×
विज्ञापन

हमीरपुर:भारी संख्या में मजदूर ज़िले की सीमा में फंसे..काटा हंगामा..हाइवे हुआ जाम..!

विज्ञापन

बीते रात से हमीरपुर जालौन की सीमा में हज़ारों प्रवासी मजदूर फंसे हुए हैं..पढ़े पूरी खबर युगान्तर प्रवाह पर।

हमीरपुर:प्रवासी मजदूरों के पलायन को लेकर राज्य सरकार की तरफ़ से हर रोज बदल रहे नियमों ने प्रवासी मजदूरों की समस्याओं को और बढ़ा दिया है।सीएम योगी के निर्देश को पालन कराने में ज़िले के प्रसासनिक अमले के पसीने छूट रहे हैं।

ये भी पढ़े-फतेहपुर:पत्रकारों ने क्यों कहा इस साल 30 मई 'हिंदी पत्रकारिता दिवस' को 'काला दिवस' के रूप में मनाएंगे..!

मजदूरों के एक राज्य से दूसरे राज्य व एक शहर से दूसरे शहर जाने का सिलसिला लगातार जारी है।सरकार द्वारा किए जा रहे इतंजाम नाकाफी साबित हो रहे हैं।बीती रात से हजारों मजदूर हमीरपुर जालौन बॉर्डर पर फंसे हुए हैं।रविवार सुबह मजदूरों ने हंगामा भी काटा,जिससे स्टेट हाइवे जाम हो गया। 

जानकारी के अनुसार कुरारा विकासखण्ड के सरसई गांव में पड़ने वाले इस बार्डर में गुजरी रात से यहां से निकलने वाले मजदूरों को रोक लिया गया।रात से सुबह हो गई लेकिन कोई नतीजा न निकला जिसके बाद मजदूरों ने हंगामा काटना शुरू कर दिया और पूरे स्टेट हाईवे को जाम कर दिया, कल रात से सैकड़ो वाहनो की लंबी कतार लगी हुई है।

ये भी पढ़े-लॉकडाउन:औरैया हादसे के बाद सीएम योगी की सख्ती..सड़कों पर मुस्तैद हुआ प्रशासन..बसों से भेजे जाने लगे श्रमिक..!

प्रवासी मजदूरों का कहना है कि वो कल रात से यहाँ इस हाईवे पर फसे है।उन्हें खाने पीने की कोई व्यवस्था नही की गयी,वो भूखे प्यासे तड़प रहे है, छोटे और मासूम बच्चे भी है जो भूख प्यास से बिलख रहे है।

प्रवासी मज़दूरों ने यह भी कहा कि वो साधन से ही  घर जाएंगे क्योंकि इसके लिए उन्होंने रुपया खर्च किया है।सरकार द्वारा बसों से भिजवाने की व्यवस्था को इन्होंने नकार दिया है, फिलहाल कुछ बसों को प्रशासन की तरफ़ से लगाया गया है।जिनमें कुछ मज़दूरों को बिठाकर उनके गंतत्व तक पहुंचाने का इंतज़ाम किया गया है।


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।