×
विज्ञापन

Vikas Dubey News: खुशी दुबे की रिहाई के लिए आगे आए बीजेपी एमएलसी सीएम को लिखा पत्र

विज्ञापन

बिकरु कांड में गिरफ्तार हुई ख़ुशी दुबे की रिहाई के लिए बीजेपी एमएलसी उमेश द्विवेदी ने सीएम योगी समेत पार्टी के बड़े नेताओं को पत्र लिखा है। vikas dubey case amar dubey wife khushi dubey bjp mlc umesh dwivedi wrote a letter

Vikas dubey News: बिकरु कांड में गिरफ्तार हुई खुशी दुबे की रिहाई के माँग लंबे समय चल रही है।अब बीजेपी नेता भी इस मामले में आगे आए हैं।भाजपा एमएलसी उमेश द्विवेदी ने सीएम योगी को पत्र लिखकर खुशी के रिहाई की माँग की है।

बीजेपी एमएलसी ने पत्र में लिखा है कि खुशी दुबे पर कोई आरोप नहीं है फिर भी उसे जेल भेज दिया गया। फिलहाल, वो गंभीर हालत में लखनऊ के मेदांता अस्पताल में भर्ती है।बीजेपी एमएलसी का कहना है कि उसे बेहतर उपचार की जरूरत है।उन्होंने पत्र में ये भी लिखा है कि अगर खुशी दुबे पर अब तक आरोप तय नहीं हुआ है तो उसे रिहा किया जाए।बीजेपी एमएलसी ने पत्र की एक प्रतिलिपि पार्टी के प्रदेश संगठन महामंत्री सुनील बंसल और प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह को भी भेजी है।

विज्ञापन
विज्ञापन

कौन है खुशी दुबे..

ख़ुशी दुबे कानपुर के चर्चित बिकरु कांड में गिरफ्तार हुईं थीं।वह बदमाश विकास दुबे के खास गुर्गे अमर दुबे की पत्नी हैं।ख़ुशी को विकास दुबे और अमर दुबे के एनकाउंटर के बाद पुलिस ने गिरफ्तार किया था।गिरफ्तारी के वक्त खुशी नाबालिग थी इसलिए उसे बाराबंकी संप्रेक्षण गृह में रखा गया था।बता दें कि खुशी और अमर दुबे की शादी बिकरू कांड के 5 दिन पहले यानी 29 जून 2020 को हुई थी।ये शादी विकास दुबे ने अपने घर पर ही कराई थी।

फ़िलहाल अस्पताल में भर्ती है ख़ुशी दुबे..

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार फ़िलहाल खुशी दुबे गम्भीर हालत में लखनऊ के मेदांता अस्पताल में भर्ती हैं। 14 सितंबर 2020 को खुशी को बाराबंकी संप्रेक्षण गृह भेज दिया गया था।वो करीब 9 महीने से वहां रह रही है।इसी बीच शनिवार की शाम अचानक खुशी की तबीयत बिगड़ गई जिसके बाद उसे बाराबंकी के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया।खुशी के सीने में तेज दर्द और मुंह से खून निकल रहा था।उसकी हालत काफी नाजुक थी जिसके चलते उसे लखनऊ के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

ये भी पढ़ें- Uttar Pradesh News: मायावती के दो बड़े क़रीबी नेताओं की बसपा से छुट्टी किए गए निष्कासित.!

ये भी पढ़ें- Vikas dubey:बिकरु कांड का ये सच जो अब आया है सामने


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।