Pm Modi Anushthan: राम लला की प्राण-प्रतिष्ठा से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 11 दिन का शुरू किया विशेष अनुष्ठान ! पंचवटी से शुरुआत

Narendra Modi 11 days Anushthan Ram Lala

अयोध्या में 22 जनवरी को राम मंदिर (Ram Temple) में राम लला की प्राण प्रतिष्ठा (Life Consecration) से ठीक 11 दिन पहले यानी आज से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने 11 दिन का विशेष अनुष्ठान शुरू किया है. इसकी शुरुआत नासिक (Nasik) के पंचवटी (Panchvati) से की जा रही है. पीएम ने एक ऑडियो संदेश (Audio Message) जारी कर अपने भाव प्रकट किए हैं. पीएम मोदी ने कहा मेरा सौभाग्य है कि मैं इस पुण्य अवसर का साक्षी बनूंगा.

Pm Modi Anushthan: राम लला की प्राण-प्रतिष्ठा से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 11 दिन का शुरू किया विशेष अनुष्ठान ! पंचवटी से शुरुआत
नरेंद्र मोदी का अनुष्ठान : Imge Credit Original Source

प्रधानमंत्री का 11 दिन का विशेष अनुष्ठान

पूरी दुनिया 22 जनवरी का बेसब्री से इन्तजार कर रही है. अयोध्या में भव्य राम मंदिर में राम लला की प्राण-प्रतिष्ठा (Life Consecration) होनी है. प्राण प्रतिष्ठा से ठीक 10 दिन पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने 11 दिन का विशेष अनुष्ठान (Special Rituals) शुरू किया है. जिसकी शुरुआत शुक्रवार से नासिक के पंचवटी (Panchvati) से हो चुकी है. पीएम मोदी महाराष्ट्र (Maharastra) दौरे पर भी है. वे वहां रोड शो भी कर रहे हैं. पीएम ने ऑडियो संदेश (Audio Message) जारी कर अपने भाव प्रकट किए हैं. 

ऑडियो संदेश जारी कर प्रकट किए अपने मन के भाव

पीएम मोदी (Pm Modi) ने ऑडियो मैसेज के दौरान सबसे पहले सियावर राम चन्द्र की जय और 'राम-राम' कहकर अपने सम्बोधन की शुरुआत की. जीवन के कुछ क्षण ईश्वरीय आशीर्वाद की वजह से ही यथार्थ में बदलते हैं. हम सभी भारतीयों के लिए दुनिया भर में फैले सभी रामभक्तों के लिए ऐसा ही पवित्र अवसर है. हर तरफ प्रभू श्रीराम की भक्ति का अद्भुत वातावरण है. चारों दिशाओं में राम नाम की धूम है. फिर उन्होंने कहा कि पंचवटी (Panchvati) की पावन धरा से इस अनुष्ठान को शुरू कर रहे हैं. इस जगह से शुरू करने का बड़ा ही महत्व इसलिए है क्योंकि प्रभू राम ने यहां कुछ दिन बिताए थे. मेरा सौभाग्य है कि प्रभू ने प्राण प्रतिष्ठा (Life Consecration) के दौरान समस्त देशवासियों का मुझे प्रतिनिधित्व (Represent) करने का निमित्त बनाया है. यह मेरा परम सौभाग्य है कि इस पुण्य अवसर का साक्षी बनूंगा.

इस वक्त अपनी भावनाओं को शब्दों में कह पाना मुश्किल, प्राण प्रतिष्ठा के पहले इन सबका पालन आवश्यक

11 दिन का विशेष अनुष्ठान करने जा रहा हूँ, आप सभी के आशीर्वाद (Blessings) का आकांक्षी हूं. इस वक्त अपनी भावनाओ को शब्दों में कह पाना मुश्किल है लेकिन मैंने एक प्रयास किया है. उन्होंने कहा कि मैं भावुक हूं, भाव विह्वल हूं, मैं पहली बार जीवन में इस तरह के मनोभाव से गुजर रहा हूं. मैं एक अलग ही भाव-भक्ति की अनुभूति कर रहा हूं, मेरे अंतर्मन की ये भाव-यात्रा मेरे लिए अभिव्यक्ति का नहीं, अनुभूति का अवसर है, चाहते हुए भी मैं इसकी गहनता, व्यापकता और तीव्रता को शब्दों में बांध नहीं पा रहा हूं आप भली भांति मेरी स्थिति समझ सकते हैं.

