Paush Putrada Ekadashi 2024: कब है पौष पुत्रदा एकादशी ! इस व्रत का क्या है महत्व, नोट कर लें तारीख़, मुहूर्त और पूजा विधि

Putrada Ekadashi 2024 Kab Hai

पौष पुत्रदा एकादशी (Paush Putrda Ekadashi) का व्रत (Fast) 21 जनवरी को रखा जाएगा. पौष मास के शुक्ल पक्ष की तिथि को पौष पुत्रदा एकादशी कहते हैं. हमारे हिन्दू धर्म में कई एकादशी के व्रत (Fast) हैं जिनका बड़ा ही महत्व है. इसी तरह पौष पुत्रदा एकादशी का भी बड़ा महत्व है. साल में दो बार आने वाली यह एकादशी का व्रत रखने वालों को संतान सुख का वरदान (Blessings Of Child Happiness) मिलता है.

Paush Putrada Ekadashi 2024: कब है पौष पुत्रदा एकादशी ! इस व्रत का क्या है महत्व, नोट कर लें तारीख़, मुहूर्त और पूजा विधि
पौष पुत्रदा एकादशी 2024, फोटो साभार सोशल मीडिया

पौष पुत्रदा एकादशी का व्रत

भगवान श्री हरि (Lord Vishnu) को प्रसन्न करने के लिए एकादशी का व्रत किया जाता है. इन्हीं में से एक एकादशी पौष पुत्रदा एकादशी (Paush Putrada Ekadashi) भी है जिसका अलग ही पौराणिक महत्व है और व्रत रखने से वरदान  (Blessings) मिलता है. चलिए आपको बताएंगे कि पौष पुत्रदा एकादशी कब है, क्या इसका मुहूर्त है इसके साथ ही इस एकादशी का क्या महत्व है, यह सब इस लेख के जरिये देखें. सबसे पहले तो आप सभी लोगों को बताना चाहेंगे कि यह पौष पुत्रदा एकादशी (Paush Putrada Ekadashi) साल में दो बार आती है.

एक तो श्रावण मास में दूसरा पौष मास के शुक्ल पक्ष में यह पुत्रदा एकादशी का व्रत किया जाता है. यह व्रत भगवान विष्णु के लिए किया जाता है. प्रभू को प्रसन्न करने के लिए इससे अच्छा दिन और कोई नहीं हो सकता. इस बार पौष पुत्रदा एकादशी का व्रत 21 जनवरी रविवार (Sunday 21 January) को रखा जाएगा. बहुत ही शुभ योग में पुत्रदा एकादशी होगी. ब्रह्म योग बन रहा है यह बड़ा शुभ संकेत है. 

क्यों रखा जाता है पौष पुत्रदा एकादशी व्रत और क्या है महत्व?

पुत्रदा एकादशी साल में दो बार आती है एक श्रावण मास वाली पुत्रदा एकादशी, दूसरी पौष मास वाली पुत्रदा एकादशी यह एकादशी का नाम भी संतान से सम्बन्धित लगता है. ऐसा बताया जाता है कि यह व्रत संतान सुख के लिए किया जाता है. भगवान विष्णु के पूजन-अर्चन विधि विधान से करें. संतान कल्याण व दीर्घायु के लिए भी व्रत रखा जाता है.

इस एकादशी के पीछे एक कथा प्रचलित है. प्राचीन समय में भद्रावती नगरी में सुकेतुमान नाम का एक राजा हुआ करता था. सबकुछ होने के बाद बस उसकी कोई संतान नहीं थी जिससे वह और उसकी पत्नी व पितृगण भी बहुत परेशान रहते थे. आखिर कोई संतान नही है तो पूर्वजों को कौन पिंडदान देगा. उसे चिंता थी कि बिना पुत्र के पितरों और देवताओं से ऋण चुकता नहीं हो सकता. दुखी मन से घोड़े राजा घनघोर जगंल स्थित सरोवर के पास पहुंच गया.

Read More: Premanand Maharaj ji Inspiration Thoughts: प्रेमानन्द महाराज जी ने बताया प्राण प्रतिष्ठा के बाद राम लला की मूर्ति क्यों बदल गयी ! कहा मंत्रों और भावों में है बड़ा सामर्थ्य

जहां 4 से 5 मुनियों की कुटी बनी देखी राजा वहां पहुंचा और सभी मुनियों से हाथ जोड़कर पूछा आप सभी कौन हैं. मुनियों ने कहा राजन आप किस चिंता में है. उन्होंने फिर मुनियों को अपनी व्यथा बताई, उस दिन पुत्रदा एकादशी भी थी. मुनियों ने राजा से कहा आज आप एकादशी का व्रत करें, भगवान हरि की आराधना करें, उनकी असीम अनुकम्पा से आपके घर पुत्र प्राप्त अवश्य होगा. कुछ दिनों बाद ही भगवान की कृपा से रानी ने गर्भधारण किया और राजा को संतान के रूप में तेजस्वी पुत्र की प्राप्ति हुई.

