×
विज्ञापन

UP Dharm Parivartan News: धर्मांतरण की आड़ में संचालित थीं आतंकी गतिविधियां डॉ. उमर गौतम उगल रहा सच्चाई!

विज्ञापन

धर्मांतरण के मामले में एटीएस के हत्थे चढ़े मौलाना उमर गौतम औऱ जहांगीर आलम क़ासमी से पूछताछ के दौरान कई दिल दहला देने वाले राज सामने आए हैं. Umar Gautam Latest News

UP Dharm Parivartan Latest News: धर्म परिवर्तन मामले में एटीएस द्वारा गिरफ्तार किए गए मौलाना डॉ.उमर गौतम औऱ जहांगीर आलम क़ासमी 30 जून तक एटीएस की रिमांड पर है।इस दौरान दोनों से पूछताछ जारी है।यूपी पुलिस का दावा है कि दोनों मिलकर अब तक एक हज़ार से ज़्यादा लोगों को लालच औऱ अन्य गैरक़ानूनी तरीकों से धर्म परिवर्तन करा चुकें हैं।इस पूरे खेल का मास्टरमाइंड उमर गौतम है जो ख़ुद साल 1984 में हिन्दू से मुसलमान बना था।Up dharm parivartan News

विज्ञापन
विज्ञापन

दैनिक जागरण में छपी ख़बर के अनुसार धर्मांतरण के लिए देश में विदेश से भारी-भरकम फंडिंग की जा रही है।मुख्य रूप से यह फंडिंग पाकिस्तान और अरब देशों से होने की बात सामने आई है।यह गैंग मूक बधिर छात्रों को अपना निशाना बनाता था।आशंका तो यहां तक जताई जा रही है कि ऐसे छात्रों का धर्मांतरण कराने के बाद मानव बम बनाकर देश को दहलाने की साज़िश रची गई थी।एटीएस इस पूरे मामले में एक एक कड़ी ढूढ़ने का प्रयास कर रही है।

नोएडा स्थित डेफ सोसायटी में पढ़ने वाले छात्र बोलने और सुनने में असमर्थ हैं। इसलिए एक बार धर्मांतरण होने के बाद छात्रों को बहकाना आसान है। इन छात्रों के माध्यम से आतंकी घटना को अंजाम देने की साजिश रची जा रही थी।

नोएडा के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी का एक मीडिया वेबसाइट में छपे बयान के मुताबिक अब तक कि जांच में सामने आया है कि गिरोह में शामिल लोग मूक बधिर छात्रों व महिलाओं को अपना शिकार बनाते थे। खासतौर से चैरिटेबल ट्रस्ट पर चलने वाले संस्थान के छात्र-छात्राओं को अपना निशाना बनाते थे। नोएडा डेफ सोसायटी का भी संचालन चैरिटी के जरिये मिले धन से हो रहा था। आशंका है कि आरोपितों ने नोएडा डेफ सोसायटी में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं के मतांतरण की साजिश रची है।

ये भी पढ़ें- Umar Gautam Fatehpur: ग्राउंड रिपोर्ट-पंथुआ में कैसा है माहौल औऱ क्या बताते हैं वहां के लोग

ये भी पढ़ें- यूपी में धर्म परिवर्तन: फतेहपुर का रहने वाला है मास्टरमाइंड उमर गौतम ऐसे बना था हिन्दू से मुसलमान


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।