वायरल पोस्ट:बुर्का पहन शाहीन बाग के धरने में शामिल हुए पत्रकार रवीश कुमार.क्या है सच्चाई जानें..!

इन दिनों सोशल मीडिया में एक तस्वीर वायरल हो रही है..जो देश के वरिष्ठ पत्रकार रवीश की होने का दावा किया जा रहा है..आखिर क्या है इस वायरल पोस्ट की सच्चाई जानें..

वायरल पोस्ट:बुर्का पहन शाहीन बाग के धरने में शामिल हुए पत्रकार रवीश कुमार.क्या है सच्चाई जानें..!
वायरल फ़ोटो-साभार-फेसबुक।

डेस्क:सोशल मीडिया में हर रोज अनगिनत पोस्ट डाली जाती हैं।इनमें से कुछ पोस्ट पूरी तरह से फ़र्जी और झूठ होती हैं।इन दिनों ऐसी ही एक पोस्ट तस्वीर के साथ वायरल हो रही है।और यह दावा किया जा रहा है कि तस्वीर देश के जाने माने टीवी पत्रकार रवीश कुमार की है।

ये भी पढ़े-Ram Mandir:महंत नृत्य गोपाल दास को राम मंदिर ट्रस्ट का सीधे अध्यक्ष बनाए जाने की यह है वजह..पहले नहीं थे शामिल..!

यह तस्वीर दिल्ली के शाहीन बाग में सीएए के विरोध में चल रहे प्रदर्शन की बताई जा रही है।और दावा किया जा रहा है कि पत्रकार रवीश कुमार बुर्का पहन धरने में शामिल हुए हैं।इस तस्वीर के साथ ही कई तरह के कमेंट रवीश कुमार को लेकर किए जा रहे हैं। (ravish kumar)

Read More: Congress Black Paper Released: मोदी सरकार के ख़िलाफ़ कांग्रेस ने जारी किया ब्लैक पेपर ! लगाए ये बड़े आरोप, फिर प्रधानमंत्री ने दिया ऐसे जवाब

अब इस वायरल पोस्ट को लेकर रवीश कुमार ने खुद फेसबुक में पोस्ट लिखकर पूरी सच्चाई बताई हैं।उन्होंने लिखा कि यह तस्वीर शकीला बेगम की है।जो दिल्ली के शाहीन बाग में ही रहतीं हैं और शाहीन बाग में चल रहे धरने में नियमित रूप से शामिल होती हैं।

Read More: Amrit Bharat Station Scheme: अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत 550 से अधिक रेलवे स्टेशनों का पुनर्विकास ! प्रधानमंत्री ने किया शिलान्यास

ये भी पढ़े-Mahashivratri 2020:इस बार 117 साल बाद बन रहा है यह दुर्लभ संयोग..जानें क्या है व्रत और पूजन का शुभ मुहूर्त..!

Read More: Interim Budget 2024: संसद में कल वित्त मंत्री पेश करेंगी अंतरिम बजट ! क्या है भारत के बजट का इतिहास? आम बजट और अंतरिम बजट के अंतर को जानिए

रवीश कुमार ने लिखा कि आई टी सेल के मुख्य कार्यों में एक काम रवीश कुमार को लेकर अफ़वाहें फैलाना भी है। आई टी सेल एक मानसिकता भी है। मुझे लेकर हर समय कोई न कोई सामग्री आती रहती है। आयी टी सेल मुझे फँसाने के लिए कितनी मेहनत करता है। वो मुझसे मिलते जुलते चेहरों की तलाश में भी रहता है जिसे रवीश कुमार बता कर बदनाम किया जा सके। 

पिछले कुछ दिनों से एक महिला को लेकर अफ़वाह उड़ाई गई कि रवीश कुमार है। जो चेहरे पर पट्टी बांध कर शाहीन बाग में बैठा है। ये सारे काम कभी स्माइली लगा कर तो कभी प्रश्नवाचक चिन्ह लगाकर किए जाते हैं। जब कई माध्यमों से पहली तस्वीर आई तो पता करने का मन किया। क्योंकि इसे कई हैंडल से शेयर किया गया है। मानसिक रूप से गुलाम हो चुके कई लोग मेरी पोस्ट के कमेंट में इस तस्वीर को पोस्ट करने लगे हैं। 

ये भी पढ़े-UP:फतेहपुर में तीन शातिर चोर महिलाओं को पुलिस ने किया गिरफ्तार.. इस तरह देतीं थीं घटना को अंजाम..!

मुन्ने भारती को काफ़ी मेहनत करनी पड़ गई। आख़िर पता लगा कि जिस तस्वीर को रवीश कुमार बताया जा रहा है वो शकीला बेगम की है। जो वहीं के एक मोहल्ले में रहती हैं। 

आयी टी सेल को भी पता है कि झूठ पकड़ा जाएगा लेकिन ये सारा कुछ इसलिए किया जाता है ताकि आपके भीतर जो धारणा ठूँसी गई है उसकी हर समय पुष्टि होती रहे कि वो अपनी जगह पर है या नहीं। जो लोग आई टी सेल की बनाई धारणा की चपेट में आए हैं वो इसे देख कर वही बातें सोचते रहें। कभी बाहर न निकल सकें। आई टी सेल लोगों को सियासी तौर पर मानसिक ग़ुलाम बनाए रखने का मनोवैज्ञानिक प्रोजेक्ट है। खेल नहीं है।

Tags:

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Latest News

Fatehpur Sadar Asptal: मैं मना करती रही और वो हथौड़ी चलाता रहा ! डॉक्टर की करतूत बताते हुए भावुक हो गई सिस्टर इनचार्ज Fatehpur Sadar Asptal: मैं मना करती रही और वो हथौड़ी चलाता रहा ! डॉक्टर की करतूत बताते हुए भावुक हो गई सिस्टर इनचार्ज
उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के फतेहपुर (Fatehpur) मेडिकल कॉलेज से संबद्ध सदर अस्पताल के डॉ0 शरद (Dr Sharad) की ऐसी...
Cardiac Arrest: कार्डियक अरेस्ट आने पर नहीं मिलता है जान बचाने का मौका ! इसलिए हो जाइए सचेत
Lucknow News: दूल्हे को नहीं भा रहे थे पण्डित के मंत्र ! फिर बौखलाए दूल्हे ने पुरोहित को जमकर पीटा, फिर हुआ ये
Kanpur Crime In Hindi: एक लाख का इनामिया हिस्ट्रीशीटर अजय ठाकुर को क्राइम ब्रांच ने राजधानी दिल्ली से किया गिरफ्तार
Akhilesh Yadav News: बोले अखिलेश ! चुनाव आते ही नोटिस आने लगते हैं, सीबीआई के सामने नहीं होंगे पेश, जानिये किस मामले में भेजा गया समन?
Kanpur Crime In Hindi: लापता किशोरियों के बेर के पेड़ पर झूलते मिले शव ! परिजनों ने लगाए भट्टे ठेकेदार पर गम्भीर आरोप
Who Is Kanpati Maar Shankariya: कनपटी मार किलर जिसने 25 साल की उम्र में किए 70 कत्ल ! कोर्ट ने पांच महीने में दी फांसी, जानिए उसने मरने से पहले क्या कहा

Follow Us