Read More: Premanand Maharaj Pravachan: किन आदतों से घर में लक्ष्मी जी नहीं टिकती ! प्रेमानन्द महाराज जी ने बतायी वजह

ऐसा रहेगा मुहूर्त

पौष पुत्रदा एकादशी 21 जनवरी को है, पंचांग अनुसार 20 जनवरी शाम 7:26 से 21 जनवरी 7:26 शाम तक रहेगी. व्रत पारण का समय 22 जनवरी को 6:56 सुबह से 9:05 है.

Read More: Ram Lala Darshan: रघुनंदन राघव राम हरे ! करिए राम लला के प्रथम दर्शन, जानिए उनकी प्रतिमा की विशेषता

ये है पूजा विधि (Putrada Ekadashi 2024 Kab Hai)

पौष पुत्रदा एकादशी (Paush Putrada Ekadashi) तिथि वाले दिन ब्रह्म मुहूर्त में उठकर सबसे पहले भगवान हरि का ध्यान कर प्रणाम करें. गंगा जल युक्त स्नान-ध्यान करें. पूजन स्थल पर आचमन कर व्रत संकल्प लें और पीले रंग का नवीन वस्त्र धारण करें. सूर्य देव को जल का अर्घ्य दें. इसके पश्चात विधि-विधान से भगवान विष्णु और मां लक्ष्मी की पूजा करें. भगवान विष्णु को पीला रंग अति प्रिय है इसलिए पीले रंग का फूल, फल और मिष्ठान अर्पित करें. पूजा के समय विष्णु चालीसा का पाठ करें. अंत में आरती करें और सुख-समृद्धि, पुत्र प्राप्ति की कामना करें. दिन भर उपवास रखें, संध्याकाल में आरती कर फलाहार करें. एकादशी तिथि पर जागरण करें, इसलिए रात्रि में कम से कम एक प्रहर तक विष्णु जी का ध्यान अवश्य करें. व्रत का पारण स्नान ध्यान कर करें. दान पुण्य जरूर करें.

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Latest News

Shaitaan Movie Teaser: रोंगटे खड़े कर देने वाली 'शैतान' मूवी का टीज़र हुआ रिलीज ! आर. माधवन का ये रूप देख डर गए लोग Shaitaan Movie Teaser: रोंगटे खड़े कर देने वाली 'शैतान' मूवी का टीज़र हुआ रिलीज ! आर. माधवन का ये रूप देख डर गए लोग
डायरेक्टर विकास बहल द्वारा निर्देशित अपकमिंग फिल्म शैतान (Shaitaan) का टीजर रिलीज (Teaser Released) हो चुका है. महज 2 मिनट...
Fatehpur News: फतेहपुर की जेल पहुंचे पुलिस महानिदेशक ! अब बंदी चलाएंगे कंप्यूटर, करेंगे इसकी खेती
Up Police Exam: पुलिस सिपाही भर्ती परीक्षा दोबारा कराए जाने की मांग पर अड़े अभ्यर्थी ! पेपर लीक होने का किया जा रहा दावा
Pm Surya Ghar Muft Bijali Yojana 2024: 300 यूनिट बिजली मिलेगी मुफ्त ! छत पर सोलर पैनल इंस्टाल होने के बाद मिलेगी सब्सिडी, जानिए क्या है पीएम सूर्य घर स्कीम?
Fatehpur News: फतेहपुर में यूपी बोर्ड की मेरिट लिस्ट के लिए अंतर्द्वंद ! सीटिंग प्लान से लेकर कॉपियों में पैसे रखने का बड़ा खेल
Dacoit Seema Parihar: 13 साल की उम्र में चंबल-बीहड़ के ख़तरनाक डाकुओं के चंगुल में आई सीमा परिहार ! कैसे बनी दस्यु सुंदरी? हाथों में चूड़ियों के बजाय पहन लिए हथियार, 30 साल पुराने मामले में हुई सजा
Jaya Kishori: महिला सशक्तिकरण के कार्यक्रम में पहुँची कथावाचक जया किशोरी के साथ बदसलूकी ! सिरफिरा गिरफ्तार

Follow Us