oak public school

Karva Chauth 2021 Puja Niyam:करवा चौथ मनाने के क्या हैं नियम जानें पूरी विधि

करवा चौथ सुहागिन स्त्रियों का सबसे प्रमुख त्योहार होता है.इस साल करवा चौथ 24 अक्टूबर को मनाया जाएगा.आइए जानते हैं करवा चौथ व्रत से जुड़े नियम औऱ पूजा की विधि. Karva chauth 2021 Date Rule And Vidhi

Karva Chauth 2021 Puja Niyam:करवा चौथ मनाने के क्या हैं नियम जानें पूरी विधि
Karva Chauth 2021 सांकेतिक फ़ोटो

Karva Chauth 2021 Puja Ke Niyam: करवा चौथ का व्रत इस साल 24 अक्टूबर को (Karva Chauth 2021 Date) मनाया जाएगा.धीरे धीरे महिलाओं ने इस त्योहार की तैयारी शुरू कर दी है.सुहागिन स्त्रियों का सबसे प्रमुख त्योहार करवा चौथ पूरे देश में बड़े ही हर्षोउल्लास के साथ मनाया जाता है.महिलाएं अपने पति की लंबी आयु के लिए यह व्रत निर्जला रखती हैं.औऱ फिर रात में चन्द्रदर्शन के बाद पति के हांथो जल पीकर अपना व्रत तोड़ती हैं.करवा चौथ के व्रत से जुड़े कुछ नियम होते हैं. आइए जानते हैं. Karva Chauth Puja Vidhi

Karva Chauth 2021 Vrat Puja Niyam करवा चौथ पूजा व्रत नियम

करवा चौथ की पूजा शाम को होती है.इस व्रत में महिलाओं को पूरा श्रृंगार करना चाहिए.महिलाओ को मेहंदी से लेकर सभी सोलह श्रृंगार करने चाहिए. इस व्रत को चंद्रमा के उदय होने तक निर्जला रखना चाहिए और फिर व्रत को पति के हाथ से पानी पीकर तोड़ा जाना चाहिए.हर जगह अपने-अपने रिवाजों के अनुसार व्रत रखा जाता है. Karva Chauth Puja Vidhi

इस व्रत में मिट्टी के करवे लिए जाते हैं और उनसे पूजा की जाती है.महिलाएं पीतल और चांदी के करवे में भी पूजा करती हैं.इसके अलावा करवा चौथ पर करवा माता की कथा सुनना भी बहुत जरूरी है.करवा चौथ की पूजा में भगवान शिव, गणेश, माता पार्वती और कार्तिकेय सहित नंदी जी की भी पूजा की जाती है. पूजा के बाद चंद्रमा को छलनी से ही देखा जाता है और उसके बाद पति को भी उसी छलनी से देखते हैं. Karva Chauth 2021 vrat Niyam vidhi

Read More: Mahashivratri Kab Hai 2024: कब हैं 'महाशिवरात्रि' का महापर्व? क्या है इसके पीछे की कहानी, जानिए पौराणिक महत्व

करवा चौथ 2021 शुभ मुहूर्त (Karva Chauth 2021 Shubh Muhurat)

Read More: Shattila Ekadashi 2024 Kab Hai: जानिए कब है 'षटतिला एकादशी' ! क्या है इस एकादशी का पौराणिक महत्व

इस साल करवा चौथ की पूजा का शुभ मुहूर्त 01 घंटा 17 मिनट का है.आप करवा चौथ के दिन शाम को 05 बजकर 43 मिनट से शाम 06 बजकर 59 मिनट के मध्य चौथ माता यानी माता पार्वती, भगवान शिव, गणेश जी, भगवान कार्तिकेय का विधिपूर्वक पूजन कर लें. इसके बाद चंद्रमा के उदय होने पर उनकी पूजा करें और अर्घ्य दें.इस साल चंद्र उदय का समय समय रात 08 बजकर 07 मिनट पर है. Karva Chauth Niyam In Hindi

Read More: Motivational Quotes Premanand Maharaj: प्रेमानन्द महाराज ने बताई जीवन से जुड़ी अहम बातें ! सच्चा प्रेम तो केवल प्रभू से होता है

Tags:

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Latest News

Fatehpur Shikha Tripathi: फतेहपुर के नलकूप ऑपरेटर की बेटी शिखा त्रिपाठी बनी वैज्ञानिक ! गरीबी नहीं रोक पाई हौसले की उड़ान Fatehpur Shikha Tripathi: फतेहपुर के नलकूप ऑपरेटर की बेटी शिखा त्रिपाठी बनी वैज्ञानिक ! गरीबी नहीं रोक पाई हौसले की उड़ान
उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के फतेहपुर (Fatehpur) अमौली विकास खंड के कुलखेड़ा गांव की रहने वाली शिखा त्रिपाठी ने रक्षा...
Kanpur Crime In Hindi: लग्जरी होटल के कमरे में चल रहा था सट्टे का बड़ा खेल ! विदेश से कौन कर रहा था इन्हें फंडिंग, पुलिस ने भंडाफोड़ करते हुए 3 को किया गिरफ्तार
Lsd 2 Trailer Released: बोल्डनेस के तड़के के साथ लव, सेक्स और धोखा 2 का ट्रेलर हुआ रिलीज ! पहली बार ट्रांसजेंडर मुख्य भूमिका में आएंगी नजर
Vishu Kya Hota Hai: विशु क्या होता है ? मलयाली इसे नववर्ष के रूप में क्यों मनाते हैं, श्री कृष्ण से जुड़ी है आस्था
Haryana Crime In Hindi: ठेके के सेल्समैन से उधार मांग रहा था शराब ! फिर छिड़ा विवाद, सेल्समैन के साथी ने मार दी गोली
Mirzapur Vindhyavasini Temple: क्या है मां विंध्यवासिनी मंदिर और अष्टभुजा कालीखोह मन्दिर का इतिहास ! जानिए पौराणिक मान्यताओं के पीछे की कहानी
Fatehpur AI Voice call Scam: मैं तुम्हारा जीजा बोल रहा हूं ! 16 हज़ार भेज दो, जानिए ठगी का नया तरीका

Follow Us