Akshay Tritiya 2024: आज है अक्षय तृतीया का पावन पर्व ! दान-पुण्य और सोना खरीदने का है बड़ा महत्व

अक्षय तृतीया (Akshay Tritiya) का पर्व आज देश भर में मनाया (Celebrated) जा रहा है. वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को अक्षय तृतीया मनाई जाती है. इस दिन दान-पुण्य करने का मह्त्व है इसके साथ ही नारायण-लक्ष्मी जी (Narayan-Lakshmi) की पूजा की जाती है. इस दिन सोना खरीदना बेहद शुभ माना जाता है. इसके साथ ही इस दिन भगवान परशुराम जी का जन्म भी हुआ था.

Akshay Tritiya 2024: आज है अक्षय तृतीया का पावन पर्व ! दान-पुण्य और सोना खरीदने का है बड़ा महत्व
अक्षय तृतीया 2024, image credit original source

अक्षय तृतीया आज, केदारनाथ के खुलेंगे पट

हमारे हिन्दू धर्म में अक्षय तृतीया (Akshay Tritiya) पर्व का विशेष महत्व है. इस दिन कहते हैं बिना कोई मुहूर्त देखे कोई भी शुभ कार्य किया जा सकता है. वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को अक्षय तृतीया मनाई जाती है. आज धूमधाम से अक्षय तृतीया का पर्व मनाया जा रहा है. इसे आखा तृतीया (Akha Tritiya) या फिर आखा तीज (Akha teej) भी कहते हैं. यही नहीं चार धाम में से एक बद्रीनाथ धाम (Badrinath dham) के पट भी अक्षय तृतीया से ही खुलते हैं. केदारनाथ (Kedaranath) के भी आज से पट खुल गए. इसके साथ ही यमुनोत्री के भी पट खुल गए, जबकि बद्रीनाथ के 12 मई को पट खुलेंगे.

lakshmi_pujan_akshay_tritiya
लक्ष्मी पूजन, image Credit original source

अक्षय तृतीया पर सोना जरूर खरीदें

कहते हैं कि अक्षय तृतीया पर सोना खरीदना (Buy Gold) बहुत शुभ माना गया है. आज के दिन सोने की कोई भी चीज़ खरीद लें सोने के आभूषण खरीद सकते है. दान पुण्य का बड़ा महत्व बताया गया है. पितरों का स्मरण कर उनका पिंड दान कर सकते है. ऐसा करने से पितृ दोष समाप्त होता है. यही नहीं गन्ना, फल, हाथ से बने पंखे व वस्त्र दान कर सकते है. इसके साथ ही नारायण-लक्ष्मी की विधि विधान से पूजन किया जाता है. जिससे घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है.

भगवान विष्णु ने नर नारायण का लिया अवतार, परशुराम जी का हुआ था जन्म

अक्षय तृतीया आज 10 मई को सुबह 4 बजकर 17 मिनट पर प्रारम्भ हो चुकी है, इसका समापन 11 मई सुबह 2 बजकर 50 मिनट पर होगा. साल का सबसे पवित्र दिन अक्षय तृतीया कहा जाता है. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार सतयुग, त्रेतायुग की शुरुआत भी अक्षय तृतीया के दिन से हुई थी इसके साथ ही भगवान श्री हरि ने नर-नारायण का अवतार भी इसी दिन लिया था, यही नहीं परशुराम जी का जन्म भी इसी दिन हुआ था. इस दिन कोई भी शुभ कार्य करना श्रेष्ठ माना गया है, मतलब किसी भी प्रकार के मुहूर्त की जरूरत नहीं पड़ती. हालांकि इस बार शुक्र अस्त है तो मांगलिक कार्य नहीं हो सकते लेकिन सोना-चांदी खरीदा जा सकता है.

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Latest News

Fatehpur Malwan Accident: फतेहपुर में खड़े ट्रक से टकराई डीसीएम ! एक की मौत कई घायल, गैस कटर से काट कर निकालती पुलिस Fatehpur Malwan Accident: फतेहपुर में खड़े ट्रक से टकराई डीसीएम ! एक की मौत कई घायल, गैस कटर से काट कर निकालती पुलिस
उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के फतेहपुर (Fatehpur) में तेज रफ्तार डीसीएम अनियंत्रित होकर खड़े ट्रक से टकरा गई. हादसे में...
Fatehpur News Today: फतेहपुर के फूफा ने भतीजी से रचा ली शादी ! पत्नी ने ऐसा पीटा फूफा से निकल गया फू..
UP Fatehpur News: फतेहपुर में गंगा स्नान करने गए तीन युवक डूबे ! दो की हो गई मौ'त, परिजनों में मचा ह'ड़कंप
Fatehpur News: फतेहपुर की मोहिनी ने तोड़ दिया दम ! दो घंटे बिना इलाज के डॉक्टरों ने रोका, फिर किया रैफर
Fatehpur News Today: फतेहपुर के पिछड़े गांव का बेटा सेना में बना लेफ्टिनेंट ! किसान पिता के छलके आंसू
Pradeep Mishra Radha Rani Controversy: राधा रानी टिप्पणी पर फंसे कथावाचक प्रदीप मिश्रा ! Premanand Maharaj ने दिया करारा जवाब
NEET 2024 NTA Supreme Court Judgment In Hindi: नीट परीक्षा 2024 के लिए सुप्रीम कोर्ट ने दिया ये निर्णय ! अब बदल जाएगी मेरिट लिस्ट

Follow Us