Up Congress President : आगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए कांग्रेस ने यूपी में खेला बड़ा दांव, पूर्व विधायक Ajay Rai को बनाया अध्यक्ष

लोकसभा चुनाव 2024 को दृष्टिगत रखते हुए,कांग्रेस ने सबसे ज्यादा लोकसभा सीट वाले राज्य यानी उत्तर प्रदेश में कांग्रेस कमेटी ने पूर्व विधायक वरिष्ठ कांग्रेस नेता अजय राय को नया अध्यक्ष बनाया है.इससे पहले कांग्रेस के यूपी अध्यक्ष बृजलाल खाबरी थे.अजय राय वाराणसी से पीएम मोदी के ख़िलाफ़ दो बार चुनाव भी लड़ चुके हैं.माना जा रहा है कि इनके आने से यूपी में कांग्रेस में नई ऊर्जा का संचार होगा.

Up Congress President : आगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए कांग्रेस ने यूपी में खेला बड़ा दांव, पूर्व विधायक Ajay Rai को बनाया अध्यक्ष
यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय राय : फोटो साभार गूगल

हाईलाइट्स

  • उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के नए अध्यक्ष होंगे पूर्व विधायक अजय राय
  • अजय राय वाराणसी से पीएम मोदी के खिलाफ दो बार चुनाव लड़ चुके हैं
  • लोकसभा चुनाव में यूपी का रोल अहम,कांग्रेस आलाकमान ने जताया भरोसा, पिछले चुनाव में एक सीट जीत सकी थी

Ajay Rai has been appointed as the up congress President : लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर सभी दल तैयारी में जुटे हुए हैं. अब कांग्रेस संगठन ने उत्तर प्रदेश जैसे महत्वपूर्ण राज्य को ध्यान में रखते हुए एक बड़ा निर्णय लिया है. उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के लिए नए अध्यक्ष का नाम घोषित कर दिया है. अब कांग्रेस कमेटी के नए अध्यक्ष पूर्व विधायक वरिष्ठ कांग्रेस नेता अजय राय होंगे. इससे पहले उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष बृजलाल खारी थे.माना जा रहा है कि कांग्रेस में अजय राय एक बड़ा नाम है और इनके आने से पार्टी संगठन को एक नई ऊर्जा भी मिल सकती है और उत्तर प्रदेश में कांग्रेस का प्रदर्शन सुधर सकता है.

यूपी कांग्रेस के अध्यक्ष होंगे वरिष्ठ कांग्रेस नेता अजय राय

उत्तर प्रदेश में कांग्रेस अपने खोए हुए जनाधार को पुनर्जीवित कर संगठन में नया जोश भरने के लिए तेज तर्रार नेता पूर्व विधायक वरिष्ठ कांग्रेस नेता अजय राय को अपना नया प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया है.अजय राय की कार्यशैली और उनके कार्य करने के तरीकों को देखते हुए कांग्रेस पार्टी आलाकमान ने यह महत्वपूर्ण जिम्मेदारी उन्हें सौंपी है.कांग्रेस ने उन पर भरोसा जताया है ऐसे में उनके लिए यूपी बड़ी चुनौती होगी.

अजय राय कांग्रेस के जुझारू नेताओ में से एक

Read More: Rajnath Singh In Kanpur: कानपुर दौरे पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ! गुरु का लिया आशीर्वाद, जानिए शंकराचार्यों की एक राय न होने पर क्या बोले रक्षा मंत्री?

बात की जाए पिछले 2019 लोकसभा चुनाव की तो कांग्रेस का यहां प्रदर्शन बेहद खराब रहा था.अमेठी सीट भी नहीं बचा पाई थी.केवल एक सीट से ही संतुष्ट करना पड़ा था. रायबरेली सीट ही जीती थी. ऐसे में माना जा रहा है कि अजय राय के आने से उत्तर प्रदेश में कांग्रेस पार्टी का प्रदर्शन निश्चित रूप से अच्छा होगा. अजय राय को कांग्रेस के जुझारू नेताओं में गिना जाता रहा है.वाराणसी से 2014 और 2019 दो बार पीएम मोदी के खिलाफ भी चुनाव लड़ चुके हैं.अजय राय ने यूपी कांग्रेस में बृजलाल खाबरी की जगह ली है.

Read More: UP Congress Avinash Pandey: लोकसभा चुनाव से पहले यूपी में कांग्रेस का बड़ा दांव ! ब्राह्मण चेहरे को बनाया यूपी प्रभारी, जानिए कौन हैं अविनाश पांडे?

