oak public school

UP:हाईकोर्ट के आदेश के बाद देर रात जेल से रिहा हुए डॉ. कफ़ील खान..लगाए गम्भीर आरोप.!

एनएसए(NSA) के तहत मथुरा जेल में बन्द डॉक्टर कफ़ील खान आखिरकार मंगलवार देर रात जेल से रिहा कर दिए गए..पढ़ें पूरी खबर युगान्तर प्रवाह पर..

UP:हाईकोर्ट के आदेश के बाद देर रात जेल से रिहा हुए डॉ. कफ़ील खान..लगाए गम्भीर आरोप.!
जेल से रिहा होने के बाद कफ़ील खान।

लखनऊ:डॉक्टर कफ़ील खान मंगलवार देर रात जेल से रिहा कर दिए गए।उन्हें यूपी सरकार द्वारा एनएसए की कार्यवाही के तहत गिरफ्तार कर जेल में रखा गया था।मंगलवार को हाईकोर्ट से उन्हें ज़मानत मिल गई।जिसके बाद उनकी रिहाई का रास्ता साफ़ हुआ।

ये भी पढ़ें-पितृ पक्ष 2020:आज से शुरू हुआ कब होगा समाप्त..कैसे करें पितरों का श्राद्ध औऱ तर्पण..!

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अपने फ़ैसले में कहा कि कफ़ील ख़ान को एनएसए के तहत गिरफ़्तार किया जाना 'ग़ैरक़ानूनी' है।अदालत ने अपने फ़ैसले में कहा, "डॉक्टर कफ़ील ख़ान का भाषण किसी तरह की नफ़रत या हिंसा को बढ़ावा देने वाला नहीं था, बल्कि यह लोगों के बीच राष्ट्रीय एकता का आह्वान था।"

क्या है पूरा मामला..

Read More: Gorakhpur Student News: परिजनों ने बस इतना बोला मोबाइल पर गेम मत खेलो बेटा ! छात्रा ने उठा लिया खौफ़नाक कदम, मचा कोहराम

डॉक्टर कफ़ील खान का नाम उस वक़्त सबसे पहले चर्चा में आया था जब वह बीआरडी मेडिकल कॉलेज गोरखपुर में तैनात थे।साल 2017 में गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की कमी से 60 बच्चों की मौत हो गई थी।उत्तर प्रदेश सरकार ने लापरवाही बरतने, भ्रष्टाचार में शामिल होने सहित कई आरोप लगाकर डॉ. कफ़ील को निलंबित कर जेल भेज दिया था। हालाँकि कई मामलों में बाद में उन्हें सरकार से क्लीन चिट मिल गई थी लेकिन उनका निलंबन रद्द नहीं हुआ था।

Read More: Fatehpur Sadak Hadsa: फतेहपुर में बस पलटने से बड़ा हादसा ! 60 लोग घायल, दिल्ली से बिहार जा रहे थे यात्री

ये भी पढ़ें-फतेहपुर:मॉल में साथ काम करते करते एक दूसरे को दिल दे बैठीं सहेलियां..शादी कर पहुंचीं थाने.!

Read More: Gorakhpur Crime In Hindi: व्यापारी से दरोगा ने डकारे 50 लाख रुपये ! एसएसपी ने किया निलंबित, क्राइम ब्रांच ने किया गिरफ्तार

इसके बाद पिछले साल दिसंबर महीने में नागरिकता संशोधन क़ानून यानी सीएए के ख़िलाफ़ डॉक्टर कफ़ील ख़ान ने अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में कथित तौर पर भड़काऊ भाषण दिया था।इस मामले में कफ़ील के ख़िलाफ़ अलीगढ़ के सिविल लाइंस थाने में केस दर्ज किया गया था।29 जनवरी को यूपी एसटीएफ़ ने उन्हें मुंबई से गिरफ़्तार किया था।

ये भी पढ़ें-UP:22 PCS से IAS औऱ 18 PPS से IPS में हुए प्रमोट..लिस्ट जारी..!

10 फ़रवरी को उन्हें ज़मानत मिल गई थी, लेकिन तीन दिन तक जेल से उनकी रिहाई नहीं हो सकी और इस दौरान अलीगढ़ ज़िला प्रशासन ने उन पर राष्ट्रीय सुरक्षा क़ानून (रासुका) लगा दिया।तब से वह मथुरा जेल में बन्द थे।

मंगलवार रात जेल से रिहा होने के बाद डाक्टर कफ़ील ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि उन्हें जेल में पाँच पाँच दिनों तक भूखा प्यासा रखा गया।इसके पहले भी उन्होंने जेल में अव्यवस्थाओं को लेकर एक पत्र लिखा था जो सोशल मीडिया में काफ़ी वायरल हुआ था।

Tags:

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Latest News

Fatehpur Shikha Tripathi: फतेहपुर के नलकूप ऑपरेटर की बेटी शिखा त्रिपाठी बनी वैज्ञानिक ! गरीबी नहीं रोक पाई हौसले की उड़ान Fatehpur Shikha Tripathi: फतेहपुर के नलकूप ऑपरेटर की बेटी शिखा त्रिपाठी बनी वैज्ञानिक ! गरीबी नहीं रोक पाई हौसले की उड़ान
उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के फतेहपुर (Fatehpur) अमौली विकास खंड के कुलखेड़ा गांव की रहने वाली शिखा त्रिपाठी ने रक्षा...
Kanpur Crime In Hindi: लग्जरी होटल के कमरे में चल रहा था सट्टे का बड़ा खेल ! विदेश से कौन कर रहा था इन्हें फंडिंग, पुलिस ने भंडाफोड़ करते हुए 3 को किया गिरफ्तार
Lsd 2 Trailer Released: बोल्डनेस के तड़के के साथ लव, सेक्स और धोखा 2 का ट्रेलर हुआ रिलीज ! पहली बार ट्रांसजेंडर मुख्य भूमिका में आएंगी नजर
Vishu Kya Hota Hai: विशु क्या होता है ? मलयाली इसे नववर्ष के रूप में क्यों मनाते हैं, श्री कृष्ण से जुड़ी है आस्था
Haryana Crime In Hindi: ठेके के सेल्समैन से उधार मांग रहा था शराब ! फिर छिड़ा विवाद, सेल्समैन के साथी ने मार दी गोली
Mirzapur Vindhyavasini Temple: क्या है मां विंध्यवासिनी मंदिर और अष्टभुजा कालीखोह मन्दिर का इतिहास ! जानिए पौराणिक मान्यताओं के पीछे की कहानी
Fatehpur AI Voice call Scam: मैं तुम्हारा जीजा बोल रहा हूं ! 16 हज़ार भेज दो, जानिए ठगी का नया तरीका

Follow Us