cVIGIL Full Form In Hindi: सीविजिल का फुल फॉर्म क्या है ? लोकसभा चुनाव में कैसे करें इसका उपयोग

cVIGIL App Full Form In Hindi

लोकसभा चुनाव (Loksabha Elections) को स्वतंत्र व निष्पक्ष कराए जाने को लेकर केंद्रीय निर्वाचन आयोग ने एक ऐसा c-VIGIL एप लांच (Launch) किया है. जिससे चुनाव के दरमियां यदि कोई भी आचार संहिता का उल्लंघन करता है तो इस एप के जरिये आम नागरिक घर बैठे आसानी से शिकायत कर सकता है. इस शिकायत का समाधान सम्बन्धित रिटर्निंग ऑफिसर की निगरानी में 100 मिनट के अंदर कर उसे अपडेट कर दिया जाएगा.

cVIGIL Full Form In Hindi: सीविजिल का फुल फॉर्म क्या है ? लोकसभा चुनाव में कैसे करें इसका उपयोग
सिविजिल एप लांच, Image credit original source

क्या है सी-विजिल का फुल फार्म?

सबसे खास बात यह कि आख़िर सिविजिल एप (C-vigil App) का फुल फॉर्म (Full Form) क्या होता है. आपको बताना चाहेंगे इस c-VIGIL का फुल फॉर्म, Citizen Vigilance App है. मतलब हिंदी में इसे नागरिक सतर्कता एप कहते हैं. अर्थात नागरिक सतर्कता एक जागरूक नागरिक जो लोकतंत्र की प्रक्रिया का प्रहरी हो, सीधी व आसान भाषा में अगर कहे तो यह एक ऐसा एप है जिसे आम नागरिक प्रयोग करते हुए चुनाव में फैली अव्यवस्थाओं की शिकायत ऊपर तक पहुंचा सकते हैं. जिससे लोकतंत्र की रक्षा की जा सकती है.

केंद्रीय निर्वाचन आयोग ने एप किया लांच

लोकसभा चुनाव का पहला चरण 19 अप्रैल से शुरू होगा. 4 जून को नतीजे आएंगे. उससे पहले देश में आदर्श आचार संहिता लगी हुई है. केंद्रीय निर्वाचन आयोग ने सिविजिल एप लांच किया है. चुनाव को लेकर कड़े नियम इस एप के जरिये बना रहा है, इसके साथ ही आचार संहिता का उल्लंघन करने वाले लोगों पर कड़ी कार्रवाई भी इस ऐप के जरिए की जाएगी. दरअसल केंद्रीय निर्वाचन आयोग ने सीविजिल (c-Vigil) नाम का एक ऐप लॉन्च किया है जिसके जरिए आम आदमी भी इस ऐप को अपने मोबाइल पर डाउनलोड करते हुए चुनाव को लेकर किसी भी तरह की शिकायत आसानी से इस ऐप के जरिए कर सकते हैं. जिस पर 100 मिनट के अंदर समस्या का समाधान करते हुए अपडेट किया जाएगा.

c_vigil_app_launch
सिविजिल एप, image credit original source
यह एप किस तरह करेगा काम

खास तौर पर लोकसभा चुनाव में स्वतंत्र और निष्पक्ष रूप से मतदान सुनिश्चित कराए जाने के लिए केंद्रीय निर्वाचन आयोग ने सीविजिल एप (c-vigil app) कर दिया है. इस एप के जरिए चुनाव के दरमियां लगी हुई आदर्श आचार संहिता का यदि कोई उल्लंघन करते हुए पाया जाता है तो आम नागरिक अपने मोबाइल पर उस व्यक्ति या आचार संहिता का उल्लंघन करने वाली सामग्रियों वाली शिकायत को इस एप पर डाल सकते हैं.

यह एप सभी स्मार्टफोन एंड्रायड व ios पर कार्य करेगा. आचार संहिता के दौरान किसी भी तरह के चुनाव में हुई अव्यवस्था या कोई भी ऐसा कार्य जो आचार संहिता के उल्लंघन में आता है इसकी शिकायत को इस एप के जरिए भेज सकते हैं. इसके बाद भेजने वाले का नाम भी गुप्त रखा जाएगा और उसके द्वारा की गई इस शिकायत का समाधान भी 100 मिनट के अंदर कर दिया जाएगा.