यह बड़ी जिम्मेदारी है, जैसा कि शास्त्रों में कहा गया है हमें ईश्वर के यज्ञ के लिए, आराधना के लिए स्वयं में भी दैवीय चेतना जाग्रत करनी होती है. इसके लिए शास्त्रों में व्रत और कठोर नियम बताए गए हैं. जिन्हें प्राण प्रतिष्ठा से पहले पालन करना होता है. ऐसे अनगिनत नाम जिनके जीवन का एक मात्र भव्य ध्येय रहा है भव्य राम मंदिर निर्माण, मैं उन सभी त्यागी और बलिदानियों से जुड़ी गाथाओं को लेकर अंदर प्रवेश करूंगा. 140 करोड़ देशवासी उस मन से मेरे साथ उस दिन जुड़ेंगे. व्यक्तिगत रूप से यह 11 दिन आप सभी मन से मेरे साथ जुड़े रहे. 

Read More: Premanand Ji Maharaj Motivational: प्रेमानन्द महाराज ने बताया इन गलतियों को जीवन में न करें ! पुण्य हो जाएंगे नष्ट

पंचवटी ही क्यों चुना अनुष्ठान के लिए

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) राम लला की प्राण प्रतिष्ठा (Life Consecration) से पहले 11 दिन का विशेष अनुष्ठान (Special Rituals) आज से शुरू कर रहे हैं. दरअसल किसी भी प्राण-प्रतिष्ठा के लिए पहले विशेष पूजन व अनुष्ठान का महत्व भी रहता है.

Read More: Abu Dhabi Hindu Mandir: अबूधाबी में पहले हिन्दू मन्दिर का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया उद्घाटन ! नागर शैली तर्ज व 27 एकड़ क्षेत्र में बना है यह भव्य मंदिर, 1 मार्च से कर सकेंगे दर्शन

नासिक (Nasik) के पंचवटी (Panchvati) से प्रभू श्री राम का कनेक्शन हैं. जब 14 वर्ष का वनवास हुआ था तब प्रभू राम, भार्या सीता माता और अनुज लक्ष्मण उनके साथ यहां पंचवटी आये थे. यहां कुटिया बनाकर कुछ दिन गुजारे थे. यहीं रावण ने माता सीता का हरण किया था, और यहीं लक्ष्मण जी ने रावण की बहन सुपर्णखा की नाक काटी थी. रामायण व अन्य ग्रन्थों में भी पंचवटी की खूबसूरती का वर्णन किया गया था.

Read More: Amin Sayani Passes Away: रेडियो पर जादुई आवाज से दीवाना बनाने वाले अनाऊन्सर 'अमीन सयानी' का निधन ! इस जादुई आवाज को सुनने के लिए सड़कों पर पसर जाता था सन्नाटा

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Latest News

Parenting Tips: बच्चों की बेहतर परवरिश और उनके भविष्य को संवारने के लिए अपनाएं ये टिप्स Parenting Tips: बच्चों की बेहतर परवरिश और उनके भविष्य को संवारने के लिए अपनाएं ये टिप्स
बच्चों की सही परवरिश (Upbringing) और उन्हें सही सीख देने की हर मां-बाप की ख्वाहिश होती है कि उनका बच्चा...
Aaj ka Rashifal 26 फरवरी 2024: इस राशि के जातक को पुराना पैसा मिल सकता है ! जानिए सभी राशियों का Kal Ka Rashifal
Oneplus 12R Refund: वनप्लस 12R सीरीज में आई ये समस्या ! अब कंपनी देगी फुल रिफण्ड, बस करना होगा ये काम
Kaushambi Patakha Blast: कौशाम्बी की पटाखा फैक्ट्री में ब्लास्ट ! 4 की मौत, कई घायल, बढ़ सकती है मौत की संख्या
UP Gehu Kharid 2024-25: यूपी में गेहूं खरीद पर बड़ी अपडेट ! इस तारीख़ से खुलेंगे सेंटर, जाने गेहूं का प्राइस
India Vs England Test Series: रांची टेस्ट में भारत मजबूत स्थिति में ! अश्विन और कुलदीप की फिरकी के आगे पस्त हुए अंग्रेज, भारत जीत से 152 रन दूर
Katni-Mohas Hanuman Mandir: मध्यप्रदेश के कटनी में है एक ऐसा चमत्कारिक हनुमान मन्दिर ! जहां दूर-दूर से टूटी हड्डियों का इलाज कराने पहुंचते हैं भक्त, राम-नाम जप व बूटी ग्रहण करने से जुड़ जाती है टूटी हड्डियां

Follow Us