×
विज्ञापन

यूपी का बस मामला:अध्यक्ष की गिरफ्तारी के विरोध में फतेहपुर में कांग्रेसियों का धरना..बीजेपी पर हमला.!

विज्ञापन

यूपी में पिछले दो दिनों से भाजपा और कांग्रेस बसों को लेकर आमने सामने हैं..एक दूसरे पर आरोप लगाए जा रहे हैं..इस बीच मंगलवार को कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष की गिरफ्तारी हो जाने से मामला औए गर्म हो गया है..फतेहपुर में गिरफ्तारी के विरोध में कांग्रेसियों ने धरना दिया..पढ़े युगान्तर प्रवाह की एक रिपोर्ट।

फतेहपुर:कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव व प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी ने यूपी के जो मजदूर बाहर फँसे हुए हैं उनको लाने के लिए एक हज़ार बसों का इतंजाम अपनी पार्टी की तरफ़ से किया था।कांग्रेस का आरोप है कि बसें दिल्ली यूपी की सीमा पर खड़ी हुईं हैं लेक़िन उनको योगी सरकार द्वारा परमीशन नहीं दी जा रही है।इस मामले को लेकर बीते दो दिनों से जमकर सियासी बवाल मचा हुआ है।कांग्रेस और भाजपा एक दूसरे पर हमलावर हैं।इस बीच मंगलवार को अचानक से कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू गिरफ्तार कर लिए जाते हैं।जिसके बाद सियासी घमासान और तेज हो गया है।

गिरफ्तारी के विरोध में फतेहपुर में धरना..

प्रदेश अध्यक्ष की गिरफ्तारी के विरोध में बुधवार को जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अखिलेश पांडेय की अगुवाई में कांग्रेसियों ने बुलेट चौराहा स्थित पार्टी कार्यालय में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए धरना दिया।

ये भी पढ़े-कोरोना:फतेहपुर में बुधवार को मिला एक नया पाज़िटिव..अब तक चार हुए ठीक..!

इस दौरान मीडिया से मुखातिब हुए जिलाध्यक्ष अखिलेश पांडेय ने कहा कि प्रियंका जी के आदेश पर 600 बसें राजस्थान से लेकर प्रदेश अध्यक्ष लेकर चले ये बसे दिल्ली यूपी बार्डर पर जानी थीं।जहाँ से यूपी जाने वाले पैदल मजदूरों को ले जाया जा सके लेक़िन प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को आगरा पहुचंने पर गिरफ्तार कर लिया गया।

ये भी पढ़े-कोरोना:फतेहपुर-गाँव में घूम रहे बाहर से आए व्यक्तियों के विरुद्ध दर्ज हुआ मुकदमा.!

पुलिस ने प्रदेश अध्यक्ष व उनके साथ मौजूद अन्य नेताओं के साथ काफ़ी बर्बरता पूर्वक व्यवहार किया और जबरन गाड़ी में बैठाकर गिरफ्तार कर ले गए।जिसके विरोध में बुधवार को जिला कांग्रेस कमेटी ने पार्टी कार्यालय में ही धरना दिया है।

ये भी पढ़े-क्वारंटाइन सेंटर में रात भर चला रंगारंग कार्यक्रम..अश्लील गानों में बालाओं के लगते रहे ठुमके..!

अखिलेश पांडेय ने पलायन कर रहे मजदूरों की दुर्दशा पर भाजपा को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि एक तो पीएम मोदी ने एक बारगी लॉकडाउन लगाने का निर्णय कर लिया।ग़रीब मजदूरों के बारे में जरा सी भी चिंता नहीं की।उनको सड़कों पर पैदल ही चलने के लिए मजबूर कर दिया गया।अब जबकि हमारी नेता प्रियंका गांधी द्वारा मजदूरों के लिए बसें भेजी गईं तो उनको भी परमीशन नहीं दी जा रही है।

इस दौरान जिलाध्यक्ष अखिलेश पांडेय के अलावा दिवाकर अवस्थी, हेमलता पटेल समेत कई नेता मौजूद रहे।


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।