×
विज्ञापन

UP:फर्रुखाबाद के सरकारी अस्पताल में घुसकर गुंडों ने की तोड़फोड़..स्वास्थ्यकर्मी को पीटा..!

विज्ञापन

फर्रुखाबाद में गुंडों की दबंगई सामने आई है..यहाँ के एक सरकारी अस्पताल में घुसकर कुछ लोगों ने तोड़फोड़ करते हुए स्वास्थ्य कर्मी को पीट दिया है..पढ़े पूरी खबर युगान्तर प्रवाह पर।

फर्रुखाबाद:कोरोना कॉल में ख़ुद की जान जोख़िम में डाल सबकी सेवा लगे हुए स्वास्थ्य कर्मी आए दिन दबंगो की दबंगई का शिकार हो रहे हैं।ताज़ा मामला यूपी के फर्रुखाबाद ज़िले का है।

जानकारी के अनुसार क़ायमगंज स्थित सरकारी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र(सीएचसी) में तैनात स्वास्थ्य कर्मी विनय मिश्र को मंगलवार दोपहर अस्पताल में घुसकर एक युवक ने पीट दिया।पहले तो उसने अस्पताल में तोड़फोड़ की और कई ज़रूरी कागजात को फाड़ दिया फ़िर विनय मिश्रा के साथ हाथापाई की।इस मामले की शिकायत विनय मिश्रा ने कोतवाली में की है।

ये भी पढ़ें-UP:फर्रुखाबाद में टिड्डी दल का हमला..मचा रहा हड़कम्प..ऐसे किया किसानों ने बचाव..!

पीड़ित विनय मिश्रा ने बताया कि वह मंगलवार दोपहर क़रीब 2:30 बजे जिलाधिकारी कार्यालय में आयोजित एक मीटिंग में शामिल होकर वापस अस्पताल लौट रहा था तभी रास्ते में कस्बा चौकी क़ायमगंज के पास पुलिस का बैरियर लगा हुआ था।बैरियर पर पुलिस ने रोका जिस पर मैंने अपना परिचय बताते हुए कहा कि स्वास्थ्य कर्मी हूँ डीएम कार्यालय से मीटिंग में शामिल होकर अस्पताल जा रहा हूँ।इस पर पुलिस वाले मान गए लेकिन उसी बैरियर के पास खड़ा चंद्रेश पुत्र रामभरोसे निवासी मोहल्ला छिपट्टी कायमगंज मुझे गालियां बकने लगा।मैंने जब गालियां देने का कारण पूछा तो वह और भी उखड़ गया और देख लेने की धमकी दी।

विनय ने बताया कि इसके बाद मैं डरा हुआ सीधे अस्पताल आ गया।लेकिन थोड़ी देर बाद चंद्रेश अस्पताल में डंडा लेकर आ गया और तोड़फोड़ करने लगा और मेरे साथ हांथापाई भी की।

ये भी पढ़ें-UP:कांग्रेसियों पर लाठीचार्ज..प्रदेश अध्यक्ष फिर हुए गिरफ्तार..!

इमरजेंसी में तैनात डॉक्टर ने बताया कि वह मरीज़ो को देख रहे थे तभी अचानक से अस्पताल में शोर सुनाई दिया।जिसके बाद जब मैं मौक़े पर पहुँचा तो वहाँ कुछ लोग घुसे हुए थे और तोड़फोड़ कर रहे थे।उन्होंने हमारे एक साथी को पीटा भी।डॉक्टर ने कहा कि पुलिस को जानकारी दे दी गई है।मौक़े पर पुलिस आई है।पुलिस ने आवश्यक कार्यवाही कर दोषियों के विरुद्ध क़ानूनी कार्यवाही करने की बात कही है।


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।