Delhi-Ncr Air Pollution: दिल्ली एनसीआर में स्मॉग ने थामी जीवन की रफ्तार ! दमघोंटू जहरीली हवा शरीर को पहुंचा रही नुकसान

Delhi-Ncr Air Pollution: दिल्ली-एनसीआर में पिछले 15 दिनों से स्मॉग और फॉग के चलते पॉल्यूशन बढ़ने लगा है. आलम यह है कि यह धुंध और घुली हुई जहरीली हवा सीधे शरीर में प्रवेश कर सीने और नाक में जलन को बढ़ा रही है. राजधानी व एनसीआर पर सरकार ने चिंता व्यक्त की है.इसके पीछे कारण पराली जलाने और बदलता मौसम बताया गया है. स्कूलों को भी शुक्रवार व शनिवार के लिए बंद कर दिया है. सड़कों पर धुंध और विजिबिलिटी भी कम है. इसके साथ ही ट्रकों पर फिलहाल प्रतिबंध लगा दिया गया है.हालांकि अगले दो दिनों में यह प्रदूषण और बढ़

Delhi-Ncr Air Pollution: दिल्ली एनसीआर में स्मॉग ने थामी जीवन की रफ्तार ! दमघोंटू जहरीली हवा शरीर को पहुंचा रही नुकसान
दिल्ली-एनसीआर में एयर पॉल्यूशन का खतरा, फोटो साभार सोशल मीडिया

हाईलाइट्स

  • दिल्ली-एनसीआर में हवा प्रदूषण घोल रही सांसों में जहर
  • 15 दिनों से दिल्ली में स्मॉग और फॉग बढ़ा, आगे भी बढ़ने की संभावना
  • दिल्ली में दो दिनों के लिए स्कूल बंद,

The air of Delhi-NCR is polluted : दीपावली के पहले से ही दिल्ली-एनसीआर की हवा में अचानक परिवर्तन हो जाता है. स्मॉग और धुंध से सबसे ज्यादा राजधानी ग्रसित है.इस धुंध की जहरीली हवा सीधे शरीर में जाकर इंसान को बीमार कर रही है. हर दिन aqi बढ़ता ही जा रहा है. ब्रोकाइटिस मरीजों में काफी इजाफा हुआ है.

 

दिल्ली-एनसीआर की हवा हुई प्रदूषित

इन दिनों दिल्ली-एनसीआर की आबोहवा एकदम से प्रदूषित हो चुकी है. पिछले 2 सप्ताह से राजधानी समेत एनसीआर में स्मॉग-धुंध की वजह से एयर पॉल्यूशन का खतरा बढ़ता जा रहा है.

Read More: Vikram Samvat Hindu Nav Varsh 2024: विक्रम संवत की शुरुआत कब हुई? क्यों कहा जाता है इसे हिंदू नववर्ष

आलम यह है कि लोगों को बाहर निकलने में बहुत ही उलझन महसूस हो रही है. दमघोंटू हवा सीधे शरीर के अंदर प्रवेश करते हुए नुकसान पहुंचा रही है.

Read More: Govinda Joins Shiv Sena: फ़िल्म स्टार गोविंदा एकनाथ शिंदे शिवसेना पार्टी में हुए शामिल ! क्या लड़ेंगे लोकसभा चुनाव

लोगों को सीने में जलन, सांस में दिक्कत की वजह से बहुत समस्याएं उतपन्न हो गयी है.दूर-दूर तक फिलहाल मौसम में परिवर्तन होता नहीं दिखता. वायु गुणवत्ता प्रबन्धन आयोग की माने तो इसकी वजह ज्यादा प्रतिकूल मौसम और जलवायु परिस्थिति में परिवर्तन होना है.

Read More: AmarNath Yatra Registration 2024: अमरनाथ यात्रा के लिए कैसे करें रजिस्ट्रेशन ! जान लीजिए पूरे नियम

विजिबिलिटी हुई कम,डीजल वाले ट्रकों पर प्रतिबंध

बढ़ता स्मॉग और धुंध की वजह से सड़कों पर निकलना दूभर है.विजिबिलिटी बहुत कम है. गैर जरूरी निर्माण पर दिल्ली-एनसीआर में प्रतिबंध लगा दिया है. राजधानी में डीजल वाले ट्रकों का प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया है.

नवम्बर की शुरुआत में पिछले 2 दिनों से हालात ज्यादा बिगड़ रहे हैं. इसके पीछे मौसम परिवर्तन और पराली जलाना बताया जा रहा है.डाक्टर्स ने भी सांस सम्बन्धी मरीजों को अलर्ट किया है. वे घर से बाहर न निकलें.

