Ashutosh Maharaj News:10 वर्षों से समाधि में रहने वाले आशुतोष महाराज की शिष्या ने आख़िर क्यों ली समाधि

आशुतोष महाराज का क्या हुआ

धर्मगुरु आशुतोष महाराज (Ashutosh Maharaj) जिन्होंने 10 साल पहले जालंधर स्थित नूर महल आश्रम में समाधि (Samadhi) ले ली थी, लेकिन उनके शिष्यों का ऐसा मानना था कि एक दिन महाराज जरूर समाधि (Samadhi) से बाहर निकलकर अपने भक्तों को आशीर्वाद देंगे जिसके चलते साल 2014 से उनका शव डीप फ्रीजर (Deep Freezer) में रखा हुआ है. अब उनकी शिष्या ने महाराज जी को वापस लाने के लिए समाधि ले ली है. तबसे यह मामला अजीबोगरीब होता जा रहा है.

Ashutosh Maharaj News:10 वर्षों से समाधि में रहने वाले आशुतोष महाराज की शिष्या ने आख़िर क्यों ली समाधि
आशुतोष महाराज जी, Image Credit Original Source

आशुतोष महाराज का शव आज भी सुरक्षित

दिव्या ज्योति जागृती संस्थान के संस्थापक धर्मगुरु आशुतोष महाराज (Ashutosh Maharaj) को डॉक्टरों द्वारा 10 साल पहले मृत घोषित कर दिया गया था. उनके शिष्य लगातार यह दावा कर रहे थे कि उनके महाराज ने समाधि (Samadhi) ली हुई है जल्द ही वह वापस आकर सभी को चौंका देंगे इसलिए उनके शव को आज भी सुरक्षित कर रखा गया है.

साध्वी ने भी ली समाधि

अब लखनऊ स्थित आनंद आश्रम में साध्वी गुरु मां आशुतोषाम्वरी (Ashutoshambri) ने अपने गुरु आशुतोष महाराज (Ashutosh Maharaj) को उनके शरीर में वापस लाने के उद्देश्य से बीती 28 जनवरी को समाधि (Samadhi) ले ली, लेकिन समाधि लेने से पहले उन्होंने 28 जनवरी को अपने शिष्यों को एक वीडियो मैसेज जारी करते हुए कहा था कि वह अपने गुरु आशुतोष जी महाराज को उनके शरीर से वापस लाने के लिए समय समाधि लेने जा रही है. शिष्य जमदग्नि ने बताया कि उनकी गुरु माता अशुतोषम्बरी को ध्यान रूप में महाराज ने संदेश दिया था कि मुझे आकर जगायें जिससे वह भौतिक शरीर मे प्रवेश कर सकें.

sishya_shutoshambri_taking_samadhi_news
साध्वी अशुतोषम्बरी मां, Image Credit Original Source
समाधि लेने से पहले जारी किया वीडियो संदेश

वही उनके इस वीडियो मैसेज के जारी होने के बाद उनके शिष्यों ने एक बार फिर साध्वी गुरु मां आशुतोषाम्वरी शरीर को सुरक्षित रखने के लिए कोर्ट में पीआईएल लगाते हुए यह मांग करी है कि उनके शरीर को सुरक्षित रखा जाए लेकिन जैसे ही यह खबर सोशल मीडिया के जरिए देशभर में लोगों के बीच पहुँची पहले तो लोग तरह-तरह की बातें कर रहे हैं कुछ लोग तो इसे अंधविश्वास भी मान रहे हैं तो वही साध्वी द्वारा ली गई समाधि को लेकर उनसे जुड़े लोग आश्रम में उनके दर्शन करने के लिए पहुंच रहे हैं जिसके लिए लगातार हवन पूजन भी किया जा रहे हैं.

भारी संपत्ति और मिली थी जेड सिक्योरिटी

आप सभी को बताते चले कि इस साल 1983 में जालंधर के नूर महल में दिव्या ज्योति जागृती संस्थान की शुरुआत की गई थी रिपोर्ट्स के मुताबिक देशभर में उनके करीब 350 आश्रम है जिनमें से 65 केवल पंजाब में ही बने हुए हैं इसके अलावा विदेश में भी उनके कई आश्रम है सूत्रों की माने तो इनकी सारी प्रॉपर्टी को मिलाकर 10 अरब रुपए मापा गया है साल 2009 में लुधियाना में आशुतोष महाराज के शिष्यों और सिख समूह में कुछ इसके बाद उन्हें केंद्र सरकार की ओर से जेड सिक्योरिटी प्रदान की गई थी.

Read More: Ram Mandir Pran Pratishtha Holiday: प्राण-प्रतिष्ठा के दिन देश भर में आधे दिन की सरकारी छुट्टी का एलान

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Latest News

Kannauj Suicide News: पेपर लीक होने से हताश एक युवक ने कर ली आत्महत्या ! सुसाइड नोट पढ़कर छलक उठेंगे आंसू, अखिलेश यादव की सामने आयी प्रतिक्रिया Kannauj Suicide News: पेपर लीक होने से हताश एक युवक ने कर ली आत्महत्या ! सुसाइड नोट पढ़कर छलक उठेंगे आंसू, अखिलेश यादव की सामने आयी प्रतिक्रिया
यूपी के कन्नौज (Kannauj) से एक बेहद हैरान कर देने वाली घटना सामने आई है जिसे सुनकर सभी के होश...
Shaitaan Movie In Hindi: रोंगटे खड़े कर देने वाली 'शैतान' मूवी का टीज़र हुआ रिलीज ! R Madhvan का ये रूप देख डर गए लोग
Fatehpur News: फतेहपुर की जेल पहुंचे पुलिस महानिदेशक ! अब बंदी चलाएंगे कंप्यूटर, करेंगे इसकी खेती
Up Police Exam: पुलिस सिपाही भर्ती परीक्षा दोबारा कराए जाने की मांग पर अड़े अभ्यर्थी ! पेपर लीक होने का किया जा रहा दावा
Pm Surya Ghar Muft Bijali Yojana 2024: 300 यूनिट बिजली मिलेगी मुफ्त ! छत पर सोलर पैनल इंस्टाल होने के बाद मिलेगी सब्सिडी, जानिए क्या है पीएम सूर्य घर स्कीम?
Fatehpur News: फतेहपुर में यूपी बोर्ड की मेरिट लिस्ट के लिए अंतर्द्वंद ! सीटिंग प्लान से लेकर कॉपियों में पैसे रखने का बड़ा खेल
Dacoit Seema Parihar: 13 साल की उम्र में चंबल-बीहड़ के ख़तरनाक डाकुओं के चंगुल में आई सीमा परिहार ! कैसे बनी दस्यु सुंदरी? हाथों में चूड़ियों के बजाय पहन लिए हथियार, 30 साल पुराने मामले में हुई सजा

Follow Us