×
विज्ञापन

Hanuman Jayanti: नासे रोग हरे सब पीरा जपत निरंतर हनुमत वीरा.कोरोनो से बचाव के लिए जपे यह मंत्र।

विज्ञापन

कोरोना(Corona Virus)ने पूरे भारत में हाहाकार मचा दिया है.ऐसे में लोग अपने ईष्ट से अब प्रार्थना करें।आज हनुमान जयंती है.इसदिन इस मंत्र का जप करने से आपके सभी रोग दूर हो सकते है।(Hanuman Jayanti 2021)

Hanuman Jayanti 2021: हनुमान जयंती चैत्र मास के शुक्ल  पक्ष की पूर्णिमा को मनाई जाती है।इस बार यह तिथि 27 अप्रैल के दिन पड़ रही है। इस दिन को भगवान हनुमान जी के जन्मोत्सव के रूप में मनाया जाता है।और पूर्णिमा तिथि होने से इसका महत्व और भी बढ़ जाता है।इसदिन विधि विधान से पूजा अर्चना करने से लोगों के बड़े से बड़े कष्ट दूर हो जाते हैं।

ये भी पढ़ें- अध्यात्म:क्या आपको पता है..एक बार भगवान शंकर ने इस खतरनाक जंतु का रूप धारण किया था..जानें पूरी कथा..!

विज्ञापन
विज्ञापन

महामारी को दूर करने के लिए हनुमान ही केवल सहारा..

ऐसी मान्यताएं हैं कि जब कभी भी इस धरातल पर लोगों के ऊपर कोई संकट आता है तो उन्होंने संकटमोचन को याद किया है।कोरोना काल में जब पूरे देश में हाहाकार मचा हुआ है तो इस लोग भगवान से अनुनय विनय और प्रार्थना कर रहें हैं कि "हे ईश्वर आप हमें इस त्रासदी से उबारो अब आपका ही सहारा है।"जब मनुष्य को संकट काल में सभी रास्ते बंद हो जाते हैं तो वह केवल उस परमपिता परमेश्वर को ही याद करता है।संकट के इस काल में नास्तिक भी आस्तिक बन भगवान से याचना करता है।

हनुमान चालीसा की यह चौपाई दूर करेगी सारे संकट..

हनुमान जी को प्रसन्न करने के लिए लोग हनुमान जयंती पर रामचरित मानस का पाठ करते हैं।जो काफी शुभ माना जाता है।कहा जाता है कि जब कोई रोग मनुष्य को अत्यधिक पीड़ा दे रहा हो और उस रोग से जनमानस पर संकट आ गया हो तो हनुमान चालीसा की यह चौपाई का जब करना चाहिए।

नासे रोग हरे सब पीरा,जपत निरंतर हनुमत वीरा( Nase Rog Hare Sab Pira Japat Nirantar Hanumat Vira) का जप करने से बड़े से बड़ा रोग नष्ट हो जाता है। वैसे हनुमान चालीसा की एक एक चौपाई मंत्र के सामान है। इसके साथ ही एक चौपाई और जिसका निरंतर जप किया जा सकता है।

संकट कटै मिटै सब पीरा,जो सुमिरै हनुमत बलबीरा( Sankat Katai Mitai Sab Pira Jo Surirai Hanumat BalBira)

अर्थात जो व्यक्ति सच्चे भाव से करुणा से मुझे याद करेगा उसके सभी कष्ट दूर हो जाएंगे। ज्योतिषाचार्यो का मानना है कि कोरोना के इस संकट काल में हनुमानजी की आराधना करने से इस रोग से मुक्ति मिल सकती है और जनमानस को इस मारामारी से छुटकारा मिल सकता है।


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।