रवीश कुमार ने ट्रोलर्स को कही मां, बहन और महबूबा की बात..जानें क्या है मामला..!

पत्रकार रवीश कुमार ने रविवार को अपने ट्रोलर्स को जमकर लताड़ लगाई..पढ़े युगान्तर प्रवाह की एक रिपोर्ट।

रवीश कुमार ने ट्रोलर्स को कही मां, बहन और महबूबा की बात..जानें क्या है मामला..!
रवीश कुमार की एडिट फ़ोटो-साभार:फेसबुक।

डेस्क:देश के जाने माने पत्रकार रवीश कुमार को ट्रोल करने वालों की कोई कमी नहीं है।अक्सर लोग उनकी तस्वीरों को एडिट कर उनका मज़ाक बनाने की कोशिश करते हैं।

ये भी पढ़े-वायरल पोस्ट:बुर्का पहन शाहीन बाग के धरने में शामिल हुए पत्रकार रवीश कुमार.?क्या है सच्चाई जानें..!

रवीश कुमार का मोदी विरोधी पत्रकार कहा जाता है।अक्सर वह अपने शो में मोदी सरकार की आलोचना करते रहते हैं।हालांकि इस बारे में रवीश कुमार का कहना है कि एक निष्पक्ष पत्रकार को हमेसा सत्ता के विरोध में होना चाहिए, तभी एक स्वस्थ लोकतंत्र की स्थापना हो सकती है। (ravish kumar)

रविवार 8 मार्च को महिला दिवस के अवसर पर रवीश कुमार ने सोशल मीडिया में एक पोस्ट लिखी जिसमें उन्होंने आईटी सेल वालों को जमकर लताड़ लगाई।दरअसल उस पोस्ट के साथ उन्होंने अपनी दो एडिट की हुई तस्वीरें भी शेयर की।यह तस्वीरें अक्सर रवीश को ट्रोल करने वाले लोग सोशल मीडिया पर वायरल करते हैं।रवीश ने रविवार को पोस्ट लिखकर उन्ही ट्रोलर्स पर निशाना साधा।

Read More: ECI Halts Delivery Viksit Bharat: चुनाव आयोग सरकार पर हुआ सख्त ! कहा व्हाट्सएप पर 'विकसित भारत' के मैसेज शेयर करना कर दें बंद

रवीश ने लिखा है कि-"आई टी सेल स्त्री से इतनी नफ़रत करता है कि मेरे चेहरे में भी उसे कोई स्त्री नज़र आती है। उसकी कल्पना में स्त्री होना पाप है। मुझे लेकर एक पूरी इंडस्ट्री चल रही है। अगर आई टी सेल को पुरुष की हिंसा, दंभ और क्रूरता में राष्ट्रवादी होना नज़र आता है तो यह औरतों को भी देखना है कि राष्ट्रवाद के इस अंधड़ में उनके लिए कितनी जगह है। औरतें समझ रही हैं कि ट्रोल बिरादरी दरअसल औरत के वजूद के ही ख़िलाफ़ है।

Read More: Madarsa Kya Hota Hai: मदरसा क्या है? इनमें क्या पढ़ाया जाता है, मदरसों पर हाईकोर्ट के फैसले पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

यह तस्वीर देखने वालों के दिमाग़ में मेरे बहाने एक औरत के प्रति घिन को भी उभारती है। मुझे इस तस्वीर से कोई समस्या नहीं है। यह तो सम्मान की बात है। चरित्र प्रमाण पत्र है कि मैं हिंसक नहीं हूँ। मैं स्त्री हूँ। मुझमें नफ़रत की संभावना नहीं है। आई टी सेल के पुरुष दिमाग़ की तरह न होना गौरव की बात है। आई टी सेल वाले लड़के इस तस्वीर में अपनी माँ, बहन, भाभी, पत्नी और महबूबा देख सकते हैं। ये उनकी ही माँओं का चेहरा है। बहनों का चेहरा है। जब वे अपनी माँओं को इस तरह के श्रृंगार में देखते होंगे तो ऐसा ही सोचते होंगे। उन्होंने मेरी नहीं अपनी सोच की तस्वीर बनाई है। आई टी सेल को पता है लड़कियाँ उनका खेल समझ गई हैं। मेरा मानना है कि सभी पुरुष में थोड़ी स्त्री होनी चाहिए। पूरी हो तो और भी अच्छा। हिंसा के ख़िलाफ़ होना भी स्त्री होना है। सभी महिलाओं को आज का शानदार दिन मुबारक। आप मुझे महिला दिवस पर मुबारक दे सकते हैं। मैं सुंदर लग रही हूँ।"

Read More: Salman Khan House Firing Case: सलमान खान के घर पर फायरिंग मामले से जुड़े एक आरोपित ने पुलिस कस्टडी में दी जान

Tags:

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Latest News

Fatehpur News Today: फतेहपुर के फूफा ने भतीजी से रचा ली शादी ! पत्नी ने ऐसा पीटा फूफा से निकल गया फू.. Fatehpur News Today: फतेहपुर के फूफा ने भतीजी से रचा ली शादी ! पत्नी ने ऐसा पीटा फूफा से निकल गया फू..
उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के फतेहपुर (Fatehpur) में रहने वाले एक फूफा ने अपनी बांदा (Banda) वाली भतीजी से कड़ा...
UP Fatehpur News: फतेहपुर में गंगा स्नान करने गए तीन युवक डूबे ! दो की हो गई मौ'त, परिजनों में मचा ह'ड़कंप
Fatehpur News: फतेहपुर की मोहिनी ने तोड़ दिया दम ! दो घंटे बिना इलाज के डॉक्टरों ने रोका, फिर किया रैफर
Fatehpur News Today: फतेहपुर के पिछड़े गांव का बेटा सेना में बना लेफ्टिनेंट ! किसान पिता के छलके आंसू
Pradeep Mishra Radha Rani Controversy: राधा रानी टिप्पणी पर फंसे कथावाचक प्रदीप मिश्रा ! Premanand Maharaj ने दिया करारा जवाब
NEET 2024 NTA Supreme Court Judgment In Hindi: नीट परीक्षा 2024 के लिए सुप्रीम कोर्ट ने दिया ये निर्णय ! अब बदल जाएगी मेरिट लिस्ट
Fatehpur News: फतेहपुर में नलकूप पर सो रहे किसान की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत ! पास में पड़ीं थीं बोतले, शरीर नीला था

Follow Us