×
विज्ञापन

Fatehpur UP News:अचानक ग़ायब हो रहे गौवंश.गौकशी के लिए कुख्यात इलाके में फ़िर बढ़ी तस्करों की हलचल!

विज्ञापन

थरियांव थाना क्षेत्र के हंसवा चौकी क्षेत्र अंर्तगत घूम रहे अन्ना गौवंश अचानक ग़ायब हो रहें हैं,पिछले कुछ एक महीनों से इसमें ज़्यादा वृद्धि हो गई है,क्षेत्र में गौतस्करों की अचानक बढ़ी हलचल से पुलिस की भूमिका पर सवाल उठ रहें हैं.यह इलाका पहले से ही गौकशी के लिए कुख्यात रहा है. Fatehpur UP News Fatehpur Thana Thariyav News

Fatehpur UP News:फतेहपुर के कई ऐसे इलाक़े हैं जो हमेशा से गौकशी के लिए कुख्यात रहें हैं।योगी सरकार बनने के बाद भी इन इलाकों में गौकशी पर पूरी तरह लगाम नहीं लग पाई।कुछ एक स्थानों पर कुछ समय के लिए लिए तो गौकशी बन्द हुई लेकिन स्थानीय पुलिस की ढिलाई से गौतस्करों ने फ़िर से इस जरायम को करना शुरू कर दिया। Fatehpur Latest News

ऐसा ही इलाक़ा थरियांव थाना (Thariyav Thana ) अन्तर्गत आने वाला हंसवा चौकी क्षेत्र है।जो हमेशा से गौकशी औऱ तस्करी के लिए चर्चा में रहा है। कुछ चौकी प्रभारियों के समय पर इस इलाक़े में पुलिस ने सख़्ती बरती थी जिसके बाद काफ़ी हद तक इलाक़े की गौकशी बन्द हो गई थी।लेकिन पिछले कुछ महीनों से इस इलाके में गौतस्करों की हलचल जबरदस्त तरीक़े से बढ़ गई है।Fatehpur UP News Fatehpur Cow Smugglers News Haswa Police Chauki

विज्ञापन
विज्ञापन

ग़ायब हो रहे गौवंश..

क्षेत्र में अन्ना घूम रहे गौवंश धीरे धीरे ग़ायब हो रहें हैं।इलाके के लोग गौकशी की आशंका जता रहें हैं।क्योंकि क्षेत्र में गौतस्करों की बढ़ी हुई हलचल भी इसी ओर इशारा कर रही है।सूत्र बताते हैं कि इन दिनों एकारी औऱ हंसवा सहित आस पास के कुछ गाँवो के जंगलों औऱ सुनसान स्थानों में गौकशी की घटनाओं को अंजाम दिया जा रहा है।इलाक़े के लोगों ने कई बार गौवंशो को संदिग्धों द्वारा ले जाते हुए भी देखा है।लेकिन क्षेत्रीय होने के नाते कोई सामने से कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है।

बिना लागत के फल फूल रहा धंधा..

योगी सरकार (Yogi Government) बनने के बाद गौकशी के खिलाफ नियमों को कड़ाई औऱ सख़्ती के साथ लागू तो किया गया लेकिन लोगों द्वारा गौवंशो को अन्ना करने की प्रवृत्ति ने गौतस्करों का काम आसान कर दिया।मौजूदा सरकार बनने के पहले गौकशी के लिए उन्हें किसानों से गौवंश खरीदने पड़ते थे अब उन्हें वह आसानी से फ्री में ही उपलब्ध हो रहें हैं। सरकार ने आवारा गौवंशो के लिए सरकारी गौशालाओं का भी इंतजाम कराया लेकिन स्थानीय प्रशासन की उदासीनता के चलते इन गौशालाओं की बद्तर स्थिति किसी से छिपी नहीं है।ऐसे में सवाल यह उठता है है कि क्या स्थानीय पुलिस की मिलीभगत  से ही यह सब हो रहा है।क्योंकि बिना पुलिस के मौन सहमति के इलाक़े में गौकशी सम्भव ही नहीं है! Fatehpur Gaukashi News Fatehpur News

धाता क्षेत्र में हुई थी पुलिस औऱ गौतस्करों के बीच मुठभेड़..

धाता थाना क्षेत्र अन्तर्गत पिछले हफ़्ते ही धाता पुलिस औऱ एसओजी के संयुक्त ऑपरेशन में तीन कुख्यात गौतस्कर पुलिस के हत्थे चढ़े थे।इस ऑपरेशन के दौरान पुलिस औऱ तस्करों के बीच जबरदस्त फायरिंग भी हुई थी और पुलिस ने मुठभेड़ के बाद तीनों को गिरफ्तार कर लिया था। मुख्य तस्कर जावेद इस पुलिस मुठभेड़ में पुलिस की गोली लगने से घायल भी हुआ था उसके पैर में गोली लगी थी जिसे गिरफ्तार कर इलाज़ के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था। Fatehpur News Fatehpur UP News

गौरक्षा प्रमुख ने दी आंदोलन की चेतावनी..

विश्व हिंदू परिषद (VHP) के गौरक्षा प्रमुख हिन्दू नेता शानू सिंह (Shanu Singh) ने कहा कि हंसवा क्षेत्र (Haswa Chauki) हमेशा से गौकशी के लिए कुख्यात रहा है।उस क्षेत्र से लगातार गौकशी की सूचनाएं आ रहीं हैं।उन्होंने कहा कि स्थानीय पुलिस चौकी औऱ थाने की भूमिका हमेशा से इस मामले में संदिग्ध रही है।उन्होंने कहा कि पुलिस इसमें कठोर कदम उठाए यदि गौकशी बन्द नहीं हुई तो जल्द ही इसके खिलाफ बड़ा आंदोलन किया जाएगा। Fatehpur Latest News Fatehpur News Fatehpur Gaukshi News

शानू सिंह ने गौशालाओ में बदइंतजामी के सवाल पर कहा कि इसके लिए हमारा संगठन प्रशासन के साथ मिलकर योजना बना रहा है। जल्द ही वहां की समस्याएं दूर की जाएंगी। गौवंशो के संरक्षण औऱ संवर्द्धन के लिए लगातार हम लोग काम कर रहें हैं।औऱ लोगों को गौ पालन के लिए जागरूक भी कर रहें हैं। Fatehpur Cow Smgulling Fatehpur News

इस मामले में थरियांव थाना अध्यक्ष के सीयूजी नम्बर पर कई बार फ़ोन करके बात करने की कोशिश की गई लेकिन वह नम्बर बन्द बताता रहा। Fatehpur Thariyav Thana 

ये भी पढ़ें- Fatehpur UP News: फतेहपुर में देर रात पुलिस औऱ गौतस्करों के बीच हुई मुठभेड़ गोली लगने से एक घायल

ये भी पढ़ें- Fatehpur news:ज़िले में नहीं थम रही गौकशी बजरंग दल का गुस्सा फूटा चौराहे पर सिर रखकर प्रदर्शन.!


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।