×
विज्ञापन

UP:हमीरपुर से हैरान करने वाली ख़बर..कोरोना के बीच फ़ैला विचित्र बुखार..तीन की मौत सौ से ज्यादा चपेट में..!

विज्ञापन

हमीरपुर में कोरोना वायरस के बीच एक अजीब तरह का बुखार फैल गया है।जिसकी चपेट में सैकड़ो लोग हैं।अब तक तीन लोगों की मौत भी हो चुकी है..पढ़ें पूरी खबर युगान्तर प्रवाह पर..

हमीरपुर:जिले में कोरोना महामारी के बीच फैले अजीब बुखार से लोगो में दहशत फैल गई है।एक गाँव में फैले इस इस अजीब बुखार से 10 दिनों के भीतर एक सैकड़ा से ज्यादा लोग चपेट में आ गए हैं।हैरत की बात ये भी है कि इसकी चपेट में आने से एक आंगनवाड़ी कार्यकत्री सहित दो अन्य लोगो की मौत हो चुकी है।

ये भी पढ़ें-कोरोना:फतेहपुर में मंगलवार को एक दर्जन नए संक्रमितों की पुष्टि..!

मामला राठ तहसील क्षेत्र के गल्हिया गांव का है जंहा बीते कई दिनों से अजीब बुखार ने सौ से अधिक ग्रामीणों को अपनी चपेट में ले लिया है।जांच के लिये स्वास्थ्य विभाग की एक टीम गांव में रुकी है, लोगो की कोरोना टेस्टिंग भी हो रही है।लेकिन इन ग्रामीणों को कोरोना के कोई लक्षण नही मिले। फिलहाल टीम लगभग 50 गम्भीर मरीजो को इलाज के झांसी के साथ जिला अस्पताल हमीरपुर भेज चुकी है।ग्राम प्रधान का कहना है कि गांव में इस बीमारी की वजह से लोग दहशत में आ गये है,लेकिन प्रशासन सूचना के बावजूद इस बारे में गम्भीर नहीं दिख रहा है।

ये भी पढ़ें-जब मैं मर जाऊं तो मेरी अलग पहचान लिख देना..लहू से मेरी पेशानी में हिंदुस्तान लिख देना.!

गांव में फैले विचित्र बुखार के बीच स्वास्थ विभाग की एक टीम नियमित रूप से गांव पर अपनी नजर बनाए हुए है।हालांकि गाँव के ही प्राथमिक विद्यालय में बनाए गए जाँच केंद्र में मरीजों के बैठने या लेटने की कोई व्यवस्था नहीं की गई है।जिसके चलते जाँच कराने आए मरीजों को ज़मीन पर ही बैठना पड़ रहा है।इनमें से कुछ की हालत तो इतनी खराब है कि वह वहीं तड़प रहे हैं।

स्वास्थ्य विभाग के उच्च पदों पर बैठे जिम्मेदारों को खुद नही मालूम कि गांव में किस बीमारी ने अपने पैर फैला लिये है,वो इसे वायरल और डेंगू का मिश्रण मान रहे हैं।

ये भी पढ़ें-कोरोना वैक्सीन:बड़ी खुशखबरी..रूस ने मारी बाज़ी..पुतिन की बेटी को लगा पहला टीका..!

डिप्टी सीएमओ एम के वल्लभ ने बताया कि गाँव में स्वास्थ्य विभाग की टीमें मौजूद हैं।जाँच कराई जा रही है।गाँव में दो एम्बुलेंस भी नियमित रूप से खड़ी करा दीं गई हैं जिससे किसी गम्भीर को तुरंत अस्पताल लाया जा सके।डेंगू की जाँच के लिए भी सैम्पल कानपुर भेजे जा रहें हैं।रिपोर्ट के बाद ही पता चल पाएगा कि डेंगू है या नहीं।फिलहाल इसे हम वायरल फ़ीवर मान रहें हैं।


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।