×
विज्ञापन

फर्रूखाबाद:मुठभेड़ के बाद गिरफ्त में आया लूट को अंजाम देने वाला शातिर अपराधी..!

विज्ञापन

शुक्रवार को फर्रुखाबाद में पुलिस और शातिर अपराधियों के बीच मुठभेड़ हो गई जिसमें एक शातिर घायल होने के बाद पुलिस की गिरफ्त में आया..जबकि दूसरा फरार हो गया..पढ़े पूरी खबर युगान्तर प्रवाह पर।

फर्रूखाबाद:शुक्रवार को ज़िले की स्वाट टीम व मोहम्मदाबाद कोतवाली पुलिस की संयुक्त कार्यवाही से पुलिस को बड़ी सफ़लता हाँथ लगी।

बडी वारदात को अंजाम देने की रणनीति बना रहे लूट के आरोपियों को घेराबंदी कर टीम ने दबोच लिया।इस दौरान आरोपियों ने फायरिंग कर दी।जिसके जवाव में स्वाट टीम ने भी फायर किये। जिससे आरोपी के पैर में गोली लग गई।और वह घायल हो गया।जबकि वहीं दूसरा साथी मौके से फरार हो गया।पुलिस ने घायल को कस्बा के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया।जहां से उसे लोहिया अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया।

ये भी पढ़े-UP:कानपुर शेल्टर होम मामले में योगी का एक्शन..अधिकारी सस्पेंड..!

मामले की जानकारी होने पर पुलिस कप्तान मौके पर पहुँचे।जानकारी के अनुसार जनपद मुरादाबाद के आदर्श कालोनी के रहने वाले शातिर अपराधी सुनील भत्तू उर्फ कल्लू अपने साथी मनोज के साथ कोतवाली मोहम्मदाबाद क्षेत्र के ग्राम धीरपुर चैराहे के पास एफसीआई गोदाम के  निकट जंगल में किसी वारदात को अंजाम देने की तैयारी कर रहे थे।मुखबिर की सूचना पर स्वाट टीम ने आरोपियों की घेराबंदी कर दी।स्वाट टीम के साथ मोहम्मदाबाद कोतवाली पुलिस भी थी।पुलिस को देख सुनील व उसके साथी ने फायरिंग कर दी। जिसके जवाब में पुलिस टीम ने भी फायरिंग कर दी।जिससे सुनील के जांघ में गोली लग गई।और वह घायल हो गया।पुलिस ने सुनील को तो दबोच लिया।लेकिन उसका साथी मनोज भागने में सफल हो गया।

मौक़े पर पुलिस अधीक्षक डा0 अनिल मिश्र ने पुलिस व स्वाट टीम की प्रशंसा करते हुए पीठ थपथपाई है।पुलिस ने घायल हुए बदमाश सुनील को मोहम्मदाबाद के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया। जहां से उसे लोहिया अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया।लोहिया अस्पताल की इमरजेंसी सील होने की वजह से वहां तैनात डा0 इमरान ने उसे सिविल अस्पताल लिंजीगंज के लिए रेफर कर दिया।

एक हफ्ते पहले हुई थी लूट..

पुलिस ने जानकारी दी कि गिरफ्तार किए गए सुनील ने ठंडी सड़क स्थित पेट्रोल पंप से शहर के मोहल्ला छावनी के रहने वाले बीज व्यवसाई सुखराम से 2 लाख रूपयों की लूट की थी।पुलिस को उसके पास से 65 हजार की नगदी और एक तमंचा भी बरामद हुआ है।


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।