×
विज्ञापन

Fatehpur Ghar Wapsi News: फतेहपुर में रिटायर्ड रेलवे कर्मी अब्दुल जमील ने अपनाया हिन्दू धर्म वैदिक विधि विधान से की घर वापसी

विज्ञापन

फतेहपुर में रिटायर्ड रेलवे कर्मी अब्दुल जमील ने अपने परिवार के लाख विरोध के बावजूद गुरुवार को पूरे वैदिक रीति रिवाज के साथ सनातन धर्म में वापसी की है.उनका नया नाम श्रवण कुमार रखा गया है.पढ़ें पूरी खबर युगान्तर प्रवाह पर. Fatehpur Ghar wapsi news Abdul zameel convert to shrawan kumar

Fatehpur News: हिन्दू सनातन धर्म से प्रभावित होकर फतेहपुर में एक रिटायर्ड रेलवे कर्मी ने गुरुवार को पूरे वैदिक रीति रिवाज के साथ सनातन धर्म में वापसी कर ली. अब्दुल जमील से श्रवण कुमार बने सेवानिवृत्त रेलवे कर्मी ने पटेल नगर स्थित हनुमान मंदिर में हिन्दू महासभा के प्रांतीय मंत्री मनोज त्रिवेदी की प्रेरणा से हिन्दू सनातन धर्म अपना लिया.इस दौरान बड़ी संख्या में हिन्दू धर्माचार्य व अन्य लोग उपस्थित रहे. हवन पूजन, जनेऊ आदि की प्रक्रिया पूरी कर अब्दुल जमील को श्रवण कुमार बनाया गया.

विज्ञापन
विज्ञापन

जानकारी के अनुसार मूलरूप से हाथरस जिले के सादाबाद तहसील के निवासी अब्दुल जमील वर्तमान में नगर के देवीगंज मोहल्ले में घर बनाकर रहते हैं.वह भारतीय रेलवे में 35 वर्षों तक काम करते रहे औऱ मुख्य आरक्षण पर्यवेक्षक के पद से रिटायर्ड हुए हैं.

अब्दुल जमील शादी शुदा हैं उनकी बड़ी बेटी की शादी हो चुकी है. दूसरी बेटी इंजीनियर है.तीसरे नंबर की बेटी एमबीबीएस डाक्टर है.पत्नी आरजूमंद बानो बेटियों के साथ लखनऊ में रहतीं हैं.बेटा मोहम्मद शमील दिल्ली में पायलट आफीसर का कोर्स कर रहा है.

अब्दुल जमील (अब श्रवण कुमार) ने बताया कि बचपन से ही सनातन धर्म के प्रति निष्ठा थी,लेकिन करीब दो वर्ष पहले इसे स्वीकार करने की इच्छा जगी.पिछले दिनों अखिल भारत हिंदू महासभा के प्रांतीय महामंत्री से नजदीकियां बढ़ीं तो उनसे अपने मन की बात साझा की. इसपर उन्होंने सनातन धर्म में वापसी का स्वागत किया.

ये भी पढ़ें- Fatehpur New Nagar Panchayat: फतेहपुर की दो ग्राम पंचायतों को मिला नगर पंचायत का दर्जा ये गांव भी हो जाएगें विलय

ये भी पढ़ें- Fatehpur Crime News: फतेहपुर में सात साल के मासूम की कुकर्म के बाद हत्या घर में दफन थी लाश


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।