Dr Vikas Divyakirti Biography In Hindi: जानिए कौन हैं डॉक्टर विकास दिव्यकीर्ति, जो IAS की नौकरी छोड़ बन गए शिक्षक, आज लाखों में हैं फॉलोअर्स

IAS Vikas Divyakirti: आईएएस अफसर का सपना संजोए स्टूडेंट्स UPSC परीक्षा की तैयारी के लिए दिल्ली जाकर कोचिंग करते हैं. डॉक्टर विकास दिव्यकीर्ति जिनके आज सोशल मीडिया पर लाखों फॉलोवर्स है. एक वर्ष आईएएस अफसर जैसे पद पर नौकरी करने के बाद इस्तीफा दे चुके हैं और शिक्षक बन दृष्टि आईएएस कोचिंग संस्थान के संस्थापक हैं. विकास सरल हिंदी भाषी उम्मीदवारों को कोई भी विषय बड़े ही आसानी से समझाते हैं. उनके यूपीएससी से सम्बंधित वीडियोज़ स्टूडेंट्स में प्रेरणा भरते हैं.

Dr Vikas Divyakirti Biography In Hindi: जानिए कौन हैं डॉक्टर विकास दिव्यकीर्ति, जो IAS की नौकरी छोड़ बन गए शिक्षक, आज लाखों में हैं फॉलोअर्स
डॉ0 विकास दिव्यकीर्ति बायोग्राफी इन हिंदी : फोटो साभार सोसल मीडिया

हाईलाइट्स

  • डॉक्टर विकास दिव्यकीर्ति दृष्टि आईएएस कोचिंग संस्थान के संस्थापक
  • आईएएस की नौकरी छोड़ बन गए शिक्षक,यूपीएससी की तैयारी करने वाले छात्रों के लिए बने प्रेरणास्रोत
  • यूट्यूब चैनल पर लाखों सब्सक्राइबर, 10 लाख फॉलोअर्स

Dr Vikas Divyakirti Biography In Hindi: आईएएस अफसर बनने का सपना लगभग हर किसी का होता है. यहां तक पहुंचने के लिए UPSC क्रैक करना ज़रूरी है. पढ़ाई हालांकि इसकी बहुत आसान नहीं होती और बिना अच्छे शिक्षक की सलाह के बिना इस परीक्षा को क्रैक करना मुश्किल होता है.

आज जिनकी हम बात करने जा रहे हैं वे मार्गदर्शक के साथ ही हिंदी भाषी उम्मीदवारों के लिए गुरु द्रोणाचार्य से कम नहीं है. खुद पहले ही अटेम्प्ट में यूपीएससी क्रैक कर आइएएस अफसर बने फिर अपनी नौकरी से इस्तीफा देकर युवाओं को इस ओर आगे बढाने का बीड़ा उठा रहे हैं. हम बात कर रहे हैं डॉ0 विकास दिव्यकीर्ति की जिनके आज सोसल मीडिया में लाखों फॉलोवर्स हैं. 

डॉक्टर विकास दिव्यकीर्ति शिक्षक बन कर रहे छात्रों का भविष्य उज्ज्वल

डॉक्टर विकास दिव्यकीर्ति जिन्होंने आईएएस अफसर की नौकरी त्याग कर शिक्षक बनना ज्यादा उचित समझा. डॉक्टर विकास (IAS Dr Vikas Divyakirti) समाज के लिए एक बड़ा उदाहरण है. वे दिल्ली में खुद की दृष्टि आईएएस (Dristi IAS) कोचिंग के संस्थापक भी है. उनके यूपीएससी के लेक्चर और पढ़ाने के तरीके का हर कोई मुरीद है. तभी स्टूडेंट्स इन्हें यूपीएससी का द्रोणाचार्य मानते हैं. 

Read More: Paytm Bank Ban: RBI के इस फैसले के बाद रातों-रात PAYTM के गिरे शेयर ! पेटीएम पेमेंट बैंक पर आरबीआई का एक्शन, यूजर्स हुए कन्फ्यूज

हिंदी से डॉक्टर विकास को रहा गहरा लगाव (Dr Vikas Divyakirti)

Read More: Girl Parenting Tips: बेटियों की बेहतर परवरिश के लिए पैरेंट्स इन बातों का रखें ख्याल ! होगा नाज़

यूपीएससी (UPSC) जैसी कठिन परीक्षा की तैयारी को लेकर लाखों की संख्या में छात्र कोचिंग संस्थान पहुंचते हैं, इसी कठिन परीक्षा को पहली ही बार में क्रैक करने वाले डॉक्टर विकास दिव्यकीर्ती एक मिसाल हैं, जिन्होंने आईएएस की नौकरी छोड़ शिक्षक बनने का बीड़ा उठाया. डॉक्टर विकास दिव्यकीर्ति हरियाणा से आते हैं, उनका जन्म 26 दिसम्बर 1973 को हरियाणा में हुआ था, उनके माता-पिता दोनों ही हिंदी साहित्य के प्रोफेसर थे. बचपन से ही विकास पढ़ने में बहुत ही मेधावी रहे. माता-पिता हिंदी साहित्य के प्रोफेसर होने के चलते विकास को भी शुरुआत से हिंदी से गहरा लगाव रहा.

