Lucknow KGMU News: अब इलेक्ट्रिक शॉक देकर शराबियों की छुड़ाई जा रही शराब की लत ! बेहतर आ रहे परिणाम

शराब की लत ऐसे छूटेगी

यूपी के लखनऊ किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी यानी केजीएमयू (Kgmu) द्वारा किया जा रहा एक इलाज (Treatment) काफी सुर्खियां बटोर रहा है. दरअसल यहाँ के डॉक्टरों द्वारा शराब की लत (Addict Alcohol) छुड़वाने के लिए एक खास तकनीक (Technology) का इस्तेमाल किया जा रहा है. डॉक्टरों की माने तो इसका लाभ भी मिल रहा है. डॉक्टरों द्वारा बिजली का झटका (Electric Shock) देकर शराबियों की यह लत छुड़ाई जा रही है इस तरह की तकनीक को ट्रांसकार्नियल डायरेक्ट करंट स्टिमुलेशन (Transcarnial direct Current Stimulation) कहते हैं.

Lucknow KGMU News: अब इलेक्ट्रिक शॉक देकर शराबियों की छुड़ाई जा रही शराब की लत ! बेहतर आ रहे परिणाम
शराब की लत छुड़ाने की तकनीकी, केजीएमयू, फोटो साभार सोशल मीडिया

इलेक्ट्रिक शॉक देकर छुड़ाई जा रही शराब की लत

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ (Lucknow) में इस तरह का विशेष इलाज (Special Treatment) किया जा रहा है जहां पर डॉक्टर द्वारा शराब छुड़वाने के लिए शराबियों को इलेक्ट्रिक करंट दिया जा रहा है. डॉक्टरों की माने तो अभी तक 17 मरीज को शराब की लत से निजात दिलाई जा चुकी है. इसके बाद से अब उन्हें अच्छा रिस्पांस भी मिल रहा है केजीएमयू के डॉक्टरों के द्वारा किया जा रहा इस तरह का इलाज अब चर्चा का विषय बना हुआ है.

कैसे काम करती है यह तकनीक

इसमें परंपरागत रूप से प्रयोग होने वाली इलेक्ट्रोथेरेपी के जरिए मरीज को पहले बेहोश किया जाता है. उसके बाद उसे करंट दिया जाता है दरअसल सबसे पहले मरीज को डॉक्टर द्वारा मरीज को बेहोश किया जाता है फिर उसके सिर के कुछ हिस्सों में खास तरह के इक्विपमेंट्स लगाकर उसमें करंट दिया जाता है ऐसा करने से मरीज को एक विशेष तरह की टिक टिक की आवाज सुनाई देती है बात की जाए करंट देने वाले क्षमता की तो इसमें दो मिली एंपियर का पावर दिया जाता है.

दो दर्जन से ज्यादा मरीजों पर किया गया सफल परीक्षण

इस तकनीक के जरिए अभी तक डॉक्टरों द्वारा 34 मरीजों को दो समूह में बांटा गया उनके सिर पर इक्विपमेंट्स लगाए गए साथ ही पहले समूह के मरीजों को इलेक्ट्रिक शॉक (Electric Shock) दिया गया. इसके बाद एक सप्ताह में 20 मिनट के 5 सेशन के बाद जब इसका एग्जामिन किया गया तब पता चला की नई तकनीक से करंट देने वाले सभी मरीजों में शराब की लत पूरी तरह से छूट चुकी है साथ ही इसका कोई साइड इफेक्ट भी नहीं (No Side Effect) है.

डॉक्टर ने बताया इस तरह से तकनीकी का करते है प्रयोग

वही जीएमसी के वरिष्ठ डॉक्टर अमित आर्य ने बताया कि मस्तिष्क इलेक्ट्रिक अंग है, साथ ही यह इलेक्ट्रिक सिग्नल पास करता है सिग्नल में कुछ समस्या होने पर किसी चीज की लत लग जाती है और जब वह चीज उसे व्यक्ति को नहीं मिलती है तो इससे उसके दिमाग में स्ट्रेस आ जाता है इसीलिए दिमाग के कुछ विशेष हिस्सों में बिजली का करंट देकर इस सिग्नल को पहले की भांति व्यवस्थित किया जाता है जिसमें मरीज पहले की अवस्था में वापस आ जाता है जिस वजह से उसकी शराब की लत भी छूट रही है.

Read More: Munawwar Rana Passes Away: दिल को छू लेती थीं इनकी शेरों-शायरियां ! मशहूर शायर मुनव्वर राना का लंबी बीमारी के चलते निधन, राम मंदिर पर फैसले से भी थे ख़फ़ा

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Latest News

Fatehpur Sadar Asptal: मैं मना करती रही और वो हथौड़ी चलाता रहा ! डॉक्टर की करतूत बताते हुए भावुक हो गई सिस्टर इनचार्ज Fatehpur Sadar Asptal: मैं मना करती रही और वो हथौड़ी चलाता रहा ! डॉक्टर की करतूत बताते हुए भावुक हो गई सिस्टर इनचार्ज
उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के फतेहपुर (Fatehpur) मेडिकल कॉलेज से संबद्ध सदर अस्पताल के डॉ0 शरद (Dr Sharad) की ऐसी...
Cardiac Arrest: कार्डियक अरेस्ट आने पर नहीं मिलता है जान बचाने का मौका ! इसलिए हो जाइए सचेत
Lucknow News: दूल्हे को नहीं भा रहे थे पण्डित के मंत्र ! फिर बौखलाए दूल्हे ने पुरोहित को जमकर पीटा, फिर हुआ ये
Kanpur Crime In Hindi: एक लाख का इनामिया हिस्ट्रीशीटर अजय ठाकुर को क्राइम ब्रांच ने राजधानी दिल्ली से किया गिरफ्तार
Akhilesh Yadav News: बोले अखिलेश ! चुनाव आते ही नोटिस आने लगते हैं, सीबीआई के सामने नहीं होंगे पेश, जानिये किस मामले में भेजा गया समन?
Kanpur Crime In Hindi: लापता किशोरियों के बेर के पेड़ पर झूलते मिले शव ! परिजनों ने लगाए भट्टे ठेकेदार पर गम्भीर आरोप
Who Is Kanpati Maar Shankariya: कनपटी मार किलर जिसने 25 साल की उम्र में किए 70 कत्ल ! कोर्ट ने पांच महीने में दी फांसी, जानिए उसने मरने से पहले क्या कहा

Follow Us