कांग्रेस का यूपी में प्रदर्शन रहा बेहद खराब

Read More: Pran-Pratishtha Invitation: प्राण-प्रतिष्ठा कार्यक्रम का निमंत्रण ससम्मान ठुकराया कांग्रेस ने ! कार्यक्रम को बताया बीजेपी और आरएसएस का इवेंट

लोकसभा चुनाव की बात करें तो उत्तर प्रदेश पर सबकी नजर हमेशा रही है. दरअसल सबसे ज्यादा लोकसभा सीट 80 वाला राज्य जो है.उत्तर प्रदेश में कांग्रेस का प्रदर्शन बेहद खराब रहा है.लोकसभा हो या विधानसभा चुनाव दोनों में ही कांग्रेस फिसड्डी साबित रही.अब यूपी के लिए कांग्रेस ने अजय राय को बड़ी जिम्मेदारी दी है.जो बिखरे हुए संगठन को फिर से एकजुट करने का कार्य करेंगे.और कांग्रेस को यूपी में जीवित करेंगे.हालांकि यह उनके लिए बड़ी चुनौती है.

कौन हैं अजय राय

पूर्व विधायक अजय राय कांग्रेस के जुझारू नेता हैं.वे उत्तर प्रदेश से पांच बार विधायक रहे हैं.राजनीतिक करियर भाजपा से 1996 से शुरू किया था. राय भूमिहार समुदाय से आते हैं और ब्राह्मणों व भूमिहारों में उनके काफी पैठ है.इनका जन्म वाराणसी में हुआ था.भाजपा में रहते हुए 1996 से वर्ष 2007 तक विधायक रहे. इसके बाद वे अंदरूनी मतभेद के चलते समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए.

 वर्ष 2009 में मुरली मनोहर जोशी के खिलाफ चुनाव लड़ा था जिसमें उनकी हार हुई थी. निर्दलीय ही पिंडरा से उप-चुनाव जीतकर विधायक बने. 2012 में उन्होंने कांग्रेस ज्वाइन कर ली. 2014 और 2019 में पीएम मोदी के खिलाफ वाराणसी से चुनाव लड़े थे.लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा. ऐसा कहते हैं कि अजय राय अपने बल पर चुनाव जीतते रहे हैं और पार्टी को इसका फायदा हुआ है.

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Related Posts

Latest News

Train Run Without Driver: अजब-गजब ट्रेन ! बिना ड्राइवर के ही दौड़ पड़ी ट्रेन, करीब 70 से 80 किलोमीटर की रफ़्तार से कई किलोमीटर दौड़ती रही ट्रेन, जानिए कैसे रुकी यह ट्रेन? Train Run Without Driver: अजब-गजब ट्रेन ! बिना ड्राइवर के ही दौड़ पड़ी ट्रेन, करीब 70 से 80 किलोमीटर की रफ़्तार से कई किलोमीटर दौड़ती रही ट्रेन, जानिए कैसे रुकी यह ट्रेन?
रविवार की सुबह पंजाब (Punjab) से एक बेहद हैरतंगेज घटना सामने आई है जहां पर एक मालगाड़ी (Goods Train) जम्मू...
Massive Fire In NewYork: न्यूयॉर्क स्थित 6 मंजिला इमारत में भीषण आग ! भारतीय पत्रकार की मौत, पार्थिव शरीर भारत भेजने की तैयारी
Bleeding Gums: ब्रश करने के दौरान निकलता है मुँह से खून ! तुरंत ही डेंटिस्ट को जाकर दिखाएं
UP News Hindi: सीएम फ्लीट के रूट का मुआयना करने वाली एंटी डेमो गाड़ी हुई दुर्घटना का शिकार ! 11 लोग हुए घायल, सपा अध्यक्ष ने कसा तंज
Fatehpur News: फतेहपुर में बजरंग दल के संयोजक पर हमला ! घर में घुसकर तमंचे से किया वार
Bareilly Crime In Hindi: हवलदार को मजाक करना पड़ा भारी ! साथी ने गर्दन पर गोली मार कर दी हत्या, पुलिस मामले की जांच में जुटी
Aaj Ka Rashifal 25 फरवरी 2024: इस राशि के जातक आज विवाद से बचें ! इस उपाय से मिलेगी राहत, जाने Kal Ka Rashifal

Follow Us