×
विज्ञापन

फर्रुखाबाद:स्कूल के बाहर खोखे देख सीडीओ का पारा चढ़ा..कार्यवाही के आदेश..!

विज्ञापन

मंगलवार को एक स्कूल में चल रहे काम का निरीक्षण करने पहुँचे मुख्य विकास अधिकारी का पारा उस वक्त चढ़ गया जब उन्होंने गेट के बाहर खोखे रखे हुए देखे..खोखे वालों के विरुद्ध नोटिस देकर कार्यवाही करने के निर्देश सीडीओ ने दिये हैं..पढ़े पूरी खबर युगान्तर प्रवाह पर।

फर्रुखाबाद:स्कूल गेट के बाहर अवैध रूप से रखे गए खोखों (गुमटी) को देखकर मुख्य विकास अधिकारी भड़क गए।सख्त निर्देश देते हुए उन्होंने तत्काल इन खोंखों को वहां से हटाने का आदेश दिया है।

ये भी पढ़े-फर्रुखाबाद में अघोषित बिजली कटौती से बर्बाद हो रही है किसानों की फ़सल..!

जानकारी के अनुसार मंगलवार को सीडीओ डॉ. राजेंद्र पैंसिया द्वारा उच्च प्राथमिक विद्यालय रोशनाबाद में चल रहे स्कूल की कार्य प्रगति का निरीक्षण किया गया।इस दौरान विद्यालय के मुख्य  गेट पर कुछ खोखे रखे हुए नजर आए जिन्हें देख मुख्य विकास अधिकारी  का पारा चढ़ गया उन्होंने ग्राम प्रधान राम रतन तथा ग्राम विकास अधिकारी राजीव गौतम से नाराजगी जताते हुए खोखा मालिकों को नोटिस दिला कर उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई किए जाने का आदेश दिया।

ये भी पढ़े-लॉकडाउन:श्रमिकों को लेकर गुजरात से फर्रुखाबाद पहुँची श्रमिक स्पेशल.. स्टेशन पर मौजूद रहे डीएम एसपी..!

उन्होंने यह भी कहा कि शाम तक खोखे हट जाने चाहिए अन्यथा की स्थिति में उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया जाए।बताया गया है जिन लोगों के खोखे विद्यालय के मुख्य गेट के सामने रखे हुए हैं। उनमें एक खोखा स्वामी का नाम गुजरात है।जबकि दूसरे खोखा स्वामी विनोद अग्निहोत्री जिसे मौके पर बुलाकर खोखा हटाने को कहा गया तो वह भड़क गया और सीडीओ से बहस करने लगा।खोखा स्वामी का कहना था यहां और भी खोखे रखे हुए हैं उन्हें क्यों नहीं हटवाया गया पहले उन्हें हटवाया जाए बाद में  वो भी हटा लेगा इस बात को लेकर मुख्य विकास अधिकारी तथा खोखा स्वामी के बीच तीख़ी बहस  होती रही।जिसके बाद मौक़े पर मौजूद पुलिस कर्मियों ने खोखा स्वामी को हिरासत में ले लिया।सीडीओ के आदेश पर प्रभारी निरीक्षक ने खोखा स्वामी के विरुद्ध मुकदमा  दर्ज कर लिया है।

मुख्य विकाश अधिकारी ने बताया कि खोखा स्वामियों को खोखा हटाए जाने के लिए पहले भी आदेश दिए गए थे लेकिन अभी तक स्कूल की जमीन से कब्जा नहीं हटाया गया है।हटाने के आदेश दिए गए हैं।अन्यथा की स्थिति में मुकदमा दर्ज किया जाएगा


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।