Bhai Dooj Kalam Davat Puja 2021: भैया दूज पर क्यों होती है कलम दवात पूजा जानिए महत्व

दीपावली के तीसरे दिन यानी द्वतीया तिथि को भैया दूज का पर्व मनाया जाता है. इस साल 6 नवंबर को पूरे देश में इसे बड़े ही धूमधाम से मनाया जा रहा है.इस दिन चित्रगुप्त महाराज का और कलम दवात व बही खातों का पूजन भी किया जाता है. आइए जानते हैं इसका महत्व. Bhaiya Dooj Chitragupt Kalam Davat Puja 2021

Bhai Dooj Kalam Davat Puja 2021: भैया दूज पर क्यों होती है कलम दवात पूजा जानिए महत्व
Bhai Dooj Kalam Davat Puja 2021

Bhai Dooj 2021 Kalam Davat Puja:धनतेरस से शुरू होने वाला पंचदिवसीय प्रकाश उत्सव भैया दूज के दिन से समाप्त हो जाता है. इस साल 6 नवंबर को भाई दूज का पर्व पूरे देश में बड़े ही धूमधाम से मनाया जा रहा है.भैया दूज के दिन भाई बहनों से टीका करवाते हैं. भाइयों को शादीशुदा बहनों के घर (ससुराल) पहुँच कर उनसे टीका करवाना चाहिए.Bhai dooj Ki puja 2021

कहा जाता है इस दिन भाइयों को बहनों के हाँथ का बना भोजन करना चाहिए. साथ ही इस दिन भाई बहनों का एक साथ यमुना नदी में स्नान करना भी फलदायक होता है.भैया दूज को यम द्वतीया के नाम से भी जाना जाता है. साथ ही इस दिन चित्रगुप्त महाराज औऱ क़लम दवात की पूजा भी की जाती है. Chitragupt Puja 2021 kalam davat puja

क्यों की जाती है चित्रगुप्त औऱ कलम दवात की पूजा..

पौराणिक कथाओं के अनुसार, चित्रगुप्त जी का जन्म ब्रह्मा जी के चित्त से हुआ था.ये देवताओं के लेखपाल हैं.इनका कार्य मनुष्य के अच्छे और बुरे कर्मों के हिसाब किताब रखना है.मनुष्य को उनके कर्मों के अनुसार ही फल की प्राप्ति होती है व उनके जीवन और मृत्यु की अवधि का लेखा-जोखा भी कर्मों के अनुसार ही लिखा जाता है.भाई दूज पर यम ने अपनी बहन को वरदान दिया था कि जो भाई इस दिन अपनी बहन के यहां पधारेगा उसे अकाल मृत्यु का भय नहीं रहेगा, इसलिए इस त्योहार को यम द्वितीया भी कहा जाता है और चित्रगुप्त जी मुख्य रूप से यमदेव के सहायक हैं.यही कारण है कि भाई दूज या यमद्वितीया के दिन चित्रगुप्त जी का पूजन भी किया जाता है.Bhaiya dooj ki katha 

Read More: Pradeep Mishra Radha Rani Controversy: राधा रानी टिप्पणी पर फंसे कथावाचक प्रदीप मिश्रा ! Premanand Maharaj ने दिया करारा जवाब

मुख्य रूप से चित्रगुप्त लेखा-जोखा रखने का कार्य करते हैं.इसलिए इनका मुख्य कार्य लेखनी से जोड़कर देखा जाता है, यही कारण है कि भाई दूज के दिन चित्रगुप्त जी के प्रतिरूप के तौर पर कलम या लेखनी का पूजन भी किया जाता है.धार्मिक मान्यता के अनुसार, चित्रगुप्त जी का पूजन करने से बुद्धि, वाणी और लेखनी का आशीर्वाद प्राप्त होता है.Chitragupt puja ka mahatv kalam davat puja 2021 bhaiya dooj

Read More: Hanuman Jayanti 2024 Kab Hai: हनुमान जयंती कब हैं? इस बार बन रहा है अद्भुद संयोग, जानिए राम नवमी से क्या है संबंध

Tags:

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Latest News

Fatehpur News: फतेहपुर में ससुराल गए युवक की संदिग्ध परिस्थितियों में मौ'त ! परिजनों ने लगाया ह'त्या का आरोप Fatehpur News: फतेहपुर में ससुराल गए युवक की संदिग्ध परिस्थितियों में मौ'त ! परिजनों ने लगाया ह'त्या का आरोप
उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के फतेहपुर (Fatehpur) में ससुराल गए युवक का गांव के बाहर शव मिलने से हड़कंप मच...
UPSC EPFO APFC Result 2024: फतेहपुर की विप्लवी बनी असिस्टेंट कमिश्नर ! गांव में ख़ुशी की लहर, जानिए लोगों ने क्या कहा
Fatehpur UPPCL News: फतेहपुर के बिजली विभाग में 14 सालों से जमा बुद्धराज बाबू हटाया गया ! इस एक्सईन का था राइट हैंड
Fatehpur Snake News In Hindi: नौ बार तुम्हें काटूंगा 8 बार तू बच जाएगा ! कोई नहीं बचा पाएगा तुझे, जानिए फतेहपुर की रहस्यमय घटना
Fatehpur Lightning News: फतेहपुर में आकाशीय बिजली गिरने से चार महिलाओं की मौत ! ऐसे हुई थी घटना
Fatehpur Bindki News: फतेहपुर में तीन छात्रों की तालाब में डूबने से मौ'त ! वजह कुछ ये बताई जा रही है
Unnao Bus Accident News: उन्नाव में भीषण सड़क हादसा 18 लोगों की मौत ! बड़ी संख्या में लोग घायल, देखें पूरी सूची

Follow Us