×
विज्ञापन

UP IAS PCS: यूपी का एक ऐसा गाँव जो पैदा करता है आईएएस हर घर में हैं अधिकारी

विज्ञापन

यूपी में एक ऐसा गाँव हैं जहाँ लगभग हर एक घर से कोई न कोई आईएएस या पीसीएस अधिकारी है।आइए जानतें हैं इस गाँव के बारे में. UP IAS ans PCS News

UP IAS PCS: हर किसी का सपना होता है कि वह आईएएस पीसीएस अधिकारी बनें।लेकिन यह परीक्षा बेहद कठिन होती है।जिसके चलते कुछ लोग ही इस परीक्षा में सफल में हो पाते हैं।लेकिन यूपी में एक ऐसा गाँव हैं जहाँ एक दो नहीं बल्कि क़रीब आधा सैकड़ा लोग यहाँ आईएएस पीसीएस हैं।uttar pradesh ias pcs jaunpur district madhopur patti village big numbers of ias and pcs officer

यूपी के जौनपुर जिले में माधोपट्टी नाम का गांव है। इस गांव में कुल 75 घर हैं। लेकिन अब तक यहां से 47 लोग IAS और PCS बन चुके हैं।स्थिति ये है कि हर घर में कोई ना कई बड़ा अधिकारी मौजूद है। ये कह सकते हैं कि इस गांव का दखल भारत की ब्यूरोक्रेसी में बहुत बड़े स्तर पर है।इनमें से कई लोग पीएम और सीएम ऑफिस में भी अपनी सेवा दे चुके हैं।

विज्ञापन
विज्ञापन

चार भाई आईएएस..

इस गांव में एक ऐसा भी परिवार है, जिसमें चार भाईयों ने सिविल सर्विसेज की परीक्षा पास की है।साल 1955 विनय सिंह ने सफलता हासिल की। इसके बाद उनके भाई छत्रपाल सिंह और अजय कुमार सिंह ने 1964 में ये परीक्षा पास की। इसके बाद साल 1968 सबसे छोटे भाई शशिकांत सिंह ने परीक्षा पास करके इतिहास ही रच दिया।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक,  प्रशासनिक सेवा अधिकारी  बनने की शुरुआत इस गांव में साल 1952 से हो गई थी।तब पहली बार इंदू प्रकाश सिंह ने IAS की दूसरी रैंक हासिल की थी।इंदू प्रकाश सिंह ने अपने करियर काफी ऊंचाईयां हासिल की। वह  फ्रांस सहित दुनिया के कई देशों में भारत के राजदूत भी रहे।इसके बाद गांव में युवाओं के बीच एक किस्म की प्रतिस्पर्धा शुरू हो गई। यह सिलसिला आज तक चला रहा है।

ये भी पढ़ें- Fatehpur UP News: फतेहपुर की देवांशिका सिंह ने अधिकारी बन ज़िले का नाम किया रोशन

ये भी पढ़ें- UP Lockdown News Updates: यूपी में फिर बढ़ सकता है Lockdown गांवों में फैल रहा है कोरोना।


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।