×
विज्ञापन

UP:यूपी के दो चर्चित IPS अफ़सरों पर दर्ज हुई एफआईआर..लगें हैं गम्भीर आरोप.!

विज्ञापन

यूपी के दो आईपीएस अफसरों पर भ्रष्टाचार के आरोप में एफआईआर दर्ज हुई है..दोनों अफसरों के विरुद्ध विजलेंस की जाँच जारी थी..पढ़ें पूरी खबर युगान्तर प्रवाह पर..

लखनऊ:भ्रष्टाचार के आरोपों में घिरे यूपी के दो चर्चित आईपीएस अफ़सरों अजय पाल शर्मा व हिमांशु कुमार के विरुद्ध शासन की अनुमति से एफआईआर दर्ज हो गई है।साथ ही कथित पत्रकारों चंदन राय, स्वप्निल राय समेत पाँच लोगों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज हुई है।ips ajay pal sharma

ये भी पढ़ें-बिकरु कांड:विकास दुबे की दस बीघे ज़मीन पर कब्ज़ा कर बो दी धान की फ़सल..प्रशासन के होश उड़े.!

दोनों अफसरों के ऊपर लगे आरोपों की जाँच कर रही विजलेंस की टीम ने अपनी जाँच रिपोर्ट अधिकांश आरोप सही पाए थे जिसके बाद शासन की अनुमति से विजलेंस ने दोनों के विरुद्ध भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत एफआईआर दर्ज कराई है।ips himanshu kumar

ये भी पढ़ें-फतेहपुर:शहीद बेटे की आस में पथराई माँ की आँखें..दस दिन बाद भी नहीं पहुंचा शव..साध्वी ने लिखा पत्र.!

विजिलेंस ने इन दोनों अफसरों पर लगे आरोपों की जांच कर शासन से इनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई किए जाने की सिफारिश की थी। शासन की सहमति के बाद एफआईआर दर्ज की गई है। जानकारों का कहना है कि एफआईआर दर्ज होने के बाद अब दोनों ही अफसरों के निलंबन पर जल्द फैसला संभावित है।up two ips officer fir

ये भी पढ़ें-उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री अचल सिंह का निधन.!

उल्लेखनीय है कि नोएडा के एसएसपी रहे वैभव कृष्ण ने पांच आईपीएस अधिकारियों अजय पाल शर्मा, सुधीर कुमार सिंह, राजीव नारायण मिश्रा, गणेश साहा और हिमांशु कुमार पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए थे।आरोप थे कि ये अफ़सर मनचाही जगहों पर आईपीएस अफसरों की पोस्टिंग ट्रांसफर के नाम पर कुछ लोगों के साथ मिलकर लाखों की डील करते थे।

ये भी पढ़ें-UP:योगी सरकार इन आठ जिलों में स्थापित करेगी ग्रीन फ़ील्ड डेयरी.!

शुरुआती जांच में सुधीर कुमार सिंह, राजीव नारायण और गणेश साहा के खिलाफ आरोप साबित नहीं हो सके थे। पर अजय पाल और हिमांशु के खिलाफ पर्याप्त सबूत पाए गए थे।


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।