×
विज्ञापन

Fatehpur news:ज़मीनी विवाद में बीच शहर हुआ तांडव तमाशबीन बनी रही पुलिस

विज्ञापन

यूपी के फतेहपुर में इन दिनों ज़मीनों पर अवैध कब्जों को लेकर आए दिन विवाद हो रहें हैं,लेकिन ऐसा लग रहा है पुलिस इसको लेकर कतई गम्भीर नहीं है.ताज़ा मामला ज़िले की एक वरिष्ठ भाजपा नेत्री से जुड़ा हुआ है.पढ़ें पूरी खबर युगान्तर प्रवाह पर..

फतेहपुर:यूपी के फतेहपुर में एक बार फ़िर पुलिस का इकबाल घुटनों के बल बैठा नज़र आ रहा है!पुलिस की मौजूदगी में बीच शहर जिस तरह से अराजकता फैलाने की कोशिस की गई है उससे कंही न कंही नए पुलिस कप्तान सतपाल अंतिल की भी तेज तर्रार वाली छवि धूमिल हुई है।fatehpur news

ये भी पढ़ें- Fatehpur news:ननद के घर पहुँचीं भाभी के साथ अश्लील हरक़त

क्या है पूरा मामला..

दरअसल मामला ज़मीन के विवाद का है, भाजपा महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष गायत्री सिंह ने सदर कोतवाली में पूर्व छात्र नेता स्वरूप राज सिंह जूली, मनीष, टूली, राज्यवर्धन सिंह, मानिक गुप्ता, अखंड प्रताप सिंह, प्रबल सिंह समेत उनके आधा सैकड़ा अज्ञात साथियों के विरुद्ध डकैती आदि की सम्बंधित धराओं में एफआईआर दर्ज कराई है। fatehpur gayatri singh news

शहर के उत्तरी गौतम नगर में रहने वाली भाजपा नेत्री ने पुलिस को दी गई तहरीर में आरोप लगाया है कि उनके निर्माणाधीन मकान में अवैध कब्ज़े की नियत से 50-60 लोग घर के अंदर घुस आए स्वरूप राज सिंह जूली औऱ उसके भाई व सहयोगी रॉयफल औऱ बंदूकें लिए हुए थे।Fatehpur news

गायत्री सिंह ने यह भी बताया है कि उक्त लोगों ने उनके बेटे के सीने पर रॉयफल तान दी औऱ सोने की चैन आदि लूट ली और मकान के निर्माणधीन हिस्से को गिरा दिया।औऱ जान से मारने की धमकियां दीं।

विज्ञापन
विज्ञापन

घटना के वीडियो खोल रहे पुलिस की पोल..

इस पूरे मामले के कुछ वीडियो भी सोमवार को सोशल मीडिया पर वायरल हुए हैं, जिसमें साफ साफ़ देखा जा सकता है कि जिस वक़्त भीड़ जमा थी औऱ गाली गलौच हो रहा था उस दौरान पुलिस भी मौजूद थी लेकिन वह खड़े खड़े पूरा तमाशा देखती रही।

मामले के बाबत अपर पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार (Asp rajesh kumar) ने बताया है कि दो पक्षों के बीच ज़मीन के विवाद में गाली गलौच हुई है जिसका वीडियो वायरल हुआ है, तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज आगे की कार्यवाही की जा रही है।


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।