oak public school

lockdown:फतेहपुर में एक पिता को है दो महीने से..अपने बेटे के शव का इंतजार..!

फतेहपुर ज़िले में रहने वाले पीताम्बर लाल को अपने बेटे के शव का क़रीब दो महीने से इंतजार है..लेक़िन लॉकडाउन के चलते शव नहीं मिल पा रहा है..क्या है पूरा मामला..पढ़े युगान्तर प्रवाह की ये रिपोर्ट..

lockdown:फतेहपुर में एक पिता को है दो महीने से..अपने बेटे के शव का इंतजार..!
मृतक जय नरायण फ़ाइल फ़ोटो।

फतेहपुर:कोरोना वायरस के चलते लगाए गए लॉकडाउन के चलते जहां एक ओर संक्रमण को बढ़ने से रोका गया है वहीं दूसरी ओर इस लॉकडाउन के चलते कई लोगों को इतनी भारी मुशीबतों को सामना करना पड़ रहा है।जिसका अंदाजा शायद हम और आप न लगा सकें।

ये भी पढ़ें-UP:बिरियानी बेचने वाला निकला कोरोना पॉजिटिव..मचा हड़कम्प..लॉकडाउन में भी बेच रहा था..!

इसी लॉकडाउन के चलते एक पिता अपने पुत्र का अंतिम संस्कार करने के लिए उसके शव का क़रीब दो महीने से इंतजार कर रहा है।

क्या है पूरा मामला..

Read More: Russia Terrorist Attack In Hindi: रूस में हुए आतंकी हमले को लेकर इस्लामिक स्टेट ने ली जिम्मेदारी ! मरने वालों की संख्या बढ़कर हुई 143

जनपद के खागा तहसील क्षेत्र के विक्रमपुर विकास खण्ड ऐराया निवासी पीताम्बर लाल का 26 वर्षीय पुत्र जय नरायण मौर्य बीते 4 सितंबर 2019 को मुंबई से फ्लाइट से वाया शारजाह , दमाम होते हुए रियाद (सऊदी अरब) एक कम्पनी में काम करने के लिए गया हुआ था।बीते दो महीने पहले उसकी तबियत अचानक से बिगड़ गई जिसके बाद उसे रियाद में भी कम्पनी द्वारा सनद नामक हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया।लेक़िन इलाज़ के बावजूद उसे डॉक्टर बचा नहीं सके और जय नरायण की सांसें बीते पांच मार्च को थम गई।

Read More: Massive Fire In NewYork: न्यूयॉर्क स्थित 6 मंजिला इमारत में भीषण आग ! भारतीय पत्रकार की मौत, पार्थिव शरीर भारत भेजने की तैयारी

जय नरायण की मौत की सूचना भारत में उसके परिजनों तक पहुँची।जिसके बाद परिवारी जनों का हाल बेहाल हो गया।अब बारी आई शव को भारत लाने की।लेकिन कई तरह की जरूरी क़ानूनी कार्यवाही पूरी होने पर कुछ एक दिनों का समय लग गया औऱ इसी बीच कोरोना ने भारत में तेज़ी के साथ दस्तक देनी शुरू कर दी।और भारत सरकार ने सभी तरह के विदेशी आवागमन को पूरी तरह से प्रतिबंधित कर दिया।

Read More: Valentine Day 2024: क्यों मनाया जाता है वैलेंटाइन डे ! जानिए इससे जुड़ी रोचक कहानी और इतिहास

मृतक के परिजन शव को उसके पैतृक गांव लाकर अंतिम संस्कार करना चाह रहे हैं।लेकिन लगातार बढ़ रहे लॉकडाउन औऱ विदेशी उड़ानों पर लगे प्रतिबंध के चलते शव क़रीब दो महीने बीत जाने के बाद भी नहीं आ सका है।

फतेहपुर में मृतक जयनरायण के पिता लगातार प्रशासनिक सहयोग के लिए ऑफिसों के चक्कर लगा रहे हैं।उन्होंने सऊदी अरब में भारतीय दूतावास के लिए भी पत्राचार के माध्यम से शपथ पत्र सहित आवश्यक कागजात जरिए ईमेल भेजे हैं।लेकिन अब तक कोई संतोषजनक उत्तर नहीं प्राप्त हो सका है।

रियाद (सऊदी अरब) में ही रह रहे मृतक जय नरायण के चचेरे भाई नीरज ने बताया कि जयनारायण जब अस्पताल में भर्ती था तब वह उसे देखने जाता था।मौत की सूचना के बाद भी वह अस्पताल पहुँचा जहाँ अस्पताल स्टाफ़ द्वारा बताया गया कि शव को शवगृह (फ्रीज़र) में रख दिया गया है।जैसे ही यहाँ से सारी जरूरी प्रक्रियाएं पूरी हो जाएंगी तो शव को भारत भेज दिया जाएगा।

नीरज ने बताया कि मृतक जयनारायण जिस मुरीद(ठेकेदार) के अंडर में काम करता था मैंने उससे बात की तो उसने बताया कि आप यहाँ के भारतीय दूतावास में सम्पर्क करिए जैसे ही वहाँ से अनुमति हो जाएगी शव को भेज दिया जाएगा।

नीरज ने ज़रिए दूरभाष युगान्तर प्रवाह को जानकारी देते हुए बताया कि वह बीते दो महीने से लगातार सऊदी अरब में भारतीय दूतावास में संर्पक कर रहा है।लेकिन वहां से कोई भी सन्तोषजनक जवाब नहीं दिया जा रहा है।उसने यह भी बताया कि लॉकडाउन का हवाला देकर दूतावास में कोई भी बात सुनने से इंकार कर रहे हैं।उसने कहा कि जबकि हाल ही में यहाँ से कुछ डेड बॉडी को भारत भेजा गया है।

Tags:

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Latest News

Hanuman Jayanti 2024 Kab Hai: हनुमान जयंती कब हैं? इस बार बन रहा है अद्भुद संयोग, जानिए राम नवमी से क्या है संबंध Hanuman Jayanti 2024 Kab Hai: हनुमान जयंती कब हैं? इस बार बन रहा है अद्भुद संयोग, जानिए राम नवमी से क्या है संबंध
Hanuman Jayanti 2024 Kab Hai: हनुमान जी को भगवान शिव यानी रुद्र का 11वां अवतार कहा जाता है. साल 2024...
Political Kavita: आने वाले हैं शिकारी मेरे गांव में Lyrics In Hindi ! Aane Wale Hai Shikari Mere Ganv Me
Fatehpur News: मजदूर के घर जन्मी सफलता ! आंक्षा ने बदली पेशानी की रेखाएं
Fatehpur News Today: फतेहपुर में करंट की चपेट में आने से दो मजदूरों की मौत, चार घायल, FCI गोदाम में पड़ रही थी स्लैब
UP Board Result 2024 Intermediate Topper: यूपी बोर्ड की इंटरमीडिएट परीक्षा में सीतापुर के शुभम वर्मा टॉपर ! फतेहपुर को मिला तीसरा स्थान
UP Board Result 2024 High School Topper: यूपी बोर्ड हाईस्कूल की परीक्षा में ये रहे टॉपर ! फतेहपुर में इन्होंने मारी बाजी
Fatehpur Local News: मौत बांट रहे हैं फतेहपुर के नर्सिंग होम ! धृतराष्ट्र बना स्वास्थ्य विभाग

Follow Us