×
विज्ञापन

IAS Kumar Saurabh:पिता की मौत औऱ बड़ी बहन की कोचिंग संघर्षों से भरी है कुमार सौरभ के सफलता की कहानी

विज्ञापन

यूपीएससी परीक्षा 2021 में 357 वीं रैंक हासिल करनेबकुमार सौरभ के सफलता की कहानी में कितना संघर्ष छिपा है.आइए जानते हैं. IAS Kumar Saurabh Success Story

IAS Kumar Saurabh:यूपीएससी 2021 की परीक्षा में कई ऐसे अभ्यर्थी सफ़ल हुए हैं. जिनकी सफलता की कहानी संघर्षों से भरी रही है. उनकी सफलता के पीछे उनकी खुद की मेहनत के साथ साथ घर परिवार वालों का कठिन श्रम औऱ त्याग जुड़ा हुआ है.ऐसी ही एक संघर्षों भरी सफलता की कहानी से आपको रूबरू कराने जा रहे हैं.यह कहानी है यूपीएससी 2021 की परीक्षा में आल इंडिया 357 वीं रैंक लाने वाले कुमार सौरभ की. कुमार सौरभ (IAS Kumar Saurabh) को इस मुकाम तक पहुंचाने में उनकी बड़ी बहन साक्षी पांडेय का बहुत बड़ा योगदान रहा है.

कोचिंग पढ़ा भाई को पैसे भेजती थी बहन..

13 जुलाई, 1999 को जन्मे कुमार सौरव (IAS Kumar Saurabh) की स्कूली पढ़ाई झारखंड के पलामू के गांव में ही हुई है. 2011 में पिता दिलीप पाण्डेय की असमय मौत ने कुमार सौरभ सहित पूरे परिवार को झकझोर दिया था.पिता दिल्ली में एक दुकान में काम करते थे.पिता की मौत के बाद घर में आर्थिक तंगी का दौर शुरू हो गया था. जिसके चलते कुमार (IAS Kumar Saurabh) को आगे की पढ़ाई पढ़ने में परेशानी होने लगा थी लेकिन भाई के पढ़ाई की जिम्मेदारी उठाई बड़ी बहन साक्षी पांडेय ने उन्होंने गांव में कोचिंग पढा कर उससे जो रुपये मिलते उसे भाई के पास दिल्ली भेजती जिससे सौरभ का खर्च चलता था. IAS Success Latest Story Kumar Saurabh IAS

कुमार ने 2015 में रामचंद्र चंद्रवंशी वेलफयर इंस्टीच्यूट विश्रामपुर से मैट्रिक की पढ़ाई की.इसके बाद गांव में रहकर कल्याण उच्च विद्यालय से 2017 में इंटर की परीक्षा पास की.इसके बाद दिल्ली विश्वविद्यालय के सत्यवती कालेज में स्नातक की पढ़ाई के लिए एडमिशन लिया. 2020 में राजनीति विज्ञान में स्नातक की डिग्री हासिल की.सपना पूरा करने के लिए दिल्ली में रहकर ही यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी. उनकी (IAS Kumar Saurabh) मेहनत का फल यूपीएससी 2021 के रिजल्ट में मिल गया. पहले प्रयास में ही 357 वीं रैंक हासिल कर ली. IAS Kumar Saurabh

ये भी पढ़ें- फतेहपुर की डीएम IAS Apurva Dubey के बारे में क्या यह बात जानते हैं आप

ये भी पढ़ें- UPSC 2020 Topper:आसान नहीं होता जागृति अवस्थी बनना पढ़ें उनके संघर्ष की कहानी Jagriti Awasthi Biography


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।