Pitru Paksha Niyam 2023: पितृ पक्ष Shradh में गलती से भी न करें यह काम ! पितर हो गए रुष्ट तो भुगतना पड़ सकता है बड़ा अंजाम

Pitru Paksha Shradh 2023: हिन्दू मान्यता के अनुसार हमारे जीवन में पितृपक्ष का अहम योगदान है, और साल में कुछ दिन ऐसे होते है, जो हमारे पितरों को समर्पित होते है. 16 दिनों तक चलने वाले इन दिनों में बेहद सावधानियां बरती जाती है, कहते हैं कि, इन दिनों किसी तरह की गलती होने पर पितृ नाराज हो जाते है. जिस वजह से इसका खामियाजा उनके परिजनों को भुगतना पड़ सकता है. हिंदी पांचांग के अनुसार 29 सितंबर यानी आज से शुरू हो गए है, इसका समापन 14 अक्टूबर यानी अश्विन कृष्णा अमावस्या तिथि को होगा, पितृ पक्ष में किन बा

Pitru Paksha Niyam 2023: पितृ पक्ष Shradh में गलती से भी न करें यह काम ! पितर हो गए रुष्ट तो भुगतना पड़ सकता है बड़ा अंजाम
पितृ पक्ष के नियम, फोटो साभार सोशल मीडिया

हाईलाइट्स

  • पितृ पक्ष में गलती से भी न करें ऐसे कार्य, वरना पितर हो जाएंगे नाराज
  • नाराज हुए पितर तो परिजनों को लगेगा दोष, इन बातों का करें पालन
  • ब्रम्हचर्य का करें पालन, घर में किसी से झगड़ा न करे, तामसी भोजन न करें

Do not do these things even by mistake during Pitru Paksha : पितृपक्ष की शुरुआत हो चुकी है, वही इन 16 दिनों में बहुत सी सावधानियां बरतने की जरूरत होती है. इन दिनों में कोई भी ऐसा कार्य न करें, जिससे आपके पितर नाराज हो जाए, क्योंकि यदि आपके पितर नाराज हो गए तो परिजनों पर ही दोष लगता है. पितृपक्ष में कुछ ऐसी बातें हैं, जिसमें विशेष रूप से हमें ध्यान देने की आवश्यकता है, चलिए आपको बताते हैं कि पितृपक्ष जैसे पावन पर्व पर क्या वर्जित बताया गया है.

पितृ पक्ष में शारीरिक संबंध बनाएं या नहीं

बहुत से लोगों के मन में यह सवाल बना रहता है कि पितृपक्ष में महिला और पुरुष शारीरिक संबंध बनाएं या नहीं तो आपको बता दें कि हिंदू मान्यता के अनुसार यदि इन दिनों में पति और पत्नी शारीरिक संबंध न बनाये तो बेहतर होगा. ऐसा कहा जाता है कि, गर्भ धारण करने से संतान को सेहत की समस्या हमेशा बनी रहती है, कुछ मामलों में तो ऐसा भी होता है कि, संतान दिव्ययांग भी हो सकती है. इसलिए ब्रह्मचर्य का पालन करें. यदि इसका पालन न किया तो पितर नाराज होकर चले जाते है फिर दोष परिजनों व बच्चों पर आता है.

इसके अलावा भी कई ऐसी तिथियां है पितृ पक्ष के अलावा भी, जिनमें से एक दूसरे के करीब आने से बचना चाहिए. इन तिथियों में पूर्णिमा, अमावस्या, संक्रांति, नवरात्रि के नौ दिन, चतुर्थी, अष्टमी, रविवार के साथ ही जिस दिन व्रत के हो उस दौरान शारीरिक संबंध न बनाएं.

