×
विज्ञापन

बंगाल में आया अंफ़न तूफ़ान कोरोना से भी बड़ा ख़तरा है..!

विज्ञापन

बुधवार शाम पश्चिमी बंगाल में आए अंफ़न तूफ़ान ने भारी तबाही मचाई है..ममता बनर्जी ने इसे कोरोना से बड़ा खतरा बताया है..पढ़े पूरी खबर युगान्तर प्रवाह पर।

डेस्क:वैश्विक महामारी कोरोना से जूझ रहे भारत के पश्चिम बंगाल राज्य में बुधवार को आए तूफ़ान ने भयंकर तबाही मचाई है।हवा में उड़ते ट्रकों, उड़ती घरों की छतों और उड़ते पेड़ो का भयावह मंजर जिस किसी ने भी देखा है उसकी रूह कांप गई है।

अंफ़न नाम के इस तूफ़ान से प्रदेश में अब तक 72 लोगों के मौत की पुष्टि हुई है।हालांकि मौत का यह आंकड़ा कुछ और ज़्यादा हो सकता है।

ये भी पढ़े-कोरोना:फतेहपुर में दो और पाज़िटिव मिले..आंकड़ा पहुँचा 31..अब तक 6 हुए ठीक..!

राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सभी मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख की मदद का ऐलान किया है।

तूफ़ान के कारण होने वाले जान-माल के नुक़सान को देखते हुए ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बंगाल का दौरा करने की अपील की है।

बीबीसी की एक रिपोर्ट के अनुसार एक स्थानीय 78 साल के कुशल सरकार कहते हैं, "मैंने अपने जीवन में कभी ऐसा भयावह तूफ़ान नहीं देखा था। लगता था कि आज जीवित बचना मुश्किल है। मेरी आंखों के सामने कई पेड़ गिरे. हवाओं का गर्जन दिल में कंपकपी पैदा कर रहा था।"

ये भी पढ़े-coronavirus:कोरोना का नया मरकज़ बना यूपी का यह जिला..एक ही दिन में 95 मामले..!

तूफ़ान के साथ आई भंयकर बारिश ने स्थित को और भी भयावह कर दिया है।मौसम विभाग के निदेशक जीसी दास बताते हैं, "बुधवार रात आठ से दस बजे के बीच दो घंटे में 222 मिमी बारिश रिकार्ड की गई है।"

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी कहती हैं कि- "अब तक मैंने अपने जीवन में तूफ़ान से किसी महानगर को इतने बड़े पैमाने पर नुक़सान पहुँचते नहीं देखा है।तीन लाख से ज़्यादा लोगों को सुरक्षित स्थानो पर पहुंचाने की वजह से जान का नुक़सान तो कम हुआ है लेकिन संपत्ति का नुक़सान कल्पना से परे है।"

मौसम विभाग के क्षेत्रीय निदेशक जीसी दास बताते हैं, "अंफन की गति आख़िर में बढ़ जाने की वजह से वह समय से पहले ही बांग्लादेश की ओर मुड़ गया।अगर ऐसा नहीं होता तो बंगाल में इसकी विनाशलीला की कल्पना करना भी मुश्किल था।"


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।