×
विज्ञापन

Janmashtami 2021 Puja Time Vidhi:अपनी राशि के अनुसार करें इस बार श्रीकृष्ण जन्माष्ठमी पर पूजा होगा लाभ ही लाभ

विज्ञापन

श्री कृष्ण जन्माष्टमी इस साल 30 अगस्त को मनाई जाएगी। रोहणी नक्षत्र औऱ अष्ठमी तिथि एक ही दिन पड़ने से इस साल बहुत ही शुभ संयोग बन रहा है।इस मौक़े पर भगवान श्री कृष्ण की पूजा किस विधि विधान से करें आइए जानतें हैं. Janmashtami 2021 Puja Vidhi Janmashtami 2021 Puja Time

Janmashtami 2021 Puja Time And Vidhi In Hindi:श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व हिन्दू धर्म के अति महत्वपूर्ण पर्वों में से एक है। भाद्र मास के कृष्ण पक्ष की अष्ठमी तिथि को यह मनाया जाता है। हिन्दू धर्म शास्त्रों के अनुसार इस दिन भगवान श्री कृष्ण का रोहणी नक्षत्र में जन्म हुआ था। इस साल यह व्रत एवं पर्व 30 अगस्त को पड़ रहा है औऱ सबसे ख़ास बात यह है कि इस दिन अष्ठमी तिथि होने के साथ साथ रोहणी नक्षत्र भी है।जिससे इस साल का जन्माष्ठमी व्रत विशेष लाभ देने वाला हो गया है।Janmashtami 2021 date and Time Janmashtami puja vidhi

विज्ञापन
विज्ञापन

अपनी राशि के अनुसार करें पूजा.. Janmashtami 2021 puja vidhi and Time

जन्माष्ठमी के दिन धर्मावलंबी पूरा दिन व्रत रखते हैं।औऱ मध्य रात्रि में भगवान श्री कर्षना का जन्मोत्सव मनाते हैं औऱ उनके बाल स्वरूप की पूजा अर्चना करते हैं।इस साल अपनी अपनी राशि के अनुसार पूजा करना आपके के लिए विशेष फलदायी होगा।

मेष राशि वाले लोग जन्माष्टमी के अवसर  बाल गोपाल को अनार के साथ दूध से बनी मिठाई चढ़ाएं।

वृषभ राशि वाले चांदी के बर्क से भगवान श्री कृष्ण का श्रंगार करें तथा अपनी सभी मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए इस दिन भगवान श्री कृष्ण को शहद, दूध, दही व रसगुल्लों का भोग लगाएं।

मिथुन राशि वाले सर्वप्रथम राधाकृष्ण को दूध से स्नान कराएं व केले के साथ सूखे मेवे का प्रसाद बांके बिहारी को अर्पित करें।

कर्क राशि वाले भगवान को नारियल और नारियल की मिठाई का भोग लगाएं लाभ होगा।

सिंह राशि वाले भगवान श्री कृष्ण को शहद और गंगाजल से स्नान कराए तथा बांके बिहारी को प्रसन्न करने के लिए गुड़ का भोग लगाएं।

कन्या राशि के जातकों को राधाकृष्ण को घी और दूध से स्नान कराना चाहिए। इसके बाद बांके बिहारी लाल को सूखा मेवा, दूध, इलाइची, लौंग का भोग लगाएं। 

तुला राशि वाले भगवान श्री कृष्ण को दूध और चीनी से स्नान कराना चाहिए। इसके बाद केले और सूखे मेवे के साथ दूध से बनी मिठाई का भोग लगाएं।

वृश्चिक राशि वाले जातक जन्माष्टमी के अवसर पर बांके बिहारी लाल को दूध, दही, शहद, चीनी और जल से स्नान कराएं। इसके बाद राधारानी को गुड़ और नारियल से बनी मिठाई का भोग लगाएं।

धनु राशि वाले दूध और शहद से स्नान कराएं इसके बाद केले और अमरूद का भोग लगाएं।

मकर राशि वाले बाँके बिहारी को गंगाजल से स्नान कराएं और भगवान कृष्ण को मीठा पान अर्पित करें।

कुंभ राशि वाले जातक सर्वप्रथम राधाकृष्ण को शहद, दही, दूध, चीनी और जल से स्नान कराएं। इसके बाद सूखे मेवे के साथ लाल रंग की मिठाई का भोग लगाएं।

मीन राशि वाले नारियल और दूध से बनी मिठाई का भोग लगाएं।

कब है पूजा का शुभ मुहूर्त.. janmashtami 2021 puja time

इस साल पूजा का शुभ मुहूर्त 30 अगस्त की रात 11 बजकर 59 मिनट से देर रात 12 बजकर 44 मिनट तक रहेगा। बाल गोपाल के पूजा की कुल अवधि 45 मिनट है। इसी बीच पूजा करने से विशेष लाभ होगा। Janmashtami 2021 shubh muhurat

ये भी पढ़ें- Janmashtami 2021 Date: श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की सही तारीख़ महत्व औऱ पूजा औऱ श्रृंगार विधि जानें यहाँ

ये भी पढ़ें- Janmashtami 2021 Date: श्रीकृष्ण जन्माष्टमी कब है जानें सही तारीख़ शुभ मुहूर्त औऱ महत्व


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।