×
विज्ञापन

Ganesh Chaturthi 2022 से बदलने वाली है इन राशि वालों की क़िस्मत

विज्ञापन

इस साल गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi 2022 Date ) 31 अगस्त को मनाई जाएगी. ग्रह, नक्षत्रों की चाल से ज्योतिष (Astrologer) के जानकारों का कहना है कि चार राशियों (Rashifal In Hindi) के लोगों का अच्छा समय शुरू होने वाला है.आइए जानते हैं वह कौन कौन सी राशियां हैं.

Ganesh Chaturthi 2022 Rashifal: गणेश चतुर्थी इस साल 31 अगस्त को है. ज्योतिष की बात करें तो गणेश चतुर्थी से मेष, वृषभ, सिंह औऱ कुंभ राशि वालों के लिए अच्छा समय शुरू हो जाएगा. क्योंकि गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi 2022) के दिन शुक्र देव कर्क राशि से निकलकर सिंह राशि (Leo Zodiac) में प्रवेश करेंगे. ऐसे में गणेश चतुर्थी के दिन शुक्र का राशि परिवर्तन (Shukra ka Rashi Parivartan) बेहद खास माना जा रहा है.

 

विज्ञापन
विज्ञापन

मेष: इस राशि के लिए शुक्र का गोचर लाभकारी साबित होगा. शुक्र गोचर की अवधि में सुख-समृद्धि के साथ-साथ खुशियां प्राप्त होंगी. पिता से आर्थिक सहयोग प्राप्त होगा. परिवार के किसी सदस्य से कोई उपहार मिल सकता है. आर्थिक निवेश के लिए समय अनुकूल रहने वाला है. 

वृषभ: इस राशि से संबंधित जातकों के लिए शुक्र का राशि परिवर्तन खास साबित होने वाला है. शुक्र गोचर की पूरी अवधि में आर्थिक रूप से तरक्की होगी. साझेदारी वाले काम में आर्थिक स्थिति बेहतर होगी. इसके साथ ही इस दौरान मान-सम्मान में बढ़ोतरी हो सकती है. संतान पक्ष से शुभ समाचार मिल सकता है.

सिंह: शुक्र का राशि परिवर्तन सिंह राशि के लिए खास रहेगा. इस दौरान जीवन में सकारात्मक परिवर्तन देखने को मिलेगा. शुक्र गोचर की अवधि में नए जॉब का ऑफर मिल सकता है. जो लोग नौकरी में उनकी सैलरी में वृद्धि हो सकती है. आर्थिक स्थिति पहले से सुदृढ़ होगी. करियर तरक्की का अवसर मिलेगा.

कुम्भ: शुक्र को गोचर से कुंभ राशि के जातकों के जीवन में खुशियां आएंगी. गोचर की अवधि में दांपत्य जीवन सुखद रहेगा. बिजनेस में आर्थिक स्थिति पहले से बेहतर होगी. ऐश्वर्य के साधनों की वृद्धि होगी. कार्यक्षेत्र में तरक्की हासिल कर सकते हैं. अधिकारियों का सकारात्मक सहयोग मिलेगा. व्यापारियों के कामकाज को गति मिल सकती है

ये भी पढ़ें- Ganesh Chaturthi 2022: कब है गणेश चतुर्थी पर्व यदि घर पर स्थापित करनी है मूर्ति तो जान लें यह नियम

ये भी पढ़ें- Hartalika Teej Vrat Katha In Hindi: हरतालिका तीज की पौराणिक व्रत कथा जिसे शिव ने पार्वती को सुनाया था.जाने हरतालिका पूजा क्या है?

ये भी पढ़ें- UP में बन्द हुई Shadi Anudan Yojana गरीबों को मिलते थे 20 हज़ार रुपए


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।