Read More: Basant Panchami (2024) Kab Hai: कब है बसंत पंचमी का पर्व? क्यों मनायी जाती है बसंत पंचमी ! जानिए क्या है इसके पीछे का पौराणिक महत्व और कथा

घरेलू हिंसा न हो

Read More: Sculptor Arun Yogiraj News: मूर्तिकार अरुण योगिराज बोले ! एक पल के लिये लगा बदल गयी मूर्ति, कहा मैं बहुत भाग्यशाली हूँ, बंदर वाला बताया किस्सा

ऐसा माना जाता है कि इन दिनों में यदि घर में आपसी मतभेद घरेलू कलह पत्नी से झगड़ा,बच्चों के साथ मारपीट इस तरह की घटनाओं से परहेज करना चाहिए, नही तो ये सारे दृश्य देखकर पितृ काफी नाराज होते है, इसलिए इन दिनों जितना हो सके छोटो को प्यार और बड़ो का आशीर्वाद लेते रहे ऐसा करने से पूर्वजो को शांति मिलती है. जिससे वे प्रसन्न होते हैं.

Read More: Abu Dhabi Hindu Mandir: अबूधाबी में पहले हिन्दू मन्दिर का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया उद्घाटन ! नागर शैली तर्ज व 27 एकड़ क्षेत्र में बना है यह भव्य मंदिर, 1 मार्च से कर सकेंगे दर्शन

तामसिक भोजन को माना गया वर्जित

पितृ पक्ष में तामसिक भोजन को भी पूरी तरह से वर्जित माना गया है, अब आपके मन मे ये भी सवाल उठ रहा होगा कि आखिरकार तामसिक क्या होता है, आपको बता दें कि, शराब पीना, चरखा, मांसाहार, पान, बैंगन, प्याज, लहसुन, बासी भोजन, सफेद तील, मूली, लौकी, काला नमक, सत्तू, जीरा, मसूर की दाल, सरसो का साग, चना आदि वर्जित माना गया है. श्राद्ध में कोई यदि इनका उपयोग करता है तो पितर नाराज हो जाते हैं.

शुभ कार्य वर्जित (Pitru Paksha Niyam 2023)

 

पितृ पक्ष के दौरान किसी भी तरह के मांगलिक कार्यों को करने से परहेज करना चाहिए. ये मांगलिक कार्यक्रम जैसे विवाह करना, गृह प्रवेश,मुंडन, दुकान का शुभारंभ आदि कार्य इनदिनों करना शुभ नहीं माना जाता है. पितृ पक्ष के दौरान नए कपड़े नहीं खरीदना चाहिए और ना ही पहनना चाहिए, इससे पितृ नाराज हो जाते है, साथ ही इन दिनों में हो सके तो इत्र और किसी भी तरह के सौंदर्य उत्पादों का उपयोग नहीं करना चाहिए.

 

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Latest News

Fatehpur Sadar Asptal: मैं मना करती रही और वो हथौड़ी चलाता रहा ! डॉक्टर की करतूत बताते हुए भावुक हो गई सिस्टर इनचार्ज Fatehpur Sadar Asptal: मैं मना करती रही और वो हथौड़ी चलाता रहा ! डॉक्टर की करतूत बताते हुए भावुक हो गई सिस्टर इनचार्ज
उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के फतेहपुर (Fatehpur) मेडिकल कॉलेज से संबद्ध सदर अस्पताल के डॉ0 शरद (Dr Sharad) की ऐसी...
Cardiac Arrest: कार्डियक अरेस्ट आने पर नहीं मिलता है जान बचाने का मौका ! इसलिए हो जाइए सचेत
Lucknow News: दूल्हे को नहीं भा रहे थे पण्डित के मंत्र ! फिर बौखलाए दूल्हे ने पुरोहित को जमकर पीटा, फिर हुआ ये
Kanpur Crime In Hindi: एक लाख का इनामिया हिस्ट्रीशीटर अजय ठाकुर को क्राइम ब्रांच ने राजधानी दिल्ली से किया गिरफ्तार
Akhilesh Yadav News: बोले अखिलेश ! चुनाव आते ही नोटिस आने लगते हैं, सीबीआई के सामने नहीं होंगे पेश, जानिये किस मामले में भेजा गया समन?
Kanpur Crime In Hindi: लापता किशोरियों के बेर के पेड़ पर झूलते मिले शव ! परिजनों ने लगाए भट्टे ठेकेदार पर गम्भीर आरोप
Who Is Kanpati Maar Shankariya: कनपटी मार किलर जिसने 25 साल की उम्र में किए 70 कत्ल ! कोर्ट ने पांच महीने में दी फांसी, जानिए उसने मरने से पहले क्या कहा

Follow Us