×
विज्ञापन

Bakrid Guidelines UP:बकरीद पर कुर्बानी को लेकर सीएम योगी ने जारी किए सख्त निर्देश उल्लंघन पर जेल

विज्ञापन

बकरीद का त्योहार मुस्लिम समुदाय द्वारा पूरे भारत में रविवार को हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है.इस त्योहार में मुस्लिम धर्म को मानने वाले लोग पशुओं की कुर्बानी देते हैं.कुर्बानी को लेकर सीएम योगी ने सख़्त दिशा निर्देश जारी किए हैं. Bakrid Guidelines In UP 2022 CM Yogi Instructions On Bakrid

Bakrid News:मुस्लिम समुदाय द्वारा रविवार को बक़रीद का त्योहार हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है. इस पर्व पर होने वाली पशुओं की कुर्बानी औऱ उससे फैलने वाली गंदगी को लेकर सीएम योगी ने सख़्त दिशा निर्देश जारी किए हैं.

योगी आदित्यनाथ सरकार का स्पष्ट निर्देश है कि कोई भी बकरीद पर कुर्बानी का फोटो या फिर वीडियो को वायरल ना करे.कहीं पर भी कुर्बानी की फोटो या वीडियो वायरल करने वाले पर एक्शन लिया जायेगा.इतना ही नहीं ऐसा करने वाले को जेल भी भेजा जा सकता है.

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कुर्बानी के बाद फोटो या वीडियो वायरल करने या फिर शरारतपूर्ण बयान जारी करने वालों के साथ जीरो टॉलरेंस की नीति के साथ कड़ाई से पेश आएं.कहीं पर भी माहौल खराब करने की कोशिश करने वाले अराजक तत्वों के साथ पूरी कठोरता की जाए.शरारती तत्व दूसरे सम्प्रदाय के लोगों को अनावश्यक उत्तेजित करने की कोशिश कर सकते हैं, ऐसे मामलों पर नजर रखें.संवेदनशील क्षेत्रों में अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती की जाए.

साफ़ सफ़ाई की व्यवस्था सुनिश्चित करें..

सीएम योगी ने कहा कि बकरीद पर कुर्बानी के दौरान भी हमको निर्धारित स्थल तथा समय का ध्यान रखना होगा. अधिकारी सुनिश्चित करें की किसी भी सार्वजनिक स्थल, सड़क या फिर चौराहा पर कुर्बानी ना हो. किसी भी प्रतिबंधित पशु की कुर्बानी ना हो.कुर्बानी के बाद सालिड वेस्ट का तत्काल ही निर्धारण हो.इसको चाहे आयोजक करें या फिर नगर निगम तथा नगर निकाय करें. कुर्बानी के बाद तत्काल सफाई की व्यवस्था हो.सालिड वेस्ट को ऐसे स्थान पर ना रखा जाए, जहां से बदबू फैले. इसको बस्ती या आबादी से दूर रखा जाए.

ये भी पढ़ें- Sadhana Gupta Death: मुलायम सिंह यादव की पत्नी साधना गुप्ता के पार्थिव शरीर के अंतिम दर्शन के लिए पहुँचें सीएम योगी आदित्यनाथ

ये भी पढ़ें- Cloudburst Explain In Hindi: क्या होता है बादल का फटना आइए समझते हैं आसान भाषा में


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।