Rajesh Singh Chauhan:भारतीय किसान यूनियन में बग़ावत फतेहपुर के राजेश सिंह चौहान बने राष्ट्रीय अध्यक्ष

भारतीय किसान यूनियन में तगड़ी फूट हो गई है.यूनियन के कई शीर्ष नेताओं ने अलग होकर एक नया संगठन खड़ा कर दिया है.किसान नेता व अभी तक भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रहे राजेश सिंह चौहान अब भारतीय किसान यूनियन (अराजनैतिक) के राष्ट्रीय अध्यक्ष बन गए हैं. पढ़ें पूरी ख़बर युगान्तर प्रवाह पर. Rajesh Singh Chauhan Bhartiya Kisan Union President News

Rajesh Singh Chauhan:भारतीय किसान यूनियन में बग़ावत फतेहपुर के राजेश सिंह चौहान बने राष्ट्रीय अध्यक्ष
Rajesh Singh Chauhan फाइल फ़ोटो

Rajesh Singh Chauhan:किसान आंदोलन में सबसे अधिक चर्चित रहे राकेश टिकैत जिस भारतीय किसान यूनियन से आते हैं, उसमें फूट पड़ गई है. संगठन के कई शीर्ष नेताओं ने बगावत कर दी है. राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राजेश सिंह चौहान सहित कई बड़े किसान नेताओं ने भारतीय किसान यूनियन से अलग होकर भारतीय किसान यूनियन (अराजनैतिक) नाम से नया संगठन बना लिया है.

युगान्तर प्रवाह से बातचीत करते हुए राजेश सिंह चौहान ने बताया कि भारतीय किसान यूनियन को राकेश टिकैत ने पूरी तरह से राजनीतिक कर दिया था.जिसके चलते हम लोगों को ऐसा निर्णय लेना पड़ा.

बता दें कि लखनऊ में राजेश सिंह चौहान की अध्यक्षता में भारतीय किसान यूनियन की एक बैठक हुई. जिसमें भारतीय किसान यूनियन (अराजनैतिक) का गठन करने का फैसला हुआ. इस संगठन के अध्यक्ष भी खुद राजेश सिंह चौहान हैं. अब तक नरेश सिंह टिकैत भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष थे. भारतीय किसान यूनियन की इस बैठक में नरेश टिकैत और राकेश टिकैत शामिल नहीं थे. 

बताया गया कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी की इस बैठक में जितने भी किसान नेता शामिल हुए, उनकी नाराजगी खासतौर पर राकेश टिकैत से थी. उन्होंने टिकैत पर आरोप लगाया कि, राकेश टिकैत ने आंदोलन का व्यक्तिगत फायदा उठाया. वो अलग-अलग पार्टियों के मंच पर दिखते रहे. यही सब आरोप लगाते हुए बैठक में प्रस्ताव लाया गया और इसके बाद ये बड़ा बदलाव किया गया. बैठक में ये दावा किया गया है कि ये भारतीय किसान यूनियन का मूल संगठन है, जिसमें अध्यक्ष बदला गया है. ये कोई नया संगठन नहीं बनाया गया है. 

Read More: Sushil Modi Death: बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी का निधन ! गम्भीर बीमारी से जूझ रहे थे, जानिए राजनीतिक सफर

वहीं राकेश टिकैत ने कहा कि कई लोगों को छोटे-छोटे गांवों से निकालकर बीकेयू में 30 साल में बड़े-बड़े पदों पर बैठाया. संयुक्त मोर्चे में भी 550 किसान संगठन हैं.करनाल में बीकेयू की 18 मई को कार्यकारिणी की बैठक होगी.इसमें अहम फैसले लिए जाएंगे.हमारे ऊपर कोई राजनीतिक दबाव नहीं है.उन लोगों ने दबाव में अपना दूसरा संगठन बनाया है.हमने उन्हें सुबह भी मनाने की कोशिश की, लेकिन वह नहीं माने.

Read More: Arvind Kejriwal Interim Bail: तिहाड़ से बाहर आएंगे दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ! सुप्रीम कोर्ट ने 1 जून तक दी अंतरिम जमानत, 2 जून को करना होगा सरेंडर

Tags:

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Latest News

Somnath Jyotirlinga Story: सावन स्पेशल-करिए प्रथम ज्योतिर्लिंग के दर्शन, चंद्रदेव से जुड़ा है सोमनाथ ज्योतिर्लिंग का पौराणिक महत्व Somnath Jyotirlinga Story: सावन स्पेशल-करिए प्रथम ज्योतिर्लिंग के दर्शन, चंद्रदेव से जुड़ा है सोमनाथ ज्योतिर्लिंग का पौराणिक महत्व
Somnath jyotirlinga Story: ज्योर्लिगप्रसिद्ध 12 ज्योतिर्लिंगों में से गुजरात के सोमनाथ मंदिर की अद्भुत महिमा है. कई बार आक्रमण करके...
Fatehpur News: फतेहपुर में क्यों हो रही है हिंदू महापंचायत ! हजारों की संख्या में पहुंचने का अनुमान
Bindki Accident News: फतेहपुर के बिंदकी में दर्दनाक हादसा ! बाइक सवार दो लोगों की मौत
Fatehpur Brajesh Pathak: फतेहपुर पहुंचे डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक अचानक क्यों भड़क उठे ! एक दिन का काटा वेतन
फतेहपुर थाना न्यूज़: मां-बेटे ने मिलकर पिता को लगाया 50 लाख का चूना ! तिकड़म जान कर रह जाएंगे भौचक्के
Fatehpur News: फतेहपुर में ससुराल गए युवक की संदिग्ध परिस्थितियों में मौ'त ! परिजनों ने लगाया ह'त्या का आरोप
UPSC EPFO APFC Result 2024: फतेहपुर की विप्लवी बनी असिस्टेंट कमिश्नर ! गांव में ख़ुशी की लहर, जानिए लोगों ने क्या कहा

Follow Us