Sneeze News In Hindi: दिनभर में 3 से 4 आती है छींक ! क्यों आती है छींक? जानिए छींक से जुड़े कई फैक्ट्स

छींक आने का कारण

दुनिया में हर किसी इंसान को दिन में एक या एक से अधिक बार छींक (Sneeze) आती है, लेकिन आप सभी के मन में यह सवाल जरूर उठता होगा कि आखिरकार छींक क्यों आती है आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि आखिरकार छींक क्यों आती है? और छींक आने पर आंख क्यों बंद हो जाती है..

Sneeze News In Hindi: दिनभर में 3 से 4 आती है छींक ! क्यों आती है छींक? जानिए छींक से जुड़े कई फैक्ट्स
छींक क्यों आती है, Image Credit Original Source

छींक आना शरीर के लिए कितना महत्वपूर्ण

दुनिया में हर किसी को छींक (Sneeze) जरूर आती है अमूमन किसी भी व्यक्ति को डस्ट वाली जगह जैसे धूल-मिट्टी आदि के संपर्क में आता है तो उसे छींक आने लगती है. या फिर सर्दी-जुखाम भी कारण हो सकता है, लेकिन आपने कभी सोचा है कि आखिरकार छींक क्यों आती है? इसे लेकर दुनिया भर में लोग तमाम तरह की बातें भी करते हैं जिनमें आम लोगों की राय अलग और वैज्ञानिकों के मत अलग-अलग है. छींक आने के दौरान आंख क्यों बंद (Eyes Closed) हो जाती है या फिर छींक आने के दौरान मुंह से आवाज क्यों आती है आज हम आपके इन्हीं सवालों का जवाब देने की कोशिश करेंगे.

छींक आने का मुख्य कारण

सबसे पहले जानने की कोशिश करेंगे कि आखिरकार छींक आने का प्रमुख कारण क्या है, आपको बताते चलें कि छींक शरीर की एक रक्षात्मक और प्रतिरोध प्रतिक्रिया है जिसके जरिए मनुष्य का शरीर नाक और फेफड़ों की हवा को मुंह और नाक के जरिए बाहर ढकेलता है. यही नहीं यदि नाक में कोई बैक्टीरिया या वायरस जैसी अनचाही चीज नाक में घुस जाती है तो छींक के जरिए वह बाहर निकल जाती है.

sneeze_there_are_many_facts_related_news
छींक आने के फैक्ट, Image Credit Original Source
छींकने के दौरान क्यों बंद हो जाती है आंखें?

यह स्वाभाविक है कि जब कभी छींक आती है तो मस्तिष्क इसका संकेत हमें पहले ही दे देता है. छींक आने के कुछ सेकंड पहले ही छींक आने के चलते हमारी आंख अपने आप बंद हो जाती है अगर ऐसा नहीं होगा तो छींक आने के दौरान यदि आंख खुली रहेगी तो पुतलियों का बाहर निकलने का खतरा बन सकता है. वैज्ञानिकों की माने तो छींकने के दौरान आंखें इसलिए बंद हो जाती है क्योंकि हमारे मुंह और नाक से निकलने वाला बैक्टीरिया कहीं हमारी आंखों में ना चला जाए यदि यह बैक्टीरिया आंखों में चला जाएगा तो वह काफी नुकसानदेह साबित हो सकता है.

क्या हम छींक को आने से रोक सकते हैं

जैसा कि हम पहले ही बता चुके हैं कि छींक आना हमारे शरीर के लिए बेहद आवश्यक है छींक आने से हमारे शरीर में जमा बैक्टीरिया नाक और मुंह के रास्ते बाहर निकल जाता है. हमारे नाक के छिद्रों से तेज रफ्तार से हवा बाहर आती है अगर आप छींक आने से रोकते हैं तो इसका असर हाउस शरीर के दूसरे अंगों पर पड़ता है जिससे कि हमारे शरीर के उन अंगों को काफी गहरा नुकसान पहुंच सकता है तो ऐसे में हमें छींक आने के दौरान उसे रोकना नहीं चाहिए क्योंकि यह शरीर की एक नेचुरल प्रक्रिया है.

Read More: Healthy Hair Tips: गर्मियों में बालों की करें ऐसे देखभाल ! स्वस्थ बाल बनाए रखने के लिए लगाएं बालों में तेल

वैज्ञानिकों की माने तो इंसान हो या जानवर सभी को छींक आना एक नॉर्मल दिनचर्या के अंतर्गत आता है यदि बात की जाए इंसानों की तो दुनिया भर में लगभग 95 फ़ीसदी लोगों को दिन में चार बार छींक आती है.

Read More: Dehydration or Diarrhea: घरेलू उपायों से पाएं समस्या का समाधान, जाने कब करें डॉक्टर से संपर्क

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Latest News

Fatehpur UPPCL News: फतेहपुर के बिजली विभाग में 14 सालों से जमा बुद्धराज बाबू हटाया गया ! इस एक्सईन का था राइट हैंड Fatehpur UPPCL News: फतेहपुर के बिजली विभाग में 14 सालों से जमा बुद्धराज बाबू हटाया गया ! इस एक्सईन का था राइट हैंड
पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम (PuVV NL) ने बीते 28 जून को कई जिलों में कार्यरत 17 कर्मचारियों का ट्रांसफर कर...
Fatehpur Snake News In Hindi: नौ बार तुम्हें काटूंगा 8 बार तू बच जाएगा ! कोई नहीं बचा पाएगा तुझे, जानिए फतेहपुर की रहस्यमय घटना
Fatehpur Lightning News: फतेहपुर में आकाशीय बिजली गिरने से चार महिलाओं की मौत ! ऐसे हुई थी घटना
Fatehpur Bindki News: फतेहपुर में तीन छात्रों की तालाब में डूबने से मौ'त ! वजह कुछ ये बताई जा रही है
Unnao Bus Accident News: उन्नाव में भीषण सड़क हादसा 18 लोगों की मौत ! बड़ी संख्या में लोग घायल, देखें पूरी सूची
Bindki Fatehpur News: फतेहपुर में खुलेआम असलहों से फायरिंग ! पुलिस का जवाब सुन हंस पड़ेंगे आप
Fatehpur News: कभी दस्यु शंकर केवट का दाहिना हांथ था ये डकैत ! आज जिंदा सांपों को कच्चा खाने से चर्चा में है

Follow Us