सरकार ने चिंता व्यक्त की,दो दिन स्कूल बंद

इसके साथ ही सरकार ने गहन चिंता व्यक्त की है क्योंकि मौसम विभाग की माने तो अगले दो दिन और प्रदूषण बढ़ने की संभावना है. यहां स्कूलों को भी शुक्रवार-शनिवार के लिए बंद कर दिया है.वर्चुअली क्लास ली जाएंगी. 

राजधानी के कई इलाकों में वायु गुणवत्ता सूचकांक Aqi पहले ही 400 अंक पार कर गंभीर श्रेणी में पहुंच गया है. वायु गुणवत्ता प्रबन्धन आयोग की माने तो ज्यादा प्रतिकूल मौसम जलवायु परिस्थितियों की वजह से प्रदूषण स्तर अभी और बढ़ सकता है.

पड़ोसी राज्यों की हवा पर भी असर

वायु प्रदूषण की चपेट में दिल्ली ही नहीं बल्कि पड़ोसी राज्य भी आये हैं जिसमें हरियाणा, राजस्थान और उत्तर प्रदेश के कई शहरों में हवा जहरीली पाई गई. हरियाणा और पंजाब में कई स्थानों पर गुरुवार को एक्यूआई खराब श्रेणियों में दर्ज किया गया. सरकार लगातार इससे निपटने के लिए छिड़काव करवा रही है. लेकिन स्मॉग कम होने का नाम नहीं ले रहा.

स्मॉग शरीर के लिए बहुत खतरनाक

स्मॉग फॉग से अलग है. यह ज्यादा घातक होता है. स्मॉग धुएं और प्रदूषण का एक मिश्रण होता है, जो सेहत के लिए नुकसानदायक है. हवा में इनदिनों स्मॉग छाया हुआ है जिससे शरीर को नुकसान हो रहा है. हवा में सल्फर डाइऑक्साइड (SO2) और बेंजीन जैसी हानिकारक गैसों की मौजूदगी की वजह से स्मॉग होता है, यह देखने में हल्का ग्रे रंग का लगता है.

स्मॉग का शरीर पर दुष्प्रभाव

यह इतना ज्यादा गहरा होता है कि पहले लगता है कि ये कोहरा है लेकिन जब जलन सी महसूस होती है तब समझ आता है कि यह तो स्मॉग है. स्मॉग की वजह से विजिबिलिटी तो कम होती ही है. WHO के मुताबिक स्मॉग की वजह से आंखों में जलन, स्ट्रोक, हृदय रोग, फेफड़ों का कैंसर और रेस्पिरेटरी सिस्टम से जुड़ी बीमारियों का खतरा भी बढ़ जाता है. इसलिए डाक्टर्स भी कहते हैं कि ऐसे में अस्थमा वाले मरीज सावधानी बरतें घर से बाहर न निकलें. घर के अंदर ही कार्य करें.प्रदूषण जब ज्यादा हवा में बढ़ जाये तो व्यायाम कम करें , वर्कआउट घर पर करें. 

 

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Latest News

Fatehpur Local News: फतेहपुर में 6 युवक यमुना में डू'बे ! दो की मौ'त, ग्रामीणों ने 4 को बचाया Fatehpur Local News: फतेहपुर में 6 युवक यमुना में डू'बे ! दो की मौ'त, ग्रामीणों ने 4 को बचाया
उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के फतेहपुर (Fatehpur) में युमना (Yamuna) नहाने गए 6 लड़के अचानक नदी में डूब गए. ग्रामीणों...
Fatehpur Haji Raja News: फतेहपुर में सपा नेता हाजी रजा का विवादित बयान ! पीएम Narendra Modi पर की अभद्र टिप्पणी
Fatehpur Crime News: फतेहपुर में बीच सड़क बैंक कर्मी से जमकर मा'रपीट ! लोगों के रोकने पर भी डंडे से लागतार किया ह'मला
Fatehpur Teacher News: फतेहपुर का फर्जी टीचर पुलिस के हत्थे चढ़ा ! कूट रचित रस्तावेजों के सहारे बना था शिक्षक
Fatehpur Malwan Accident: फतेहपुर में खड़े ट्रक से टकराई डीसीएम ! एक की मौत कई घायल, गैस कटर से काट कर निकालती पुलिस
Fatehpur News Today: फतेहपुर के फूफा ने भतीजी से रचा ली शादी ! पत्नी ने ऐसा पीटा फूफा से निकल गया फू..
UP Fatehpur News: फतेहपुर में गंगा स्नान करने गए तीन युवक डूबे ! दो की हो गई मौ'त, परिजनों में मचा ह'ड़कंप

Follow Us