बिजली मिलेगी मुफ्त ! छत पर सोलर पैनल इंस्टाल होने के बाद मिलेगी सब्सिडी, जानिए क्या है पीएम सूर्य घर स्कीम? Pm Surya Ghar Muft Bijali Yojana 2024: 300 यूनिट बिजली मिलेगी मुफ्त ! छत पर सोलर पैनल इंस्टाल होने के बाद मिलेगी सब्सिडी, जानिए क्या है पीएम सूर्य घर स्कीम?
पीएम सूर्य घर मुफ्त बिजली योजना (Pm Surya Ghar Scheme) के अंतर्गत देशवासियों को मुफ्त बिजली (Free Bijli) दी जा...
Fatehpur News: फतेहपुर में यूपी बोर्ड की मेरिट लिस्ट के लिए अंतर्द्वंद ! सीटिंग प्लान से लेकर कॉपियों में पैसे रखने का बड़ा खेल
Dacoit Seema Parihar: 13 साल की उम्र में चंबल-बीहड़ के ख़तरनाक डाकुओं के चंगुल में आई सीमा परिहार ! कैसे बनी दस्यु सुंदरी? हाथों में चूड़ियों के बजाय पहन लिए हथियार, 30 साल पुराने मामले में हुई सजा
Jaya Kishori: महिला सशक्तिकरण के कार्यक्रम में पहुँची कथावाचक जया किशोरी के साथ बदसलूकी ! सिरफिरा गिरफ्तार
Fatehpur UP Board News: फतेहपुर में टॉपर देने वाले विद्यालय में फर्जी कक्ष निरीक्षक ! डीआईओएस को नोटिस, दर्ज होगी एफआईआर
Mau Murder News: सात जन्मों का साथ निभाने के लिए 4 दिन पहले लिए थे फेरे ! शादी के पांचवे दिन हुआ कुछ ऐसा, कांप उठेगी रूह
Amin Sayani Passes Away: रेडियो पर जादुई आवाज से दीवाना बनाने वाले अनाऊन्सर 'अमीन सयानी' का निधन ! इस जादुई आवाज को सुनने के लिए सड़कों पर पसर जाता था सन्नाटा

Follow Us