oak public school

Mahalaxmi Vrat Katha:महालक्ष्मी व्रत कथा जानें जिसे गजलक्ष्मी पूजन भी कहते हैं

पितृ पक्ष में अष्ठमी तिथि को होने वाला महालक्ष्मी व्रत (गज लक्ष्मी) इस साल 18 सितंबर को है, कुछ लोग 17 सितंबर को भी इसे मना रहे हैं .क्या है महालक्ष्मी व्रत की पौराणिक कथा जानें. Mahalaxmi Vrat Katha Gaj Laxmi Vrat Katha hathi pooja katha

Mahalaxmi Vrat Katha:महालक्ष्मी व्रत कथा जानें जिसे गजलक्ष्मी पूजन भी कहते हैं
Mahalaxmi vrat katha :सांकेतिक फ़ोटो

Mahalaxmi Vrat Katha: माता लक्ष्मी की पूजा साल भर में कई मौकों पर विशेष रूप से होती है।इन्हीं में से एक है महालक्ष्मी व्रत जो भाद्र मास की अष्ठमी तिथि से प्रारम्भ होता है औऱ फिर 16 दिन बाद अष्ठमी तिथि को ही गज में सवार माता लक्ष्मी (Gaj Laxmi Vrat Katha ) की मूर्ति की पूजा पूरे विधि विधान से कर व्रत का समापन किया जाता है।वैसे तो इन सोलह दिनों तक व्रत रखने का विधान है लेकिन यदि ऐसा सम्भव न हो तो आख़री दिन यानी सोलहवें दिन व्रत रखकर महालक्ष्मी का पूजन करना पुण्य लाभ देने वाला होता है। Mahalaxmi Vrat katha Hathi wali laxmi puja ki katha hathi pooja katha

महालक्ष्मी व्रत कथा Gaj Laxmi Vrat Katha In Hindi

पौराणिक कथानुसार, प्राचीन काल में एक बार एक गांव में गरीब व्यक्ति रहता था। वह भगवान विष्णु का परमभक्त था। एक दिन उसकी भक्ति से खुश होकर भगवान विष्णु ने उसे दर्शन दिए और मनचाहा वरदान मांगने को कहा। व्यक्ति ने कहा कि उसके घर में हमेशा लक्ष्मी का वास हो। इस इच्छा को जानने के बाद विष्णुजी ने कहा कि उसे लक्ष्मी तो प्राप्त हो सकती है लेकिन उसके लिए उसे थोड़ा प्रयत्न करना होगा। Mahalakshmi Vrat Katha Hathi Puja Mahalakshmi Vrat Katha

भगवान विष्णु ने कहा कि मंदिर के सामने एक स्त्री रोज आती है और यहां आकर उपले पाथती है, तुम बस अपने घर उन्हें आने का निमंत्रण देना। वह स्त्री ही देवी मां लक्ष्मी हैं। अगर वह स्त्री तुम्हारे घर आती है तो तुम्हारा घर धन-धान्य से भर जाएगा। इतना कहकर भगवान विष्णु अदृश्य हो गए। Mahalaxmi Vrat Katha Hindi Me hathi pooja katha

Read More: Premanand Maharaj: भंडारा रास्ते में मिल जाए तो क्या करना चाहिए ! ग्रहण करें या नहीं, प्रेमानन्द महाराज ने बतायी ये बात

अगले दिन सुबह 4 बजे वह ग़रीब व्यक्ति मंदिर के सामने बैठ गया और जब धन की देवी मां लक्ष्मी उपले पाथने आईं तो उसने उन्हें अपने घर में आने का निवेदन किया।उस गरीब की बातों को सुनकर लक्ष्मी जी समझ गईं कि ये सब विष्णु जी का किया धराया है। माता लक्ष्मी ने कहा कि तुम 16 दिन तक महालक्ष्मी व्रत को विधि पूर्वक करों और रात-दिन चंद्रमा को अर्घ्य दो तो मैं तुम्हारे घर आऊंगी। Gaj Laxmi Vrat Katha

Read More: Chaitra Navratri 2024 Kab Hai: जानिए चैत्र नवरात्रि कब से हो रही प्रारम्भ ! माता के 9 स्वरूपों के पूजन का महत्व, घोड़े पर सवार होकर आएंगी मां

देवी के कहे अनुसार गरीब ने देवी का व्रत एवं पूजन किया और उत्तर की दिशा की ओर मुख करके लक्ष्मीजी को पुकारा। अपने वचन को पूरा करने के लिए धन की देवी प्रकट हुईं और उन्होंने गरीब व्यक्ति के हर कष्ट को दूर किया और उसके घर को सुख-संपत्ति से भर दिया।

Mahalaxmi Vrat Katha hathi pooja katha

Read More: Holika Dahan Totke 2024 In Hindi: होलिका दहन की रात इन उपायों से बदलेगी किस्मत ! जानिए Holi से जुड़े टोटके

Tags:

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Latest News

Vishu Kya Hota Hai: विशु क्या होता है ? मलयाली इसे नववर्ष के रूप में क्यों मनाते हैं, श्री कृष्ण से जुड़ी है आस्था Vishu Kya Hota Hai: विशु क्या होता है ? मलयाली इसे नववर्ष के रूप में क्यों मनाते हैं, श्री कृष्ण से जुड़ी है आस्था
विशु (Vishu) भारत के केरल (Kerala) में बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है इस साल यह त्यौहार 14 अप्रैल...
Haryana Crime In Hindi: ठेके के सेल्समैन से उधार मांग रहा था शराब ! फिर छिड़ा विवाद, सेल्समैन के साथी ने मार दी गोली
Mirzapur Vindhyavasini Temple: क्या है मां विंध्यवासिनी मंदिर और अष्टभुजा कालीखोह मन्दिर का इतिहास ! जानिए पौराणिक मान्यताओं के पीछे की कहानी
Fatehpur AI Voice call Scam: मैं तुम्हारा जीजा बोल रहा हूं ! 16 हज़ार भेज दो, जानिए ठगी का नया तरीका
CUET PG 2024 RESULT: सीयूईटी पीजी का परिणाम जारी ! ऑफिशियल वेबसाइट पर देखें अपना स्कोरकॉर्ड
Chaitra Navratri Par Laung Ke Totke: चैत्र नवरात्रि पर आजमाएं लौंग के टोटके व उपाय ! बन जाएंगे बिगड़े और रुके काम
Sitapur Daroga Suicide News: फतेहपुर निवासी सीतापुर में तैनात दारोगा ने खुद को गोली से उड़ाया ! एसपी चक्रेश मिश्रा कर रहे हैं जांच

Follow Us