×
विज्ञापन

Fatehpur News:निजी विद्यालयों पर गहराया जीविका का संकट.बंद होने की कगार में खड़े हैं स्कूल।

विज्ञापन

यूपी में कक्षा एक से आठ तक के स्कूलों(UP School Closed 1to8)को खुले अभी कुछ ही समय हुआ था कि बढ़ते कोरोना(Covid 19News)की वजह से विद्यालयों को फ़िर से बंद कर दिया गया।स्कूलों के बंद होने से जहां एक ओर बच्चों की पढ़ाई पर इसका असर पड़ेगा वहीं निजी विद्यालय संचालकों की जीविका पर भी संकट गहराता जा रहा है।पढ़ें युगान्तर प्रवाह की एक रिपोर्ट..(Up me school kab khulenge Today News)

फ़तेहपुर(Fatehpur News):यूपी में आई कोरोना(Covid19 News) की दूसरी लहर ने आम इंसान का जीवन अस्त व्यस्त कर दिया है उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ(Yogi Adityanath)ने कोरोनो के संक्रमण को ध्यान में रखते हुए होली के पहले प्रदेश के कक्षा एक से आठ तक के सभी परिषदीय और निजी विद्यालयों को बंद कर दिया फिर इसकी अवधि को लगातार बढ़ा रहे हैं।अब सभी विद्यालय 11 अप्रैल तक बंद रहेंगे।

ये भी पढ़ें- UP Panchayat Chunav 2021: पंचायत चुनाव के लिए कितना जरूरी है चरित्र प्रमाण पत्र..फ़तेहपुर सीडीओ ने कही ये बात?

विज्ञापन
विज्ञापन

लेकिन लगातार विद्यालयों के बंद होने से बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है साथ निजी विद्यालयों के जीविकोपार्जन पर भी संकट खड़ा हो गया है।इन सबको ध्यान में रखते हुए जिले के निजी विद्यालय प्रबंध समिति के सदस्यों ने डीएम को ज्ञापन दिया है। जिसमें उन्होंने अपनी समस्यों को दर्शाया है। युगान्तर प्रवाह से बातचीत करते हुए निजी विद्यालयों के संचालक शिक्षकों ने कहा कि हम लोग बेरोजगारी के मुहाने पर खड़े हैं कोविड कि गाइडलाइन के अनुसार ही हम सभी लोग विद्यालयों को संचालित कर रहे हैं लेकिन उसके बाद भी सरकार द्वारा ऐसा किया जा रहा है क्या कोरोना केवल स्कूलों में ही पहले आता है? जबकि उसके समानांतर सभी व्यवस्थाएं सामान्य रूप से चल रही हैं।

उन्होंने कहा कि सरकार हम लोगों को बताए कि विद्यालय कैसे चलाना चाहिए लेकिन इसे किसी भी कीमत पर बंद न करें। आपको बतादें कि कुछ संचालकों ने  यह भी कहा कि वो किराए पर स्कूल चलाते हैं बंद विद्यालय में भी बिजली पानी और बिल्डिंग का किराया देना पड़ता है। अगर ऐसा ही रवैया रहा तो जल्द ही हमें विद्यालय बंद भी करना पड़ सकता हैं।(Up me school kab khulenge Today News)


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।