×
विज्ञापन

Narendra Giri Suicide Note:तो आनंद गिरी वायरल करने वाला था लड़की के साथ आपत्तिजनक फ़ोटो.!

विज्ञापन

महंत नरेंद्र गिरी (Mahant Narendra Giri) का सुसाइड नोट (Narendra giri suicide Note) मंगलवार शाम पुलिस ने जारी कर दिया.सुसाइड नोट में नरेंद्र गिरी की तरफ़ से जो बातें लिखी गईं हैं वह काफ़ी सनसनीखेज औऱ चौंकाने वाली है.शिष्य आनंद गिरी,(Anand Giri) हनुमान मंदिर के पुजारी आद्या तिवारी औऱ उसके पुत्र संदीप तिवारी को इस नोट के अनुसार नरेंद्र गिरी ने अपनी मौत (Narendra Giri Death News) का जिम्मेदार बताया है.

Narendra Giri Suicide Note:महंत नरेंद्र गिरी मौत मामले में मंगलवार को पुलिस ने बरामद किए गए सुसाइड नोट को सार्वजनिक कर दिया। आठ पेज लंबे इस सुसाइड नोट (Narendra Giri Suicide Note) में नरेंद्र गिरी ने कई चौंकाने वाले व सनसनीखेज खुलासे किए हैं।उन्होंने अपने शिष्य आनंद गिरी, हनुमान मंदिर के पुजारी आद्या तिवारी औऱ उसके पुत्र संदीप तिवारी को अपनी मौत का जिम्मेदार ठहराया है।उपरोक्त तीनो लोगों को पुलिस ने सोमवार को ही हिरासत में ले लिया था।पुलिस कस्टडी में तीनों से पुलिस लगातार पूछताछ कर रही है। Narendra Giri Suicide Note Viral Photo

विज्ञापन
विज्ञापन

तो वायरल हो जाती फ़ोटो..

नरेंद्र गिरी को अपनी बदनामी का डर सता रहा था।यह बात सुसाइड नोट से स्पष्ट हो गई है।उन्होंने इस सुसाइड नोट में साफ तौर पर लिखा है कि उन्हें हरिद्वार से सूचना मिली थी कि आनंद गिरी कम्यूटर के ज़रिए मेरी ( नरेंद्र गिरी) फ़ोटो (Narendra Giri Viral Photo With Girl) को एक लड़की के साथ गलत काम करते हुए बनाकर वायरल करने वाला है।जिससे मेरी बदनामी होती, जब तक सच्चाई सबके सामने आती मेरी बदनामी हो जाती मैं कहां कहां सफाई देता फिरता। Suicide Note Narendra Giri

उन्होंने लिखा कि मैं जिस पद पर हूँ वह बहुत गरिमामयी है।सच्चाई तो लोगों को बाद में पता चलती पहले मैं बदनाम हो जाता।इस लिए मैं आत्महत्या करने जा रहा हूँ।मेरी मौत के जिम्मेदार आनंद गिरी, आद्या तिवारी औऱ उसके लड़के सन्दीप तिवारी हैं।

13 सितंबर को करने वाले थे आत्महत्या..

महंत नरेंद्र गिरी अपने सुसाइड नोट में यह भी लिखा है कि मैं पहले 13 सितंबर को ही आत्महत्या करने जा रहा था।लेकिन हिम्मत नहीं पड़ी। Narendra Giri Full Suicide Note

इस बात की पुष्टि सुसाइड नोट में पड़ी तारीख़ से भी होती है।क्योंकि इस नोट में पहले 13 सितम्बर की तारीख़ पड़ी थी जिसको काटकर फ़िर 20 सितम्बर किया गया है। Narendra Giri Original Suicide Note

बलबीर गिरी को सौंपी गद्दी.. Balbeer Giri

इस सुसाइड नोट में बाघम्भरी मठ का अगला महंत कौन होगा यह भी नरेंद्र गिरी की तरफ़ से लिखा गया है।उन्होंने शिष्य बलदेव गिरी को अपना उत्तराधिकारी घोषित किया है। Narendra Giri Suicide Note

साथ ही उन्होंने बलदेव गिरी से अनुरोध किया है कि मेरी मौत के बाद मेरी सेवा में रहे मिथलेश पांडेय, रामकृष्ण पांडेय, मनीष शुक्ला, शिवम कुमार मिश्रा, अभिषेक कुमार मिश्रा, उज्ज्वल द्विवेदी, प्रज्ववल द्विवेदी, अभय द्विवेदी, निर्भय द्विवेदी, सुमित तिवारी का ध्यान देना।उन्होंने लिखा है कि जिस तरह से मेरे समय मे ये रहे हैं उसी तरह इनको रखना। Narendra Giri Suicide Note

ये भी पढ़ें- Narendra Giri Death:सीबीआई जाँच की माँग शिष्य आनंद गिरी ने बताया साज़िश पुलिस के कई बड़े अधिकारी भी हो सकते हैं शामिल

ये भी पढ़ें- Narendra Giri Death:भावुक हुईं केंद्रीय मंत्री कहा होगी निष्पक्ष जाँच देखें वीडियो


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।