Read More: Anand Mahindra Help: पिता के निधन के बाद 10 साल का बच्चा लगाने लगा रेहड़ी ! कंधे पर बड़ी जिम्मेदारी देख आनंद महिंद्रा आये सामने

ऐसे करें एप को डाऊनलोड

अब बात आती है कि सीविजिल एप मोबाइल पर किस तरह से डाउनलोड कर सकते हैं तो इसके लिए आप प्ले स्टोर पर जाकर सी विजिल एप डाउनलोड किया जा सकता है यह हर स्मार्टफोन पर आसानी से डाउनलोड किया जा सकता है. जिसमें आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायत लाइव फोटो और लाइव वीडियो अपलोड कर वह शिकायत दर्ज कर सकते हैं. याद रहे इसमें आप अपनी व्यक्तिगत शिकायत नहीं दर्ज कर सकते हैं. यह एप केवल आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायतों के लिए बनाया गया है.

Read More: Recruitment In Uidai : यूआईडीएआई ने निकाली इन पदों पर भर्तियां ! आवेदन की प्रक्रिया होगी ऑफ़लाइन

शिकायतकर्ता की बनी रहेगी गोपनीयता

इसके साथ ही यदि कोई नागरिक इस एप पर आचार संहिता से उल्लंघन करने वालों की कोई कंप्लेंट दर्ज करता है तो जरूरी नहीं है कि वह इस एप पर अपना मोबाइल और नाम दें आप अपनी पहचान छुपा कर भी शिकायत कर सकते हैं. यदि अगर शिकायतकर्ता नाम और मोबाइल नंबर देता है तो वह इस ऐप के माध्यम से की गई शिकायत की निगरानी भी कर सकता है. यही नहीं आपके द्वारा की गई शिकायत का समाधान 100 मिनट के बाद हो जाएगा.

Read More: Kangana Ranaut Slapped: अभिनेत्री से सांसद बनी कंगना रनौत को CISF जवान ने मारा थप्पड़ ! वजह कुछ ये बताई जा रही है

शिकायत करने के बाद 100 मिनट में समाधान

जब शिकायत इस एप पर दर्ज हो जाती है तो आपको थोड़ा इंतजार यानी करीब 100 मिनट का इंतजार करना होगा जिसके बाद सम्बन्धित शिकायत कंट्रोल रूम जाती है. फिर रिटर्निंग ऑफिसर के द्वारा शिकायत स्थल का निरीक्षण कर उसे ऑनलाइन एप पर अपडेट कर दिया जाता है. चुनाव से संबंधित सिविजिल एप में धनराशि वितरण, गिफ्ट-कूपन वितरण, शराब वितरण से संबंधित शिकायतों के अतिरिक्त बिना अनुमति के पोस्टर लगाना, बैनर लगवाना, बिना अनुमति बैठक करना, बिना अनुमति के प्रचार में गाड़ी लगाना या धार्मिक और उन्मादी भाषण बाजी से संबंधित शिकायत है यहां दर्ज कराई जा सकती है.

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Latest News

फतेहपुर थाना न्यूज़: मां-बेटे ने मिलकर पिता को लगाया 50 लाख का चूना ! तिकड़म जान कर रह जाएंगे भौचक्के फतेहपुर थाना न्यूज़: मां-बेटे ने मिलकर पिता को लगाया 50 लाख का चूना ! तिकड़म जान कर रह जाएंगे भौचक्के
उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के फतेहपुर (Fatehpur) में एक मां बेटे ने मिलकर अपने ही पिता को 50 लाख का...
Fatehpur News: फतेहपुर में ससुराल गए युवक की संदिग्ध परिस्थितियों में मौ'त ! परिजनों ने लगाया ह'त्या का आरोप
UPSC EPFO APFC Result 2024: फतेहपुर की विप्लवी बनी असिस्टेंट कमिश्नर ! गांव में ख़ुशी की लहर, जानिए लोगों ने क्या कहा
Fatehpur UPPCL News: फतेहपुर के बिजली विभाग में 14 सालों से जमा बुद्धराज बाबू हटाया गया ! इस एक्सईन का था राइट हैंड
Fatehpur Snake News In Hindi: नौ बार तुम्हें काटूंगा 8 बार तू बच जाएगा ! कोई नहीं बचा पाएगा तुझे, जानिए फतेहपुर की रहस्यमय घटना
Fatehpur Lightning News: फतेहपुर में आकाशीय बिजली गिरने से चार महिलाओं की मौत ! ऐसे हुई थी घटना
Fatehpur Bindki News: फतेहपुर में तीन छात्रों की तालाब में डूबने से मौ'त ! वजह कुछ ये बताई जा रही है

Follow Us