Read More: Ram Mandir Pran Pratishtha Holiday: प्राण-प्रतिष्ठा के दिन देश भर में आधे दिन की सरकारी छुट्टी का एलान

ऐसी रही उनकी शिक्षा (Dr Vikas Divyakirti Education)

डॉक्टर विकास ने दिल्ली यूनिवर्सिटी से बीए हिंदी साहित्य में एमए, एमफिल और पीएचडी किया है. दिल्ली से ही और भारतीय विद्या भवन से अंग्रेजी से हिंदी अनुवाद में पीजी किया. 17 वर्ष की उम्र में उन्होंने सेल्समेन की नौकरी की फिर अपने भाई के साथ प्रिंटिंग कम्पनी शुरू की थी. डॉक्टर विकास की गणित बहुत अच्छी थी, जबकि अंग्रेजी में उन्हें बड़ी परेशानी आती रही. हालांकि दसवीं तक पहुंचने पर उनकी अंग्रेजी में सुधार हुआ. 

यूपीएससी किया क्रैक, आईएएस बनने के बाद एक वर्ष बाद दे दिया नौकरी से इस्तीफा

डाक्टर विकास ने अपनी नौकरी की शुरुआत दिल्ली विश्वविद्यालय में एक शिक्षक के रूप में की. वर्ष 1996 में ही उन्होंने पहले ही अटेम्प्ट में यूपीएससी परीक्षा क्रैक कर लिया. 26 मई 1997 को UPSC के इंटरव्यू और रिजल्ट के बीच उन्होंने शादी भी कर ली. 4 जून 1998 को यूपीएससी का फाइनल रिजल्ट आया जिसमें उनकी 384 रैंक आई. उस वक्त IAS की 56 और IPS की 36 सीटें थी. इसलिए इन्हें सेंट्रल सेक्रेटेरियल सर्विस(CSS)ऑफर की गई .1999 में सेंट्रल सेक्रेटेरियल सर्विस जॉइन कर ली, डाक्टर विकास का लगता है और कोई सपना था इसलिए बीच में ही इतनी बड़ी नौकरी से इस्तीफा दे दिया और शिक्षक बन गए.

1999 में खुद खोली यूपीएससी तैयारी के लिए कोचिंग

फिर उन्होंने अपनी कोचिंग संस्थान को ओपन कर छात्रों को यूपीएससी की तैयारी कराने का बीड़ा उठाया. 1999 में दिल्ली में दृष्टि आईएएस (Drishti IAS) कोचिंग इंस्टीट्यूट की शुरुआत की. डॉक्टर विकास बहुत ही सरल और हिंदी भाषी में सभी विषयों को बड़े ही आसानी से समझाते हैं, तैयारी करने वाले छात्र भी उनके पढ़ाने के तरीके के मुरीद होने लगे. विकास उन छात्रों के लिए हमेशा मार्गदर्शक रहे जिन्हें अंग्रेजी भाषा में दिक्कत रही. हिंदी भाषी विषयों को बड़े ही सहजता से छात्रों को समझाते हैं. तभी छात्र भी उन्हें अपना द्रोणचार्य मानते हैं.

लाखों में हैं फॉलोवर्स (Dr Vikas Divyakirti Biography)

आज उनके यूट्यूब चैनल में लगभग 90 लाख सब्सक्राइबर्स हैं, जबकि इंस्टाग्राम पर 10 लाख से ज्यादा फॉलोवर्स हैं. आप यदि यूपीएससी (UPSC) परीक्षा की तैयारी कर रहे है तो डाक्टर विकास दिव्यकिर्ति के वीडियो को देखकर आप मोटिवेट हो सकते हैं. हिंदी भाषी में बढ़िया कमांड के साथ उनके वीडियो को देखें जिससे आपको यूपीएससी की तैयारी में लाभ मिलेगा

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Latest News

History Of Bhangarh Fort: भानगढ़ किला भारत का सबसे हांटेड प्लेस ! जहाँ शाम होने के बाद नहीं मिलता प्रवेश, क्योंकि रात में सजती है भूतों की महफ़िल History Of Bhangarh Fort: भानगढ़ किला भारत का सबसे हांटेड प्लेस ! जहाँ शाम होने के बाद नहीं मिलता प्रवेश, क्योंकि रात में सजती है भूतों की महफ़िल
हम सभी अक्सर बचपन से भूत-प्रेत की कहानियां (Horror Stories) और किस्से सुनते आ रहे है. लेकिन इन पर कुछ...
Parenting Tips: बच्चों की बेहतर परवरिश और उनके भविष्य को संवारने के लिए अपनाएं ये टिप्स
Aaj ka Rashifal 26 फरवरी 2024: इस राशि के जातक को पुराना पैसा मिल सकता है ! जानिए सभी राशियों का Kal Ka Rashifal
Oneplus 12R Refund: वनप्लस 12R सीरीज में आई ये समस्या ! अब कंपनी देगी फुल रिफण्ड, बस करना होगा ये काम
Kaushambi Patakha Blast: कौशाम्बी की पटाखा फैक्ट्री में ब्लास्ट ! 4 की मौत, कई घायल, बढ़ सकती है मौत की संख्या
UP Gehu Kharid 2024-25: यूपी में गेहूं खरीद पर बड़ी अपडेट ! इस तारीख़ से खुलेंगे सेंटर, जाने गेहूं का प्राइस
India Vs England Test Series: रांची टेस्ट में भारत मजबूत स्थिति में ! अश्विन और कुलदीप की फिरकी के आगे पस्त हुए अंग्रेज, भारत जीत से 152 रन दूर

Follow Us