×
विज्ञापन

Fatehpur UP News: ठेकेदार मनीष तिवारी पर हुए जानलेवा हमले मामले में दर्ज हुई एफआईआर

विज्ञापन

गुरुवार रात शहर कोतवाली क्षेत्र के पत्थरकटा चौराहे पर खून से लथपथ मिले ठेकेदार मनीष तिवारी मामले में शनिवार को पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर हमलावरों की तलाश में जुट गई है. Fatehpur up news contractor manish tiwari attack

Fatehpur News: ठेकेदार मनीष तिवारी पर हुए जानलेवा हमले मामले में पुलिस ने अज्ञात के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कर हमलावरों की तलाश में जुट गई है।मनीष तिवारी के पिता उमाशंकर तिवारी की तहरीर पर शहर कोतवाली में एफआईआर दर्ज हुई है।Fatehpur UP News contractor manish tiwari attack news

विज्ञापन
विज्ञापन

क्या है पूरा मामला

खागा कोतवाली के ब्राम्हणपुर और वर्तमान में फतेहपुर के शगुन नगर वीआईपी रोड पर किराए से रहने वाले मनीष तिवारी (35) श्रद्धा कंस्ट्रक्शन कंपनी के मालिक हैं। वह काफी साल से बिजली विभाग में ठेकेदारी का काम करते हैं और मौजूदा समय में हाईवे चौड़ीकरण का काम करने वाली कंपनी पीएनसी के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। गुरूवार की देर रात पत्थरकटा चौराहे पर रखी पुलिस बैरीकेडिंग के पास मनीष तिवारी खून से लथपथ हालत में पुलिस को मिले थे।वहां उनके साले अनुज शुक्ला भी मौजूद थे। पुलिस उन्हें सदर ले गई। जहां से उन्हें कानपुर के लिए रेफर कर दिया गया था। ठेकेदार का कानपुर के निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है। बताया जा रहा है कि उनकी हालत बेहद नाजुक बनी हुई है। पिता उमाशंकर तिवारी ने बताया कि उनका बेटा मनीष उसका साला अनुज व एक साथी गौरव अग्निहोत्री आवश्यक कार्य से निकले थे। पत्थर कटा में उनका पुत्र गंभीर हालत में पुलिस को मिला था।

इस मामले में पुलिस ने एफआईआर तो दर्ज कर ली है।लेकिन फ़िलहाल पुलिस सीधे सीधे कुछ भी बताने को तैयार नहीं है।मनीष पर जानलेवा हमला करने वाले कौन लोग थे मनीष पर हमला किन वजहों से हुआ इस बात की भी पुख़्ता जानकारी नहीं मिल पा रही है।मनीष के पिता औऱ पत्नी भी इस बारे में कुछ नहीं बता पा रहीं हैं।वहीं घटना के दिन मनीष के साथ मौजूद रहे उनके साले अनुज शुक्ला पुलिस पूछताछ कर सकती है।फ़िलहाल कयास लगाए जा रहें हैं कि हमला रुपयों पैसों के लेन देन के चलते हुआ होगा।

ये भी पढ़ें- Fatehpur Road Accident: बारात जा रहे चार युवकों की सड़क हादसे में मौत एक ही बाइक में थे सवार

ये भी पढ़ें- Fatehpur UP News: किडनैप हुए बच्चे का शव कुएं में बरामद मांगी गई थी बीस लाख की फ़िरौती


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।